G20 Summit: रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन G20 में नहीं होंगे शामिल, जानिए क्यों...

रूसी एंबेसी के चीफ ऑफ प्रोटोकॉल यूलिया टॉम्स्काया ने कहा, हम कोशिश कर रहें है कि पुतिन भी वर्चुअली शामिल हो सकें। 
 
G20 Summit: रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन G20 में नहीं होंगे शामिल, जानिए क्यों...

मास्को। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन G20 में शामिल नहीं होगें। न्यूज एजेंसी AFP के मुताबिक, पुतिन इंडोनेशिया के बाली में 15-16 नवंबर को होने वाले G20 समिट में नहीं जाएंगे। उनकी जगह रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव वर्चुअली शामिल होंगे। हालांकि इंडोनेशिया में रूसी एंबेसी के चीफ ऑफ प्रोटोकॉल यूलिया टॉम्स्काया ने कहा, हम कोशिश कर रहें है कि पुतिन भी वर्चुअली शामिल हो सकें। 

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

पुतिन के बाली जाकर G20 में शामिल नहीं होने का फैसला ऐसे समय लिया गया है जब रूसी सेना यूक्रेन के साथ हो रही जंग में पिछड़ रही है। क्रेमलिन भी पश्चिमी देशों की निंदा से बचने के रास्ते ढूंढ रहा है। दरअसल, G20 में भारत, अमेरिका समेत कई पश्चिमी देशों के नेता शामिल होंगे। ये देश शुरुआत से ही जंग के विरोध में रहे हैं लेकिन 9 महीने बाद भी जंग जारी है। इसे लेकर रूस की निंदा होती है।

यह खबर भी पढ़ें: लंदन से करोड़ों की ‘बेंटले मल्सैन’ कार चुराकर पाकिस्तान ले गए चोर! जाने क्या है पूरा मामला?

इसमें दुनिया के डेवलप्ड और डेवलपिंग इकोनॉमी वाले देश हैं। 19 देशों में अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, साउथ कोरिया, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, ब्रिटेन, अमेरिका और यूरोपियन यूनियन (ईयू) शामिल हैं। ये सभी सदस्य देश मिल कर दुनिया की GDP का 80% से अधिक हिस्सा बनाते हैं। G20 को दुनिया के सबसे शक्तिशाली देशों के समूह G7 के विस्तार के रूप में देखा जाता है। G7 में फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, ब्रिटेन, अमेरिका और कनाडा हैं।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web