मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीयन के बिना भी होगा तरसेम का उपचार

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के माध्यम से सरकार का यह उद्देश्य पूरा भी हो रहा है।
 
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीयन के बिना भी होगा तरसेम का उपचार

श्रीगंगानगर। राजस्थान सरकार की ओर से हर रोगी को बेहतर इलाज देने के प्रयास जारी हैं। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के माध्यम से सरकार का यह उद्देश्य पूरा भी हो रहा है। इसी क्रम में ऐसी बीमारियों के रोगी, जो मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीकृत नहीं हैं, उन्हें निःशुल्क इलाज देने के लिये राजस्थान सरकार की ओर से जिला कलक्टर को अधिकृत किया है। साथ ही निर्देशित किया गया है कि ऐसे लोगों का मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में शीघ्र पंजीयन कर समुचित उपचार करवाया जाये। राज्य सरकार के इस कदम से बड़ी संख्या में मरीज लाभान्वित हुए हैं। इसी के माध्यम से श्रीगंगानगर जिले के तरसेम लाल का उपचार होगा। 

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

वार्ड नम्बर 19 बसंती चौक श्रीगंगानगर के तरसेम लाल के पैर में फ्रैक्चर की बीमारी के उपचार के लिये परिजनों ने अस्पताल में भर्ती करवाया। रोगी के परिवार की आर्थिक स्थिति सही नहीं होने के कारण महंगे इलाज का खर्च उठाना संभव नहीं था। तरसेम चिरंजीवी योजना में भी पंजीकृत नहीं थे, इसलिये इन्हें योजना का लाभ नहीं दिया जा सकता था। उक्त प्रकरणों में परिजनों ने उपचार के लिये जिला कलक्टर सौरभ स्वामी को अपनी व्यथा बताई। इस पर तुरन्त कार्यवाही करते हुए उनसे प्रपत्र-8 भरवाया गया। इससे तरसेम का उपचार संभव होगा। रोगियों को उपचार के लिये अस्पताल में भर्ती कर लिया गया है, जहां उनका मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत निःशुल्क इलाज किया जायेगा।

यह खबर भी पढ़ें: बेटी से मां को दिलाई फांसी, 13 साल तक खुद को अनाथ मानती रही 19 साल की बेटी, जाने क्या था मामला

इस संबंध में जिला कलक्टर सौरभ स्वामी ने आमजन से अपील की है कि ऐसे गरीब व्यक्ति या परिवार जो मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से नहीं जुड़े हुए हैं, वे आवश्यक होने पर मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से सम्बद्व प्राईवेट हॉस्पिटल में उपचार के लिये निर्धारित प्रपत्रा-8 भरकर उपचार की सहायता के लिये ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। उनके समक्ष आवेदन प्रस्तुत होने पर तत्काल प्रभाव से कार्यवाही करते हुए संबंधित को उपचार की समुचित सुविधा उपलब्ध करवाई जायेगी।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web