पश्चिमी राजस्थान उद्योग हस्तशिल्प उत्सव 2023: युवा ईमानदारी, एकाग्रता, समर्पण को स्किल मानकर आगे बढ़ें- खेल मंत्री 

युवाओं के कौशल विकास व राजस्थान में स्टार्टअप विषय पर संगोष्ठी, स्वामी विवेकानंद की जयंति पर वीर सैनिकों का सम्मान
 
पश्चिमी राजस्थान उद्योग हस्तशिल्प उत्सव 2023: युवा ईमानदारी, एकाग्रता, समर्पण को स्किल मानकर आगे बढ़ें- खेल मंत्री 

जयपुर। जोधपुर जिला प्रशासन, जिला उद्योग एवं वाणिज्य केन्द्र, उद्यम प्रोत्साहन संस्थान एवं नोडल एजेंसी मरूधरा इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में गुरूवार को जोधपुर जिले में चल रहे पश्चिमी राजस्थान उद्योग हस्तशिल्प उत्सव में स्वामी विवेकानंद जयंती पर वीर योद्धा सम्मान समारोह एवं युवाओं को स्टार्टअप की जानकारी पर संगोष्ठी आयोजित की गई।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

युवा मामले एवं खेल मंत्री अशोक चांदना का सम्बोधन-
युवा मामले एवं खेल मंत्री अशोक चांदना ने कहा कि युवाओं को ईमानदारी, एकाग्रता, समर्पण को स्किल मानकर आगे बढ़ना चाहिए। उन्होंने दृष्टांत देते हुए जीवन में कैसे आगे बढ़ना चाहिए, इस पर भावनात्मक तरीके से विचार व्यक्त किए। उन्होंने राज्य में कौशल विकास के लिए बड़े रोजगार मेले की उपलब्धियों पर चर्चा करते हुए युवाओं के प्लेसमेंट प्राप्त करने की भी जानकारियां दी। उन्होंने खेल मंत्री के रूप में की गई उपलब्धियों तथा ग्रामीण ओलंपिक खेलों के आयोजन की उपलब्धियों पर भी विस्तार से जानकारी दी।

यह खबर भी पढ़ें: OMG: 83 साल की महिला को 28 साल के युवक से हुआ प्यार, शादी के लिए विदेश से पहुंची पाकिस्तान

उत्सव संयोजक एवं निदेशक रीको सुनील परिहार ने स्वामी विवेकानंद के व्यक्तित्व की चर्चा करते हुए युवाओं के लिए प्रगति के मार्ग की दिशा में विचार व्यक्त किए। उन्होंने पूर्व सैनिकों के सम्मान की खुशी जाहिर करते हुए उनका स्वागत किया। उन्होंने 2 साल के अंतराल के बाद इस बार आयोजित उत्सव की योजना एवं क्रियान्वयन की पूरी जानकारी दी। इसमें जो नए फीचर्स स्थापित किए गए हैं उसकी चर्चा पूरे राज्य में है।

तकनीकी शिक्षा निदेशक ए के आनंद ने पूरे राज्य में नए कोर्सेज, महिलाओं के लिए नवीन तकनीक, कौशल के नवीन इंफ्रास्ट्रक्चर आदि पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम समन्वयक योगेश माहेश्वरी ने युवाओं में कौशल विकास पर प्रकाश डाला। राजकीय पॉलिटेक्निक के निदेशक अशोक बंसल ने पॉलिटेक्निक में स्टार्टअप व तकनीकी सहयोग संबंधी जानकारी दी।

युवा संयासी के रूप में भारतीय संस्कृति को विश्व स्तर पर पहचान दिलाने वाले युग प्रवर्तक और देश के युवाओं के प्रेरणास्रोत स्वामी विवेकानंद जी की जयंति पर उत्सव के संगोष्ठी कक्ष में आयोजित समारोह में वर्ष 1965 एवं  वर्ष 1971 दौरान शहीद हुए वीर शहीदों के परिवारजन एवं वर्ष 1965 एवं वर्ष 1971 में भाग लेने वाले वीर सैनिकों का सम्मान किया गया जिसमें 104 वर्षीय सेवानिवृत्त आर्मी सूबेदार सीपी जोशी, आजादी से पूर्व शहीद हुए हाईफा हीरो मेजर दलपतसिंह देवली के पुत्र गंगाऋृसह गोयल सहित वर्ष  1965 एवं वर्ष 1971 के युद्ध में परमवीर चक्र एवं अन्य वीरता सम्मान प्राप्त सहित अन्य पूर्व सेनाधिकारियों और सैनिकों व उनके परिजनों सहित 66 व्यक्तियों का सम्मान किया गया।

यह खबर भी पढ़ें: Love Story: महिला टीचर को छात्रा से हुआ प्यार, जेंडर चेंज करवाकर रचाई शादी, तस्वीरों में देखें प्यार की दास्तां

सैनिक कल्याण बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष कैप्टन महेंद्र माथुर ने वर्ष 1965 व वर्ष 1971 के युद्ध के प्रमुख उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए खास वीर सैनिक अधिकारियों की वीरता के किस्से भी बताए। युवा विशेषज्ञ निखिल बोहरा ने स्टार्टअप के लिए अनेक पहलुओं पर प्रकाश डाला।

विशेषज्ञ रौनक सिंघवी ने युवाओं के कौशल विकास व राजस्थान में स्टार्टअप की संभावनाओं पर विस्तार से जानकारियां दी। नेहरू स्टडी सर्किल के प्रधान व पूर्व प्रोफेसर कैलाशनाथ व्यास ने कहा कि स्वामी विवेकानंद के व्यक्तित्व ने संसार को नया मार्ग प्रशस्त किया। वीर सैनिकों एवं उनके परिजनों के सम्मान हेतु आयोजित कार्यक्रम के समन्वयक अमृत महोत्सव समिति के जिला संयोजक ओमकार वर्मा रहे।

पूंजी बाजार में निवेश पर कार्यशाला-
उत्सव के मिनी संगोष्ठी कक्ष में गुरूवार को पूंजी बाजार में निवेश पर कार्यशाला आयोजित की गई।

जोधपुर शेयर हॉल्डर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सीए सुमेर पटवा ने कहा कि जो लोग सोच-समझकर लंबी अवधि के लिए दीर्घकालीन निवेश करते है, उनके लिए केपिटल मार्केट निवेश का सुगम जरिया है। उन्होंने निवेशकों को केपिटल निवेश करने के तौर तरीकों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

यह खबर भी पढ़ें: VIDEO: 'दादी के गर्भ से जन्मी पोती' अपने ही बेटे के बच्चे की मां बनी 56 साल की महिला, जानें क्या पूरा मामला

कंपनी सचिव संस्थान जोधपुर के संस्थापक अध्यक्ष मुकेश बंसल ने कहा कि अपनी पहली कमाई से ही अगर बचत और फिर निवेश प्रांरभ किया जाये तो चक्रवर्ती ब्याज का पॉवर लागू हो जाता है जो वित्त की दुनिया का आठवां आश्चर्य है। उन्होंने निवेश करने के सुरक्षित तौर तरीकों पर विस्तार से प्रकाश डाला।

उत्सव के संगोष्ठी कक्ष में क्लाउड किचन व फूड इण्डस्ट्रीज में अपार संभावनाओं पर भी संगोष्ठी आयोजित की गई जिसमें बाईसा हुकुम इवेंटस की निदेशक निशा पंवार ने कहा कि होटल इण्डस्ट्रीज के साथ-साथ घर से स्वरोजगार कर सकती है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web