इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना की समीक्षा बैठक, सभी जिलों में प्रभारी मंत्री करेंगे योजना का शुभारम्भ- मुख्यमंत्री

- योजना में अभी तक 2.2 लाख से अधिक परिवारों ने कराया पंजीकरण
- स्वच्छता संबंधी कार्यों पर रहेगा फोकस
- अच्छा प्रदर्शन करने वाले निकाय होंगे पुरस्कृत
 
इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना की समीक्षा बैठक, सभी जिलों में प्रभारी मंत्री करेंगे योजना का शुभारम्भ- मुख्यमंत्री

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि सरकार का ध्येय है कि प्रदेश में हर व्यक्ति को सामाजिक सुरक्षा मिले। कोई भी व्यक्ति रोजगार से वंचित ना रहे तथा कोविड के दौरान बेरोजगार हुए व्यक्तियों को गुजर-बसर के लिए आजीविका के साधन उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा 800 करोड़ रूपये के बजट से शुरू हो रही इन्दिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना शहरी क्षेत्रों में बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराकर राहत प्रदान करेगी। 

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

मुख्यमंत्री शनिवार को मुख्यमंत्री निवास पर इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 9 सितंबर से शुरू हो रही योजना का शुभारम्भ सभी जिलों में प्रभारी मंत्री करेंगे। अभी तक शहरी क्षेत्र के 2.2 लाख से अधिक परिवारों ने योजना के अन्तर्गत पंजीकरण करवाया है। योजना को जनसमर्थन मिल रहा है। गहलोत ने कहा कि योजना में स्वच्छता संबंधी कार्यों को प्राथमिकता दी जाएगी। इसे सामाजिक दायित्व व सरोकार के रूप में क्रियान्वित किया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा योजना के अंतर्गत उत्कृष्ट कार्य करने वाले नगरीय निकायों को पुरस्कृत भी किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि शहरों में रोजगार के संकट को दूर करने के लिए शुरू की जा रही योजना में जॉब कार्डधारी परिवार के 18 से 60 वर्ष की आयु के सभी सदस्य पात्र होंगे। पंजीयन जनआधार कार्ड के जरिए किया जा रहा है। जिन परिवारों के पास जनआधार कार्ड उपलब्ध नहीं है, वे ई-मित्र केंद्र या नगरपालिका सेवा केंद्र के जरिए जनआधार के लिए आवेदन कर उसके क्रमांक नम्बर से भी पंजीयन करा सकते हैं। 

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

योजना में लाभार्थी परिवार को 100 दिन का गारंटीशुदा रोजगार उपलब्ध करवाया जाएगा।

बैठक में स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल, मुख्य सचिव उषा शर्मा, प्रमुख शासन सचिव वित्त अखिल अरोरा, शासन सचिव स्वायत्त विभाग जोगाराम सहित अन्य उच्चाधिकारी उपस्थित रहे। 

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web