Ballistic Missile: अमेरिका ने क्यों दागी बैलिस्टिक मिसाइल, जानिए इसके बारे में

 
minuteman

एक महीना भी नहीं बीता और अमेरिका ने अपनी ताकतवर अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल फिर से दाग दी है। पेंटागन ने कहा कि इस परीक्षण के बारे में रूस समेत दुनिया के कई देशों को एक महीने पहले ही बता दिया गया था। अमेरिका के इस परीक्षण का मकसद है US न्यूक्लियर फोर्सेस की तैयारी जांचना।

नई दिल्ली। 16 अगस्त 2022 को अमेरिका ने अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल मिनटमैन-3 (Minuteman III ICBM) का सफल परीक्षण किया था। आज यानी 7 सितंबर 2022 को अमेरिका ने फिर से ICBM का परीक्षण कर दिया है। अमेरिका ने कहा कि उसने रूस को एक महीने पहले ही इस परीक्षण के बारे में बता दिया था। सिर्फ रूस ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया को इसकी खबर की गई थी। 

अमेरिका के रक्षा मंत्रालय पेंटागन के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल पैट राइडर ने कहा कि इस बारे में मंगलवार को ही बताया था। जिसमें कहा गया था कि 7 सितंबर की सुबह एयरफोर्स ग्लोबल स्ट्राइक कमांड एक मिनटमैन-3 (Minuteman III ICBM) मिसाइल का परीक्षण करेगी। यह मिसाइल बिना किसी हथियार के होगा। हालांकि आपको बता दें कि मिनटमैन मिसाइल परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है। 

minuteman 2.jpg

पैट राइडर ने कहा कि मिनटमैन-3 (Minuteman III ICBM) मिसाइल का परीक्षण सफल रहा है। यह काफी दिनों से प्रतिक्षित था। हमारे इस परीक्षण का मकसद सिर्फ यह था कि हम अमेरिकी न्यूक्लियर फोर्सेस की तैयारी जांच सकें। 

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

री-एंट्री व्हीकल का परीक्षण था खास
इन दिनों चीन का ताइवान से संघर्ष चल रहा है। उधर रूस और यूक्रेन में युद्ध हो रहा है। ऐसे में अमेरिका के मिनटमैन-3 (Minuteman III ICBM) मिसाइलों के परीक्षण से तनाव की स्थिति बनती दिख रही है। रूस और चीन इस परीक्षण से जरूर चिंतित होंगे। इस मिसाइल के परीक्षण के दौरान री-एंट्री व्हीकल का भी परीक्षण किया गया है। यह मिसाइल का एक ऐसा हिस्सा है जिसमें परमाणु हथियार रखा जाता है। 

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

minuteman 3.jpg

मिसाइल की रेंज है 10 हजार किमी
परीक्षण के दौरान री-एंट्री व्हीकल ने प्रशांत महासागर स्थित मार्शल आइलैंड के क्वाजालेनट एटॉल से करीब 6760 किलोमीटर की यात्रा की। राइडर ने बताया कि दो टेस्ट पहले से शेड्यूल थे। लेकिन पहले वाले के टलने की वजह से इनके बीच का गैप कम हो गया। मिनटमैन-3 (Minuteman III ICBM) मिसाइल की रेंज 10 हजार किलोमीटर है। यह अधिकतम 1100 किलोमीटर की ऊंचाई तक जा सकती है। 

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह


गति इतनी घातक की दुश्मन बचे नहीं
मिसाइल की स्पीड ही इसे सबसे ज्यादा खतरनाक बनाती है। यह मैक 23 यानी 28,200 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति से चलती है। इसे लॉन्च करने के लिए जमीन में बने साइलो (Silo) का उपयोग करना पड़ता है। यह मिसाइल आकार में भी विशालकाय है। यह करीब 60 फीट लंबी है। इसका व्यास 5.6 फीट का है। तीन स्टेज के सॉलिड फ्यूल रॉकेट इंजन से उड़ती है ये मिसाइल यह एकसाथ एक या उससे ज्यादा टारगेट्स पर हिट कर सकती है। 

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web