13 कत्ल, 11 रेप, 14 डकैती... पागल थीं लड़कियां इस सीरियल किलर के प्यार में, जेल में आते थे लव लेटर

 
killer

अमेरिका में एक ऐसा सीरियल किलर था जिसे ‘नाइट स्टाकर’ के नाम से भी जाना जाता था। उस पर 13 हत्या, 11 बलात्कार, 14 डकैती और 5 हत्या के प्रयास के मामले दर्ज थे। फिर भी इस सीरियल किलर की लड़कियां इतनी दीवानी थीं कि उसे जेल में भी लव लेटर भेजती रहती थीं। चलिए जानते हैं इस खतरनाक सीरियल किलर की कहानी...

 

नई दिल्ली। सीरियल किलर्स के बारे में हम जब भी सुनते हैं तो हमारे मन उनके लिए नफरत से भर जाता है। लेकिन क्या हो जब एक सीरियल किलर को जेल में लव लेटर्स मिलने लगें। कहानी ऐसे सीरियल किलर की है, जो न सिर्फ हत्याएं करता था। बल्कि, उसे लोगों को मारने में इतना मजा आता था कि वह कभी-कभी सिर्फ हथौड़े या चाकू से ही उनकी जान लेना पसंद करता था, ताकि वह उनकी चीखें सुन पाए और उनके दर्द से खुश हो जाए।

इस सीरियल किलर को कई लड़कियां प्यार करती थीं। उसे चाहने वाली लड़कियां खुद क्रिमिनल नहीं थीं। बल्कि, कई लड़कियां मॉडल थीं तो कुछ अमीर घरानों से ताल्लुक रखती थीं। इनमें से दो लड़कियां ऐसी थीं, जिनके साथ इस सीरियल किलर की सगाई भी हुई थी। एक के साथ तो इसने शादी भी की। क्यों इस सीरियल किलर को इतना चाहने लगीं थीं लड़कियां चलिए जानते हैं...

यह खबर भी पढ़ें: विदाई के समय अपनी ही बेटी के स्तनों पर थूकता है पिता, फिर मुड़वा देता है सिर, जानें क्यों?

इस सीरियल किलर का नाम था रिचर्ड रेमिरेज (Richard Ramirez)। रेमिरेज कोई आम सीरियल किलर नहीं था। वो न सिर्फ लोगों को मारता था। बल्कि, उनके शरीर पर या घर पर शैतान की निशानी भी छोड़ जाता था। उसे 'नाइट स्टाकर' के नाम से भी जाना जाता था। दरअसल, वह शैतान की पूजा करता था। यहां तक कि वह यह मानता था कि शैतान ने ही उसे इस दुनिया में भेजा है। ताकि वह दुनिया से भ्रष्ट लोगों को हमेशा हमेशा के लिए हटा सके।

उसका जन्म 29 फरवरी 1960 में अमेरिका के टेक्सास शहर स्थित एल पासो में हुआ था। घर में माता-पिता की आपस में बनती नहीं थी। अक्सर झगड़ा होता था। उससे भी मारपीट की जाती थी। जिससे उसका बचपन कुछ खास अच्छा नहीं बीता। जब रेमिरेज महज 12 साल का था तब उसका कजिन भाई माइक वियतनाम वार से लौटा। बता दें, वियतनाम वार अमेरिका के इतिहास में सबसे शर्मनाक लड़ाई में गिना जाता है।

यह खबर भी पढ़ें: लंदन से करोड़ों की ‘बेंटले मल्सैन’ कार चुराकर पाकिस्तान ले गए चोर! जाने क्या है पूरा मामला?

Photo- Getty Images

कजिन भाई का पड़ा बुरा असर
इस लड़ाई में अमेरिका न सिर्फ छोटे से देश से जंग हारा था बल्कि इससे भी ज्यादा शर्मनाक चीज यह थी कि इस लड़ाई के दौरान अमेरिका के जवानों ने बहुत से क्राइम किए थे। उन्हें आम नागरिकों को मारने में मजा आने लगा था। ये लोग पहले वियतनाम के जवानों को हेलीकॉप्टर से ऊपर ले जाते थे। फिर वहां से उन्हें नीचे गिरा देते थे। यह सब कुछ जिनेवा कॉन्वेंशन (Geneva Convention) के मुताबिक बैन है। जब माइक घर लौटा तो उसे लोगों को मारने की आदत हो चुकी थी। और ऐसे ही एक दिन उसने अपनी पत्नी को झगड़े के दौरान जान से ही मार डाला। माइक को इस हत्या के लिए 4 साल की सजा हुई। लेकिन रेमिरेज पर इसका बहुत असर पड़ा।

