जरूरतमंद परिवारों को मिलेगा 100 दिन का रोजगार, प्रभारी मंत्री ने इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना के बांटे जॉबकार्ड

इस योजना के तहत एक परिवार को एक वर्ष में 25 हजार रूपये तक का आर्थिक सम्बल मिलेगा। 

 
जरूरतमंद परिवारों को मिलेगा 100 दिन का रोजगार, प्रभारी मंत्री ने इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना के बांटे जॉबकार्ड

जयपुर। इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना के नए कार्यो का शुभारम्भ शनिवार को सार्वजनिक निर्माण एवं सवाईमाधोपुर जिला प्रभारी मंत्री भजन लाल जाटव ने महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालय साहूनगर मैदान में किया।

जिला प्रभारी मंत्री ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना के तहत शहरों के हर जरूरतमंद परिवारों विशेष रूप से आर्थिक रूप से कमजोर, असहाय एवं बेरोजगार परिवारों को 100 दिन का गारन्टीसुदा रोजगार अपने ही नगरीय क्षेत्र में उपलब्ध करवा रही है। इस योजना के अन्तर्गत सम्पूर्ण राज्य में 800 करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान किया गया है जिसमें 18 से 60 वर्ष की आयु के लोग आवेदन के पात्र है। उन्होंने कहा कि योजना के तहत आवेदन के 15 दिन के भीतर रोजगार उपलब्ध कराने का प्रावधान है। 

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

इस योजना के तहत एक परिवार को एक वर्ष में 25 हजार रूपये तक का आर्थिक सम्बल मिलेगा। इसके लिए सवाई माधोपुर जिले की नगरीय निकयों को सालाना 16 करोड़ रूपये का बजट दिया गया है। जिनमें सवाई माधोपुर नगरीय निकाय के लिए 6 करोड़, गंगापुर सिटी के लिए 6 करोड़, बामनवास के लिए 2 करोड़ एवं बौंली के लिए 2 करोड़ रूपये का बजट जारी किया गया है। उन्होंने बताया कि सवाई माधोपुर जिले में 5 हजार 122 जॉब कार्ड बनाये गए हैं। वहीं नगर परिषद् सवाई माधोपुर में नियोजित श्रमिकों की संख्या 330, कवर किए गए वार्ड 60, कार्यो की संख्या 11 एवं जॉब कार्ड की संख्या 1 हजार 965 है। उन्होंने कहा कि कोई भी जनाधार कार्डधारी आईआरजीवाई-अरबन एमआईएस पोर्टल पर तथा नगरीय निकाय में जाकर ऑनलाईन आवेदन कर सकता है।

प्रभारी मंत्री ने बताया कि इन्दिरा गांधी शहरी रोजगार गारन्टी योजना के तहत पर्यावरण संरक्षण, जल संरक्षण, स्वच्छता, सम्पति विरूपण रोकने, कन्वर्जेन्स कार्य, सेवा कार्य एवं हेरिटेज संरक्षण संबंधी कार्य किए जाएंगे। जिनमें पर्यावरण संरक्षण संबंधी कार्य में वृक्षारोपण, पौधो को पानी पिलाना, नर्सरी में पौधे तैयार करना इत्यादी है। जल संरक्षण संबंधी कार्य में टांके, बावड़ी आदि की सफाई, सुधार, जल स्त्रोतों का पुनरूद्धार आदि, स्वच्छता संबंधी कार्य में ठोस कचरा प्रबंधन, शौचालय और मूत्रालय की सफाई, नाला सफाई, झाड़ी कटाई आदि, सम्पति विरूपण रोकने संबंधी कार्यो में अवैध हॉर्डिंग्स एवं पोस्टर्स की सफाई, कन्वर्जेन्स कार्यो में पीएमएवाई के अन्तर्गत केन्द्र व राज्य सरकार की अन्य संचालित निर्माण कार्यो में कन्वर्जेन्स कार्य, सेवा कार्यो में गौशालाओं में श्रम, मल्टीटॉस्क कार्य किए जाएंगे। इसके अतिरिक्त सार्वजनिक स्थलों की फेन्सिंग, पार्क प्रबंधन, आवारा पशु पकड़ना व अन्य अनुमत कार्य किए जाएंगे।

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

जिला कलेक्टर सुरेश कुमार ओला ने कहा कि इन्दिरा गांधी शहरी रोजगार गारन्टी योजना में नगरीय क्षेत्र सवाई माधोपुर को 6 करोड़ रूपये का बजट आवंटन हुआ है। उन्होंने शहर के अधिक से अधिक बेरोजगारों को इस योजना से जुड़ने के लिए ई-मित्र पर जाकर जन आधार के माध्यम से ऑनलाईन पंजीयन करवाकर जॉब कार्ड बनवाने की अपील की है।

इस दौरान उप सभापति अली मोहम्मद, अतिरिक्त जिला कलेक्टर डॉ. सूरज सिंह नेगी, एसडीएम सवाई माधोपुर कपिल शर्मा, पुलिस उपाधीक्षक राजीर सिंह चम्पावत, नगर परिषद आयुक्त नवीन भारद्वाज, पूर्व प्रधान तोताराम गुर्जर, स्वास्थ्य निरीक्षक गजेन्द्र सिंह सहित अन्य अधिकारी, कर्मचारी एवं श्रमिक उपस्थित रहे।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web