CM योगी का भ्रष्टाचार पर कड़ा प्रहार, डिप्टी SP को डिमोट कर बनाया दरोगा, जानिए क्या है मामला...

अब फिर मुख्यमंत्री ने उनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए मूल पद पर भेज दिया है। 
 
CM योगी का भ्रष्टाचार पर कड़ा प्रहार, डिप्टी SP को डिमोट कर बनाया दरोगा, जानिए क्या है मामला...

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने रिश्वतखोरी के मामले में बड़ा एक्शन लिया है। जालौन जिले की पीटीसी ब्रांच में तैनात डिप्टी एसपी विद्या किशोर शर्मा का डिमोशन करके सब-इंस्पेक्टर (दरोगा) बना दिया है। पिछले साल शर्मा का एक वीडियो वायरल हुआ था। इसमें वे झोले में नोटों के बंडल लेते दिख रहे हैं। आपको बता दे रामपुर में दो साल तक तैनाती के दौरान विद्या किशोर शर्मा हमेशा चर्चा में रहे। 5 लाख रुपए घूस लेने के मामले में उन्हें सस्पेंड किया गया था। तब भी मुख्यमंत्री ने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी। अब फिर मुख्यमंत्री ने उनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए मूल पद पर भेज दिया है। उनके खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत RTI कार्यकर्ता दानिश खां ने केंद्रीय सतर्कता आयोग में की थी। मुख्यमंत्री से भी शिकायत की गई थी।

विज्ञापन: जयपुर में निवेश का अच्छा मौका JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 3.21 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

दरअसल, रामपुर की एक महिला ने 9 सितंबर 2021 को आरोप लगाया कि अस्पताल संचालक विनोद यादव और तत्कालीन इंस्पेक्टर रामवीर यादव ने उसके साथ गैंगरेप किया। शिकायत के बाद भी पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। बाद में रामपुर के डिप्टी एसपी विद्या किशोर शर्मा का घूस लेते हुए वीडियो सामने आया। जब वीडियो वायरल हुआ तो आरोपी इंस्पेक्टर रामवीर यादव और अस्पताल संचालक विनोद यादव पर FIR दर्ज की गई। वीडियो सामने आने के बाद दिसंबर 2021 में विद्या किशोर शर्मा को सस्पेंड कर दिया गया। इसके बाद उन्हें DGP ऑफिस अटैच कर दिया गया था। शासन के आदेश पर मामले की जांच ASP मुरादाबाद को सौंपी गई। जांच में विद्या किशोर शर्मा पर घूस लेने के आरोप सही पाए गए। इसके बाद उनका डिमोशन किया गया।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web