लॉस एंजेलिस में शुरू किया क्राइम
एक इंटरव्यू में रेमिरेज ने बताया कि जब हत्याकांड के बाद वह उस घर में घुसा तो उसे बहुत अजीब से शांति मिली। खून की महक वहां से आ रही थी, जो कि उसे अपनी ओर खींचे जा रही थी। कुछ वक्त बाद हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी करके रेमिरेज ने शहर छोड़ दिया और वह कैलिफॉर्निया के लॉस एंजिल्स शहर चला गया। यहां रेमिरेज ने माइक से प्रभावित होकर क्राइम का रास्ता चुन लिया। पहले उसने चोरी करना शुरू किया। एक बार कार चोरी करने के आरोप में कुछ समय के लिए जेल भी गया।

यह खबर भी पढ़ें: भूल से महिला के खाते में पहुंचे 70 लाख डॉलर और फिर...

शैतानी सोसाइटी कर ली ज्वाइन
जेल से लौटकर उसने जून, 1984 में 79 वर्षीय विधवा के साथ रेप किया और फिर छुरा घोंपकर हत्या कर दी। पुलिस उसे पकड़ नहीं पाई तो उसके हौसले मजबूत हो गए। फिर वह लोगों को मजे के लिए मारने लगा। रेमिरेज को सबूत छुपाने नहीं आता था। वह पुलिस के लिए कई सुराग छोड़ जाता। लेकिन पुलिस ने तब भी उसे पकड़ने में काफी देर कर दी। वह क्राइम पे क्राइम करता रहा। इसी बीच उसने सैटेनिक सोसाइटी (Satanic Society) ज्वाइन कर ली। यह सोसाइटी शैतान की पूजा करती थी। इस सोसाइटी से जुड़ने और दिन भर नशा करने के कारण रेमिरेज को यह लगने लगा कि वो जो कुछ भी कर रहा है, वह सही है। इसी काम के लिए शैतान ने उसे चुना है।

ऐसे चढ़ा पुलिस के हत्थे
अगस्त, 1985 में रेमिरेज एक घर में लूटपाट के इरादे से घुसा और एक शख्स की हत्या कर दी। इसके बाद उसने एक महिला से रेप कर उसे प्रताड़ित किया। इसी महिला ने पुलिस में रेमिरेज के खिलाफ मामला दर्ज करवाकर उसका स्केच बनवा दिया। स्कैच के आधार पर पुलिस ने हर जगह उसकी फोटो लगवा दी, ताकि जिस किसी को भी उसके बारे में पता चले, वो पुलिस को तुरंत सूचना दे। फिर एक दिन हुआ भी कुछ ऐसा ही। कुछ लोगों ने उसे पहचान लिया और सरेआम रास्ते में उसे घेर लिया। फिर उन्होंने उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

यह खबर भी पढ़ें: World का सबसे Dangerous Border, बिना गोली चले हो गई 4000 लोगों की मौत, कुछ रहस्‍यमय तरीके से हो गए गायब

19 बार फांसी की सजा
रेमिरेज की कहानी उस वक्त देश भर के हर टीवी चैनल पर चलाई गई। जिसके बाद कई लोगों ने उसके खिलाफ मामले दर्ज करवाए। कुछ मामले उसके खिलाफ पहले से ही दर्ज थे। लेकिन तब उसकी पहचान नहीं हो पाई थी। Daily Mail के मुताबिक, बाद में जांच पूरी हुई तो पाया गया कि रेमिरेज 13 हत्या, 11 बलात्कार, 14 डकैती का दोषी है। उस पर 5 हत्या के प्रयास के भी मामले दर्ज थे। कोर्ट ने दोषी करार देने के बाद 20 नवंबर, 1989 को रेमिरेज को मौत की सजा सुनाई। बताया जाता है कि उसे कुल 19 बार फांसी की सजा सुनाई गई।

Photo- AP

लव लेटर का सिलसिला हुआ शुरू
बताया जाता है कि जब रेमिरेज जेल में बंद था तो उसे वहां लड़कियों के लव लैटर आने लगे। इनमें से एक नाम था डोरिन लिओए (Doreen Lioy) का। जो कि एक मैगजीन की एडिटर थी। उसने लगभग 11 सालों तक 75 से ज्यादा लव लेटर लिखे और वह हर हफ्ते चार से पांच बार रेमिरेज से मिलने जाया करती। जल्द ही मीडिया के जरिए यह खबर हर तरफ फैल गई। जब भी डोरिन से पूछा जाता कि वह क्यों रेमिरेज से मिलती है? तो वह हमेशा एक ही बात बोलती- रेमिरेज एक अच्छा इंसान है और वह काफी फनी भी है।

