इशारों पर नचाया ओली को, नेपाल में फिर भी नहीं गली दाल, चीन ने विवादित महिला राजदूत की छुट्टी की

 
hou yanqi china nepal

China Nepal Ambassador Hou Yanqi: नेपाल में आम चुनाव रिजल्‍ट के बीच चीन ने अपनी वुल्‍फ वॉरियर राजदूत हाओ यांकी को वापस बुला लिया है और उनकी जगह पर चेंग सोंग को नया राजदूत बनाया है। हाओ यांकी ने अपने कार्यकाल के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के साथ काफी नजदीकी बढ़ाकर भारत के खिलाफ कई साजिशें की थीं।

काठमांडू। चीन ने नेपाल में अपनी विवादित महिला राजदूत हाओ यांकी की छुट्टी कर दी है। हाओ यांकी चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग की एक ऐसी वुल्‍फ वॉरियर थीं जिन्‍होंने अपने खूबसूरत चेहरे का इस्‍तेमाल नेपाल में ड्रैगन की जड़ों को जमाने में किया। यही नहीं चीनी राजदूत हाओ यांकी ने केपी शर्मा ओली के प्रधानमंत्री रहने के दौरान उन्‍हें एक तरीके से उन्‍हें अपने वश में कर लिया था और इशारों पर नचाना शुरू कर दिया था। सूत्रों के मुताबिक चीनी राजदूत के इशारे पर ही केपी ओली ने नेपाल का विवादित नक्‍शा जारी किया था। इस नक्‍शे में भारत के साथ लगे विवादित इलाकों कालापानी और लिपुलेख को शामिल कर लिया। प्रधानमंत्री रहने के दौरान ओली ने भारत के खिलाफ कई जहरीले बयान भी दिए थे।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

हाओ यांकी के तमाम प्रयासों के बाद भी चीन नेपाल के आम चुनाव में ओली और प्रचंड को साथ लाकर संयुक्‍त वामपंथी मोर्चा बनाने में विफल रहा। चीन ने अपनी राजदूत के फेल होने के बाद एक अपने बड़े नेता को भी पिछले दिनों नेपाल भेजा था लेकिन उन्‍हें भी निराशा हाथ लगी। चीन की कोशिश है कि साल 2017 के इतिहास को दोहराया जा सके और केपी ओली के नेतृत्‍व में फिर से चीन के प्रभाव वाली सरकार को बनाया जाए। साल 2017 में चीन ने प्रचंड और ओली के बीच समझौता कराया था और दोनों की मिलकर सरकार बनी थी। हालांकि बाद में यह गठबंधन टूट गया और प्रचंड ने नेपाली कांग्रेस से हाथ मिला लिया।

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

नेपाल में आम चुनाव के रिजल्‍ट के बीच नए राजदूत का ऐलान
केपी ओली की जगह पर शेर बहादुर देउबा नेपाल के प्रधानमंत्री बने और उन्‍होंने अपने दोनों ही पड़ोसियों के बीच संतुलन बनाने की कोशिश की। हाओ यांकी के इस मिशन में लगातार फेल होने के बाद चीन ने अब नेपाल में आम चुनाव के रिजल्‍ट के बीच नए राजदूत का ऐलान किया है। चीन चेंग सोंग को नेपाल में नया राजदूत बनाने जा रहा है। चेंग अभी चीन के विदेश मंत्रालय में डेप्‍युटी डायरेक्‍टर हैं। नेपाली मीडिया के मुताबिक हाओ यांकी अक्‍टूबर में ही चीन लौट गई हैं। हाओ यांकी ने दिसंबर 2018 में नेपाल में चीन के राजदूत का पद संभाला था। चीन ने अभी अपने नए राजदूत के बारे में नेपाल को आधिकारिक रूप से नहीं बताया है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

उधर, चीन में नेपाल के राजदूत ने नए चीनी राजदूत की नियुक्ति की पुष्टि की है। उन्‍होंने बताया कि चेन सोंग पहले से ही चीन के विदेश मंत्रालय में नेपाल के मामले को देख रहे थे और वह दोनों देशों के बीच रिश्‍तों से काफी परिचित हैं। चेन ने पिछले महीनों नेपाल के राजनयिकों से कई बार मुलाकात की है। हाओ यांकी को अब इंडोनेशिया भेजा रहा है। पाकिस्तान में करीब 3 साल तक काम कर चुकीं हाउ यांकी का प्रधानमंत्री रहने के दौरान केपी ओली के कार्यालय और निवास में अक्‍सर आना-जाना लगा रहता था। इसके साथ-साथ नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी का देश का राजनीतिक नक्‍शा बदलने का मसौदा तैयार करने वाला प्रतिनिधिमंडल चीनी राजदूत के संपर्क में था।


यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

चीन के सॉफ्ट पावर चेहरा थीं वुल्‍फ वॉरियर हाओ यांकी
केपी ओली के कार्यकाल के दौरान चीन के विदेश नीति के रणनीतिकारों के इशारे पर काम कर रही युवा चीनी राजदूत को नेपाल में सबसे शक्तिशाली विदेशी राजनयिकों में से एक माना जाता था। हाओ यांकी ने पाकिस्तान में काम किया था और वह ऊर्दू भी बोल लेती थीं। चीनी राजदूत नेपाल में कई सांस्‍कृतिक कार्यों में शामिल होती थीं ताकि चीन का एक सॉफ्ट पावर चेहरा बनाया जा सके। वह एक वुल्‍फ वॉरियर थीं जिसे शी जिनपिंग की सरकार इस समय दुनिया में चीन की बादशाहत को कायम करने के लिए बढ़ा रही है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web