पत्रकारों के कल्याण हेतु सरकार ने उठाए महत्वपूर्ण कदम- सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री

जूली रविवार को प्रताप ऑडिटोरियम में दैनिक समाचार पत्र अरूणप्रभा के 42वें स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह को सम्बोधित कर रहें थे। 

 
पत्रकारों के कल्याण हेतु सरकार ने उठाए महत्वपूर्ण कदम- सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री

जयपुर। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री टीकाराम जूली ने कहा कि पत्रकारिता एक प्रतिष्ठित और चुनौतिपूर्ण पेशा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पत्रकार सम्मान पेंशन, पत्रकारों के बच्चों को छात्रवृति, चिरंजीवी योजना से जोडने जैसे महत्वपूर्ण कदम पत्रकार कल्याण हेतु उठाए हैं। जूली रविवार को प्रताप ऑडिटोरियम में दैनिक समाचार पत्र अरूणप्रभा के 42वें स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह को सम्बोधित कर रहें थे। उन्होंने कहा कि अरूणप्रथा समाचार पत्र सीमित संसाधनों के बावजूद पिछले 42 वर्षो से निरंतर आमजन की आवाज को बुलन्द करने का कार्य कर रहा है।

यह खबर भी पढ़ें: पुरुष और महिला को ये काम कभी नहीं करना चाहिए, वरना जाना पड़ेगा नरक

पूर्व केन्द्रीय मंत्री भंवर जितेन्द्र सिंह ने कहा कि बदलते परिवेश में पत्रकारिता का क्षेत्र व्यापक होने से समाचार पत्र प्रकाशन का कार्य अधिक जिम्मेदारीपूर्ण हो गया है। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए सिंह ने कहा कि लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ के रूप में मीडिया की भूमिका सदैव महत्वपूर्ण रही है। वर्तमान में जिस प्रकार से फेक न्यूज, सनसनीखेज न्यूज का सोशल मीडिया में बहाव आया है। ऐसी स्थिति में मीडिया की जिम्मेदारी और अधिक बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि समाचार पत्र में प्रकाशित समाचार को आमजन विश्वसनीय मानता है। अरूणप्रभा ने इस जिम्मेदारी पर निरंतर खरा उतरकर पाठकों के बीच अपनी विशेष पैठ बनाई है।

जिला प्रमुख बलबीर सिंह छिल्लर ने कहा कि मीडिया समाज का दर्पण है। मीडिया के सहयोग से ही कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी आमजन तक सहजता से पहुंचती है। शहर विधायक संजय शर्मा ने कहा कि अलवर का पत्रकारिता के क्षेत्र में विशिष्ट स्थान रहा है। दैनिक समाचार पत्र अरूणप्रभा ने अलवर से प्रकाशन प्रारम्भ कर भरतपुर एवं जयपुर तक निरंतर अपनी उपस्थिति दर्ज कर अलवर का नाम रोशन किया है।

कार्यक्रम में बीसूका के जिला उपाध्यक्ष योगेश मिश्रा, पं धर्मवीर शर्मा, नगर परिषद के सभापति घनश्याम गुर्जर, डॉ. केके शर्मा एवं आईपीएस महेश भारद्वाज ने अपने विचार व्यक्त किए।

यह खबर भी पढ़ें: इस गांव में लोग एक-दुसरे को सीटी बजाकर बुलाते हैं, जो लोग सीटी नहीं बजा पाते...

इस अवसर पर अतिथियों ने विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली प्रतिभाओं को सम्मानित किया जिसमें पदमश्री से सम्मानित उषा चौमर एवं सुर्य देव सिंह बारैठ, कवि विनित चौहान, शास्त्रिय नृत्यांगना अनुरिता झा, रिम भवाई अन्तरराष्ट्रीय कलाकार बनेसिंह प्रजापत, भपंग के अन्तरराष्ट्रीय कलाकार यूसुफ खान, राम सोनी व ओमप्रकाश गालव को प्रशस्ति पत्र, श्रीफल व शॉल उढाकर सम्मानित किया गया।

अरूणप्रभा के संस्थापक सुशील झालानी ने अतिथियों का अभिनंदन करते हुए दैनिक समाचार पत्र अरूणप्रभा की 42 वर्षाे की यात्रा के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता के मूल्यों को कायम रखते हुए अरूणप्रभा समाचार पत्र निरंतर पाठकों के विश्वास में खरा उतरा है और आगे भी अरूणप्रभा की टीम इसी प्रकार निष्पक्ष भाव से कार्य करती रहेगी। दैनिक समाचार पत्र अरूणप्रभा के सम्पादक सुनील बिज्जू ने आगन्तुकों का आभार जताया।

इस अवसर अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित रहें।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web