रबी फसल के लिये समीक्षा बैठक: किसानों को निर्बाध विद्युत तथा उर्वरक आपूर्ति सरकार की प्राथमिकता- मुख्यमंत्री

गहलोत ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि राज्य में किसी भी कीमत पर किसानों के लिए विद्युत आपूर्ति बाधित नहीं होनी चाहिए।
 
रबी फसल के लिये समीक्षा बैठक: किसानों को निर्बाध विद्युत तथा उर्वरक आपूर्ति सरकार की प्राथमिकता- मुख्यमंत्री

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को मुख्यमंत्री निवास पर रबी फसलों के लिए उर्वरक एवं विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित किए जाने के संबंध में एक महत्वपूर्ण बैठक ली। उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसानों को निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराना सरकार की प्राथमिकता है। गहलोत ने अधिकारियों को रबी फसल की बुवाई के लिए आवश्यक डी.ए.पी. व यूरिया की समयबद्ध आपूर्ति व वितरण सुनिश्चित कर किसानों को राहत देने के निर्देश दिए।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

किसानों के लिए न हो विद्युत कटौती
गहलोत ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि राज्य में किसी भी कीमत पर किसानों के लिए विद्युत आपूर्ति बाधित नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि किसानों को रबी की फसल की सिंचाई के लिए पर्याप्त बिजली उपलब्ध कराई जाए। गहलोत ने प्रदेश में विभिन्न स्त्रोतों से उपलब्ध हो रही बिजली की समीक्षा की व आगामी महीनों में बिजली की निर्बाध आपूर्ति हेतु कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए।

यह खबर भी पढ़ें: बेटी से मां को दिलाई फांसी, 13 साल तक खुद को अनाथ मानती रही 19 साल की बेटी, जाने क्या था मामला

राज्य में उर्वरक की हो पर्याप्त उपलब्धता
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में रबी की फसल के लिए उर्वरक की आपूर्ति सुनिश्चित कर किसानों को उपलब्ध कराए जाने के लिए सरकार प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। बैठक में बताया गया कि अक्टूबर माह में अच्छी वर्षा होने से रबी की बुवाई गत वर्ष की तुलना में 15 लाख हेक्टेयर अधिक हुई है। गत वर्ष की तुलना में गेहूं की बुवाई में लगभग 103 प्रतिशत की वृद्धि, जौं में 87, सरसों व तारामीरा में 16, चना में 27 तथा अन्य फसलों में लगभग 56 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। अग्रिम बुवाई व अधिक बुवाई से उर्वरक, विशेषकर यूरिया, की मांग प्रदेशभर में बढ़ी है।

गहलोत ने अधिकारियों को केन्द्र सरकार के साथ निरंतर समन्वय बनाकर प्रदेश में उर्वरक की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। साथ ही विभाग द्वारा दैनिक मांग की समीक्षा कर अधिक मांग वाले क्षेत्रों में प्राथमिकता से उर्वरक की रैक लगवाने के भी निर्देश दिए।

यह खबर भी पढ़ें: लंदन से करोड़ों की ‘बेंटले मल्सैन’ कार चुराकर पाकिस्तान ले गए चोर! जाने क्या है पूरा मामला?

कृषि मंत्री लालचन्द कटारिया ने कहा कि इस वर्ष रबी फसलों के लिए उर्वरक की मांग अधिक है। राज्य सरकार द्वारा मांग अनुसार उर्वरक की समयबद्ध आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने कहा कि सभी जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक कर उर्वरक की वितरण व्यवस्था को पारदर्शी व सुदृढ़ बनाया जा रहा है।

इस दौरान प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा भास्कर ए. सावंत तथा प्रमुख शासन सचिव कृषि दिनेश कुमार ने प्रस्तुतिकरण के द्वारा वर्तमान में बिजली व उर्वरक की उपलब्धता, मांग एवं आपूर्ति की विस्तृत जानकारी दी।

यह खबर भी पढ़ें: विदाई के समय अपनी ही बेटी के स्तनों पर थूकता है पिता, फिर मुड़वा देता है सिर, जानें क्यों?

बैठक में मुख्य सचिव उषा शर्मा, प्रमुख शासन सचिव वित्त अखिल अरोड़ा, कृषि आयुक्त काना राम, ऊर्जा सलाहकार ए.के. गुप्ता, राजस्थान विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड के सी.एम.डी. आर.के. शर्मा तथा जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक अजीत कुामर सक्सेैना सहित अन्य उच्चाधिकारी उपस्थित थे।

साथ ही, राज्य मंत्री उर्जा विभाग भंवर सिंह भाटी, जोधपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक प्रमोद टाक तथा अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक एन एस निर्वाण वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web