यह खबर भी पढ़ें: बेटी से मां को दिलाई फांसी, 13 साल तक खुद को अनाथ मानती रही 19 साल की बेटी, जाने क्या था मामला

गोल्ड वेडिंग रिंग लेने से किया इनकार
यूं तो रेमिरेज के पीछे लड़कियों की लाइन लगी हुई थी। लेकिन बाद में 1996 में रेमिरेज ने जेल के अंदर ही डोरिन से शादी कर ली। यहां भी एक अजीब वाकया हुआ। जब डोरिन ने रेमिरेज को गोल्ड वेडिंग रिंग देनी चाही तो रेमिरेज ने यह कहते हुए उसे लेने से इनकार कर दिया कि शैतान को सोना पसंद नहीं है। फिर वह उसके लिए प्लेटिनम की रिंग लेकर आई। यहां से पता चलता है कि रेमिरेज अब भी बदला नहीं था। वह पहले जैसा ही था।

डोरिन ने लिया रैमिरेज से तलाक
इसी बीच डोरिन को रेमिरेज के बारे में कई और खतरनाक बातें पता चलीं, जिसमें एक नाबालिग लड़की की हत्या भी शामिल थी। यह सब पता लगने के बाद डोरिन ने रेमिरेज से तलाक ले लिया। लेकिन सवाल ये है कि इन लड़कियों को यह सीरियल किलर इतना अट्रैक्टिव क्यों लगता था?

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

क्यों आते हैं कुछ औरतों को सीरियल किलर पसंद?
इसके पीछे कई थ्योरियां सामने आईं। एक थ्योरी के मुताबिक, जो मर्द मर्डर कर सकते हैं, उनमें परिवार की रक्षा करने की क्षमता होती है। इसके अलावा साइकोलॉजी में एक कंडीशन है जिसे हाइब्रिस्टोफिलिया (Hybristophilia) कहते हैं। जिसमें औरतों को इस तरह की क्रिमिनल्स पसंद आने लगते हैं। कई एक्सपर्ट्स का मानना है कि ये औरतें वो होती हैं जिन्होंने अपनी जिंदगी में ट्रॉमा और अब्यूज फेस किया होता है। और जब वे इन सीरियल किलर्स की कहानियां सुनती हैं, जैसे रैमिरेज का बचपन जब उसे टॉर्चर किया जाता था तो उन औरतों को उनसे सहानुभूति होने लगती है। क्योंकि वे भी इस तरह की चीजें सहन कर चुकी होती हैं।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

Photo- Getty Images

क्या बोलीं फॉरेंसिक साइकोलॉजिस्ट?
फॉरेंसिक साइकोलॉजिस्ट कैथेरिन रैम्सलैंड (Forensic psychologist Katherine Ramsland) ने इस थ्योरी में एक और प्वाइंट जोड़ा। उन्होंने कहा कि जब एक औरत किसी जेल में बंद किसी क्रिमिनल के साथ रिलेशन में होती है तो उन्हें उनके साथ रोज-रोज के झगड़े नहीं करने पड़ते। उन्हें उनसे दूर रहने का भी वक्त मिलता है और जब मिलने का मन हो तो कभी भी वे उनसे मिल सकती हैं। इसलिए जो औरतें पहले किसी नाकाम रिलेशनशिप में रह चुकी हैं, उन्हें ये रिलेशनशिप पिछले रिलेशनशिप से बेहतर लगने लगता है। यही चीज उनके लिए एक फैंटसी बन जाती है। इन्हीं कारणों से कुछ औरतों को ये सीरियल किलर ज्यादा अट्रैक्टिव लगने लगते हैं।

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

लिवर फेलियर से साल 2013 में रैमिरेज की हुई मौत
उधर, रेमिरेज और डोरिन के तलाक के बाद भी उसकी फैन फॉलोइंग कम नहीं हुई। बाद में उसने एक मॉडल से सगाई भी कर ली। ये मॉडल भी अपने मंगेतर को लेकर काफी प्रोटेक्टिव थी। कई बार तो उसका रेमिरेज को पसंद करने वाली बाकी औरतों से झगड़ा भी हो जाता था। लेकिन रेमिरेज को कभी भी जेल से बाहर आने का मौका नहीं मिला। क्योंकि उसे 19 बार फांसी ही सजा हो चुकी थी। The Guardian के मुताबिक, फिर 7 जून 2013 में जेल के अंदर लिवर फेलियर से उसकी मौत हो गई।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web