भारत को कुछ नहीं कहा तो हमें भी ना रोके अमेरिका, बोला पाकिस्तान

 
ishak dar

पाकिस्तान के वित्त मंत्री इशाक डार ने रूस से तेल खरीदारी को लेकर बड़ा बयान दिया है। इशाक डार ने कहा है कि अमेरिका की ओर से पाकिस्तान को रूसी तेल खरीदने से नहीं रोका जा सकता है, क्योंकि भारत भी उससे तेल खरीद रहा है।

नई दिल्ली। रूस से तेल खरीदारी को लेकर पाकिस्तान के वित्त मंत्री इशाक डार ने बड़ा बयान दिया है। इशाक डार ने कहा है कि अमेरिका पाकिस्तान को रूस से तेल खरीदने से नहीं रोक सकता है, क्योंकि भारत भी रूस से तेल खरीद रहा है। वित्त मंत्री इशाक डार ने कहा कि जिन शर्तों पर भारत रूस से तेल खरीद रहा है, उन्हीं शर्तों पर पाकिस्तान भी जल्द ही तेल खरीदना शुरू करने जा रहा है।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

दुबई में पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए इशाक डार ने यह बात कहीं। पाकिस्तानी वित्त मंत्री ने संबोधन में बताया कि वह पिछले महीने अमेरिका गए थे, जहां उनकी मुलाकात कई अहम लोगों से हुई थी। इस दौरान उन्होंने रूस से तेल खरीदने वाला मुद्दा भी उठाया था। 

यह खबर भी पढ़ें: World का सबसे Dangerous Border, बिना गोली चले हो गई 4000 लोगों की मौत, कुछ रहस्‍यमय तरीके से हो गए गायब

इशाक डार ने बताया कि अमेरिका में उन्होंने बातचीत के दौरान साफ कहा था कि पाकिस्तान को रूसी तेल खरीदने से नहीं रोका जा सकता है, क्योंकि हमारा पड़ोसी देश भारत भी रूस से तेल सप्लाई ले रहा है। 

इशाक डार ने आगे कहा कि, अमेरिकी अधिकारियों ने उनसे कहा था कि रूसी तेल का दाम फिक्स करने के लिए वह जी-7 प्लेटफार्म को तैयार करने जा रहे हैं। पाकिस्तान के वित्त मंत्री इशाक डार ने संबोधन के दौरान साफ कहा कि भारत जिन शर्तों के साथ रूसी तेल की खरीदारी कर रहा है, उन्हीं शर्तों पर जल्द ही पाकिस्तान भी तेल खरीदना शुरू करेगा।

यह खबर भी पढ़ें: बेटी से मां को दिलाई फांसी, 13 साल तक खुद को अनाथ मानती रही 19 साल की बेटी, जाने क्या था मामला

पाकिस्तान के सऊदी अरब, यूएई और चीन से मजबूत संबंध
वहीं दुबई यात्रा को लेकर पाकिस्तान के वित्त मंत्री इशाक डार ने कार्यकर्ताओं से कहा कि पाकिस्तान के सऊदी अरब, चीन और यूएई के साथ मजबूत रिश्ते हैं। उन्होंने यूएई के उच्च अधिकारियों के साथ भी एक जरूरी मीटिंग की है। उन्होंने कहा कि इन सभी मुलाकातों का नतीजा यह रहा कि सऊदी अरब पाकिस्तान के ग्वादर इलाके में तेल रिफाइनरी खोलने की तैयारी कर रहा है।

इशाक डार ने आगे कहा कि तेल रिफाइनरी के इस प्रोजेक्ट की शुरुआत को अक्टूबर साल 2015 में हो गई थी, लेकिन राजनीतिक संकंटों की वजह से यह बीच में ही रुक गया, जो अब एक बार फिर शुरू होने जा रहा है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

अमेरिका में इशाक डार ने कही थी यही बात
हालांकि, इशाक डार ने पहली बार ऐसा बयान नहीं दिया है। पिछले महीने जब इशाक डार अमेरिका दौरे पर थे, तो उन्होंने अमेरिकी विदेश मंत्रालय के अधिकारियों संग मुलाकात करते हुए रूस से तेल खरीदारी को लेकर बात की थी। इशाक डार ने कहा था कि अगले कुछ महीनों में शहबाज शरीफ सरकार रूस से तेल खरीदने को लेकर पाकिस्तान के पक्ष में अहम कदम उठाएगी। 

इशाक डार ने कहा था कि भारत में ऊर्जा की ज्यादा मांग है, जिस वजह से वह रूस से तेल समेत कई ऊर्जा स्त्रोतों की खरीदारी कर रहा है। इशाक डार ने कहा था कि भारत का ऐसा करना, किसी भी प्रतिबंध का उल्लंघन नहीं माना जा रहा है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

उस दौरान भी भारत का उदाहरण देते हुए पाकिस्तान के वित्त मंत्री ने कहा था कि यूक्रेन से जंग के बावजूद भारत रूस से तेल खरीद रहा है। ऐसे में पाकिस्तान को भी रूस से तेल खरीदने से नहीं रोका जा सकता है। 

मालूम हो कि तेल कीमतों पर रूस की मनमानी को रोकने के लिए जी-7 प्लेटफार्म बनाया गया है। जिससे रूस से तेल खरीदारी की कीमत को निर्धारित किया जा सके। 

हाल ही में अमेरिकी वित्त मंत्री जेनेट येलेन ने कहा था कि अमेरिका को इससे दिक्कत नहीं है कि भारत अपनी जरूरत के हिसाब से रूस से तेल खरीद रहा है, चाहे उसकी कीमत जी-7 के प्राइस कैप से कम हो या ज्यादा। 

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

यूक्रेन युद्ध के बावजूद रूस से तेल खरीद रहा भारत 
यूक्रेन और रूस में कई महीनों से युद्ध जारी है। अमेरिका समेत कई पश्चिमी देश ने रूस पर कई तरह के आर्थिक प्रतिबंध जारी कर चुके हैं। ऐसे में भारत पर भी पहले दबाव बनाया गया कि वह रूस से तेल नहीं खरीदे। हालांकि, भारत ने किसी भी तरह का दबाव नहीं माना और रूस से तेल खरीदारी जारी रखी। 

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस मामले में अपना पक्ष साफ करते हुए कहा था कि जो भी सौदा भारत के नागरिकों को फायदा पहुंचाएगा, वहां से भारत खरीद जारी रखेगा। 

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web