China-Taiwan dispute : चीन से तनाव के बीच ताइवान ने दिखाया दम, सैन्य अभ्यास में नजर आया सबसे घातक 'शस्त्र'​​​

 
Taiwan-China Relations

Taiwan-China Relations: ताइवान एयरफोर्स के मुताबिक, 6 एफ-16V ने बाद में रात की टोही और प्रशिक्षण मिशन के लिए उड़ान भरी, जिसमें दो मिसाइलों से लैस थे। चीन के साथ तनाव को देखते हुए हाल के वर्षों में ताइवान अपने लड़ाकू विमानों को लगातार अपग्रेड कर रहा है। अकसर चीन के लड़ाकू विमान उसकी हवाई सीमा में घुस आते हैं।

नई दिल्ली।  चीन के साथ चल रहे तनाव के बीच ताइवान ने बुधवार को अपने सबसे अत्याधुनिक लड़ाकू विमान का प्रदर्शन करते हुए सैन्य अभ्यास किया। मिसाइलों से लैस एफ-16वी लड़ाकू विमान की रात के वक्त की तस्वीरें सामने आई हैं। चीन लगातार ताइवान के नजदीक सैन्य अभ्यास कर रहा है, जिसके बाद ताइवान ने भी उसको जवाब दिया है।

ताइवान ने दिखाए इरादे

इसी महीने यूएस हाउस स्पीकर नैंसी पेलोसी के ताइवान दौरे के बाद चीन बौखला गया था और उसने जमीन से लेकर आसमान तक सैन्य अभ्यास किए थे। बुधवार को ताइवान ने भी अपने इरादे साफ कर दिए और चीन को संकेत दे दिया कि वह डरेगा नहीं। ताइवान ने बुधवार को पूर्वी हुलिएन काउंटी के एयरबेस पर एफ16 वी का प्रदर्शन किया, जिसमें अमेरिका में बनी एंटी शिप मिसाइलें लगी हैं।  

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

ताइवान एयरफोर्स के मुताबिक, 6 एफ-16V ने बाद में रात की टोही और प्रशिक्षण मिशन के लिए उड़ान भरी, जिसमें दो मिसाइलों से लैस थे। चीन के साथ तनाव को देखते हुए हाल के वर्षों में ताइवान अपने लड़ाकू विमानों को लगातार अपग्रेड कर रहा है। अकसर चीन के लड़ाकू विमान उसकी हवाई सीमा में घुस आते हैं।

चीन कर रहा उकसावे वाली हरकत
ताइवान के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता सुन ली-फेंग ने हुआलीन वायुसेना अड्डे पर कहा, 'हम ताइवान के समुद्री और हवाई क्षेत्रों के आसपास कम्युनिस्ट चीन के लगातार सैन्य उकसावे की कार्रवाई की कड़ी निंदा करते हैं जो क्षेत्रीय शांति को प्रभावित करता है।' फेंग ने कहा, 'कम्युनिस्ट चीन के सैन्य अभियान हमें युद्ध के लिए तैयारी की ट्रेनिंग का मौका देते हैं।'

ताइवान ने बोला चीन पर हमला

ताइवान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जोआन ओ ने कहा, 'चीन अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी सहित अमेरिकी कांग्रेस के सदस्यों की हाल की यात्राओं का इस्तेमाल उसकी शर्तों को स्वीकार करने के लिए ताइवान को डराने धमकाने के प्रयासों के तहत एक बहाने के रूप में कर रहा है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

जोआन ओ ने कहा, 'चीन ने इन आधारों पर सैन्य उकसावे की शुरुआत की। यह बेतुका और एक बर्बर कृत्य है, जो क्षेत्रीय स्थिरता को भी कमजोर करता है और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में नौवहन और वाणिज्यिक गतिविधियों को प्रभावित करता है।'

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web