अंतर्राष्ट्रीय स्वच्छ वायु दिवस: चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने किया पोस्टर का विमोचन

चिकित्सा मंत्री ने इस अवसर पर कहा कि आधुनिक युग में त्वरित जलवायु परिवर्तन के कारण प्रकृति एवं मानव स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव पड़ रहे हैं।

 
अंतर्राष्ट्रीय स्वच्छ वायु दिवस: चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने किया पोस्टर का विमोचन

जयपुर। प्रदेश में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत राष्ट्रीय जलवायु परिवर्तन और मानव स्वास्थ्य कार्यक्रम (एनपीसीसीएचएच) संचालित किया जायेगा। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने प्रदेश में बुधवार को अपने निवास पर इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्वच्छ वायु दिवस के अवसर पर वायु प्रदूषण से होने वाले विभिन्न रोगों एवं मानव स्वास्थ पर पड़ने वाले इसके विपरीत प्रभावों की जानकारी वाले पोस्टरों का विमोचन किया।

यह खबर भी पढ़ें: इस मंदिर में लोग भगवान को चढ़ाते हैं घड़ियां, वजह जानकर आप भी रह जाएंगें हैरान

चिकित्सा मंत्री ने इस अवसर पर कहा कि आधुनिक युग में त्वरित जलवायु परिवर्तन के कारण प्रकृति एवं मानव स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव पड़ रहे हैं। उन्होंने बताया कि एनपीसीसीएचएच कार्यक्रम के तहत आमजन में “स्वच्छ वायु, बढ़ाये आयु” जैसी भावनाएं विकसित कर जनजागरूकता विकसित की जाएगी।

यह खबर भी पढ़ें: बंदरों की वजह से यहां नहीं हो रही लड़कियों की शादी, बारात लाने से भी डरते हैं लोग

राज्य नोडल अधिकारी एनपीसीसीएचएच डॉ. आर.एन.मीणा ने बताया कि 7 सितम्बर का दिन अंतर्राष्ट्रीय स्वच्छ वायु दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष की थीम ‘‘नीले गगन के लिए स्वच्छ वायु‘‘ निर्धारित की गई। उन्होंने बताया कि संयुक्त राष्ट्र संघ ने वायु प्रदूषण को मानव स्वास्थ्य के लिये सबसे बड़ा पर्यावरणीय खतरा वैश्विक स्तर पर बीमारी और मृत्यु का मुख्य कारण माना है। उन्होंने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक स्ट्डी के अनुसार विश्व की 99 प्रतिशत आबादी प्रदूषित हवा में सांस ले रही है। उन्होंने बताया कि वायु प्रदूषण पर नियंत्रण अत्यावश्यक है क्योंकि वायु प्रदूषण के कारण ही प्रतिवर्ष 70 लाख लोगों की मृत्यु हो जाती हैं।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web