‘फ्यूचरिस्टिक इंडिया सम्मिट 2022‘ में राज्यपाल मिश्र ने विशिष्ट जनों को किया सम्मानित 

संविधान की संस्कृति के प्रसार के लिए सभी मिलकर कार्य करें- राज्यपाल

 
‘फ्यूचरिस्टिक इंडिया सम्मिट 2022‘ में राज्यपाल मिश्र ने विशिष्ट जनों को किया सम्मानित 

जयपुर। राज्यपाल कलराज मिश्र ने संविधान की संस्कृति के प्रसार और राष्ट्र के विकास के लिए सभी से मिलकर कार्य करने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि इसी से नई पीढ़ी भारतीय संस्कृति के उदात्त जीवन मूल्यों से प्रत्यक्ष जुड़ सकती है। 

राज्यपाल मिश्र शनिवार को होटल रमाडा में ’मन की उड़ान’ संस्था द्वारा आयोजित ‘फ्यूचरिस्टिक इंडिया सम्मिट 2022‘ सम्मान समारोह में सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि संविधान की मूल प्रति की शुरुआत में ही भगवान राम, सीता और लक्ष्मण का चित्र है और नीति निर्देशक तत्वों से जुड़े अध्याय में भगवान श्रीकृष्ण के गीता उपदेश के चित्र हैं। इसी प्रकार संविधान के विभिन्न भागों में भी महापुरुषों के चित्र हैं। 

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

राज्यपाल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिवस पर बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में देश तेजी से हर क्षेत्र में विकास की ओर अग्रसर है। रक्षा, शिक्षा, उद्योग, खेल सहित सभी क्षेत्रों में भारत की उपलब्धियों को विश्वभर में सराहा जा रहा है। उन्होंने कहा कि आज विश्व भर में भारत की विशिष्ट पहचान बनी है। इसमें उद्यमियों, चिकित्सकों, साहित्यकारों, संस्कृतिकर्मियों, वैज्ञानिकों, इंजीनियरों सबका योगदान है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश में ‘आत्म निर्भर भारत’ जैसा अभियान चलाया गया ताकि देश आयात ही नहीं करें बल्कि निर्यातक के रूप में में हमारी पहचान बने। 

राज्यपाल मिश्र ने कहा कि अभी पूरा देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, ऐसे में हमें अपने अतीत से प्रेरणा लेते हुए भविष्य को संवारने का संकल्प लेना है। उन्होंने कहा कि हमें आजादी के लिए संघर्ष करने वाले और विभिन्न क्षेत्रों में देश का नाम रोशन करने वाले महापुरुषों के बारे में जानकर उनसे सीख लेने की जरूरत है।    

राज्यपाल ने कहा कि भारतीय संस्कृति में मानवता की सेवा को सर्वोच्च प्राथमिकता दी गयी है। कोविड महामारी के दौर में इसी भावना से चिकित्सकों, पुलिसकर्मियो और समाज सेवा से जुड़े लोगों ने कार्य किया और थमा हुआ जीवन फिर से पटरी पर लौट आया।  उन्होंने कहा कि जीवन में भी वही व्यक्ति निरंतर आगे बढ़ते हैं जो दूसरों के हित को ध्यान में रखते हुए कार्य करते हैं।

यह खबर भी पढ़ें: इस गांव में लोग एक-दुसरे को सीटी बजाकर बुलाते हैं, जो लोग सीटी नहीं बजा पाते...

राजस्थान लघु उद्योग विकास निगम के अध्यक्ष राजीव अरोड़ा ने कहा कि राज्य सरकार की निवेश हितैषी नीतियों से प्रदेश में औद्योगिक विकास को गति मिली है। इसी क्रम में प्रदेश में आगामी 7-8 अक्टूबर को राजस्थान में इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया जा रहा है।  

आरम्भ में राज्यपाल मिश्र ने गोल्डन एचीवर्स पत्रिका का लोकार्पण किया और संविधान की उद्देश्यिका और मूल कर्तव्यों का वाचन करवाया। उन्होंने इस अवसर पर कला, संस्कृति, उद्योग, खेल, शिक्षा, व्यवसाय, चिकित्सा, पर्यावरण आदि क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली विभूतियों को सम्मानित किया।

इस अवसर पर राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. सुधीर भण्डारी, ’मन की उड़ान’ संस्था के संरक्षक विजय किशोर बंसल, अध्यक्ष चंचल गुप्ता सहित गणमान्यजन उपस्थित रहे। 

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web