T20 World Cup 2022 से पहले रोहित को ढूंढने होंगे 4 सवालों के जवाब, वरना बाहर होगी वर्ल्ड कप से टीम!

अब केवल 5 मौके बाकी!
 
rohit sharma

AUS के खिलाफ मोहाली टी20 में भारत को 4 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। यहां टीम की ढीली फील्डिंग और डेथ बॉलिंग चर्चा का विषय बनी। वहीं पंत या डीके की गुत्थी अभी तक सुलझने का नाम नहीं ले रही है।

नई दिल्ली। टी20 वर्ल्ड कप 2022 (T20 World Cup 2022) का आगाज होने में अब महज कुछ ही दिन बाकी है, मगर टीम इंडिया की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इस बहुराष्ट्रीय टूर्नामेंट के लिए 15 खिलाड़ियों की टीम का ऐलान तो कर दिया है, मगर भारत अभी भी अपनी प्लेइंग इलेवन तय नहीं कर पा रहा है। रोहित शर्मा के पास वर्ल्ड कप 2022 से पहले 6 इंटरनेशनल मैच में इन तैयारियों को पुख्ता करने का मौका है जिसमें एक वह गंवा चुके हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मोहाली टी20 में भारत को 4 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। यहां टीम की ढीली फील्डिंग और डेथ बॉलिंग एक बार फिर चर्चा का विषय बनी। वहीं पंत या डीके की गुत्थी अभी तक सुलझने का नाम नहीं ले रही है। 

यह खबर भी पढ़ें: बेटी से मां को दिलाई फांसी, 13 साल तक खुद को अनाथ मानती रही 19 साल की बेटी, जाने क्या था मामला

टीम इंडिया के लिए प्रॉबलम नंबर 1 यह है कि जडेजा के चोटिल होने के बाद टॉप 6 में कोई बाएं हाथ का बल्लेबाज नहीं है। टीम मैनेजमेंट के पास पंत या डीके में से किसी एक विकेट कीपर की जगह खाली है। कार्तिक फीनिशर की भूमिका अच्छे से निभा रहे हैं, वहीं पंत एकमात्र ऐसे बल्लेबाज हैं जो मिडिल ऑर्डर में बाएं हाथ के बल्लेबाज की कमी पूरी कर सकते हैं। ऐसे में अब किसे मौका दिया जाए और किसे खिलाया जाएगा इसके लिए रोहित के पास अब 5 मौके और हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैच की टी20 सीरीज के बाद भारत को इतने मैच की ही टी20 सीरीज साउथ अफ्रीका के खिलाफ भी खेलनी है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

टीम की प्रॉबलम नंबर 2 ढीली फील्डिंग है। मोहाली में इसका हमें उदहारण देखने को मिला। उप-कप्तान केएल राहुल ने जहां स्टीव स्मिथ का कैच छोड़ा, वहीं अक्षर पटेल ने डीप मिड विकेट में कैमरुन ग्रीन का कैच टपकाया। यह दोनों कैच भी टीम इंडिया की हार का मुख्य कारण बने। जडेजा के चोटिल होने के बाद भारत की प्वाइंट में तो फील्डिंग कमजोर हुई है लेकिन डीप में भी खिलाड़ी अच्छा नहीं कर पा रहे हैं।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

भारत की प्रॉबलम नंबर तीन डेथ ओवर्स हैं। एशिया कप 2022 से नजर आ रहा है कि भारतीय गेंदबाज शुरुआत में तो असरदार दिखते हैं, मगर अंत तक आते आते विपक्षी बल्लेबाजों को वह रोक नहीं पाते। इनमें सबसे बड़ा परेशानी का विषय भुवनेश्वर कुमार की डेथ बॉलिंग हैं। रोहित हर बार भरोसा कर भुवी को 19वां ओवर थमाते हैं और हर बार यह गेंदबाज निराश करता है। जसप्रीत बुमराह के आने से जरूर इस डिपार्टमेंट में थोड़ा सुधार आएगा, मगर दूसरे छोर से भी बुमराह को मदद की दरकार होगी।

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

आखिरी और सबसे महत्वपूर्ण प्रबलम खिलाड़ियों की चोट है। रविंद्र जडेजा चोट के चलते वर्ल्ड कप से बाहर हो गए हैं, वहीं बुमराह पूरी तरह फिट नहीं होने की वजह से पहले टी20 में हिस्सा नहीं ले पाए। मोहम्मद शमी कोविड-19 पॉजिटिव पाए जाने के बाद सीरीज से ही बाहर हो गए हैं। वर्ल्ड कप से पहले या टूर्नामेंट के दौरान अगर एक-दो भारतीय गेंदबाज और चोटिल होते हैं तो टीम इंडिया के लिए काफी मुश्किलें खड़ी हो जाएगी। स्टैंडबाय में दीपक चाहर और मोम्हद शमी बौतर तेज गेंदबाज चुने गए हैं। मगर उन्हें अभी तक उपयुक्त मैच खेलने को नहीं मिले हैं। शमी ने वर्ल्ड कप 2021 के बाद भारत के लिए टी20 नहीं खेला है, वहीं चाहर चोट के बाद वापसी कर रहे हैं।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web