सभी कक्षाओं के परिणाम आते ही विशेष छात्रवृत्ति देने की प्रक्रिया शुरू की जायेगी- सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री

जूली प्रश्नकाल में विधायकों की ओर से इस सम्बन्ध में पूछे गये पुरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे। 

 
सभी कक्षाओं के परिणाम आते ही विशेष छात्रवृत्ति देने की प्रक्रिया शुरू की जायेगी- सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री

जयपुर। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री टीकाराम जूली ने बुधवार को विधानसभा में कहा कि सरकार आर्थिक रूप से पिछड़े प्रतिभावान छात्र-छात्राओं की सहायता के लिए विशेष छात्रवृत्ति देने की प्रति कटिबद्ध है। उन्होंने आश्वस्त किया कि सभी परिक्षाओं के परिणाम आने के बाद छात्रवृत्ति देने की प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी जायेगी।

जूली प्रश्नकाल में विधायकों की ओर से इस सम्बन्ध में पूछे गये पुरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि यह सही है कि जनघोषणा पत्र में आर्थिक रूप से पिछड़े प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को विशेष छात्रवृत्ति देने की घोषणा की गई थी। उन्होंने कहा कि इसकी अनुपालना एवं क्रियान्वयन के लिए समिति गठित की गई है तथा समिति द्वारा बैठक कर किस प्रकार योजना की क्रियान्वति की जाये यह तय किया गया है। उन्होंने बताया कि इसके क्रियान्वयन के लिए 2 मार्च 2022 को शिक्षा विभाग की ओर से आवश्यक आदेश भी जारी किये जा चुके है। उन्होंने कहा कि इसकी प्रक्रिया पूरी कर ली गई है तथा विभिन्न कक्षाओं के पूरे परिणाम आने के बाद छात्रवृत्ति देने की प्रक्रिया शुरू कर दी जायेगी।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

इससे पहले विधायक जगदीश चन्द के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने बताया कि राज्य सरकार का वर्तमान में 8 लाख रुपये निर्धारित राशि में वृद्धि का कोई प्रस्ताव विचाराधीन नही है, क्याेंकि उक्त 08 लाख रुपए का निर्धारण केन्द्र सरकार द्वारा निर्धारित मापदण्ड के अनुसरण में ही किया गया है।

उन्होंने बताया कि सरकार ने आर्थिक रूप से पिछडें प्रतिभावान छात्र-छात्रओं की सहायता के लिये विशेष छात्रवृत्ति एवं अनुदान योजना प्रारम्भ  करने की घोषणा की थी। उन्होंने योजना के क्रियान्वतयन के संबध में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा स्कूल शिक्षा विभाग (ग्रुप-6) को प्रेषित प्रस्ताव की प्रति सदन के पटल पर रखी।

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

जूली ने बताया कि आर्थिक रूप से पिछड़े प्रतिभावान छात्र-छात्राओं की सहायता के लिये विशेष छात्रवृत्ति एवं अनुदान योजना हेतु शिक्षा (ग्रुप-6) विभाग के पत्र क्रमांक प 3 (3) शिक्षा-6/2019 दिनांक 02.03.2022 द्वारा माध्यि्मक शिक्षा बोर्ड, राजस्थान अजमेर को दिशा-निर्देश जारी किये गये है। उन्होंने दिशा-निर्देश की प्रति सदन के पटल पर रखी।

उन्होंने बताया कि माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा आर्थिक रूप से पिछडे प्रतिभावान छात्र-छात्रओं की सहायता के लिये विशेष छात्रवृत्ति एवं अनुदान योजना हेतु माध्यमिक शिक्षा परीक्षा परिणाम के आधार पर आवेदन की प्रक्रिया प्रारम्भ  की जा रही है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web