गहलोत बोले- Rahul अध्यक्ष बने तो Congress एकजुट रहेगी, पार्टी बिखर रही थी तब Sonia Gandhi को लाए

 
Ashok Gehlot

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gahlot) ने एक बार फिर गांधी परिवार से ही कांग्रेस अध्यक्ष (Congress President) बनाने की पैरवी की है। गहलोत ने कहा- गांधी परिवार की देश में आज क्रेडिबिलिटी है, इसलिए हर व्यक्ति चाहता है गांधी परिवार का अध्यक्ष बने। गांधी परिवार फैसला करते वक्त अपना पराया नहीं देखते, फैसला वही करते हैं जो पार्टी हित में हो। इसलिए सब कह रहे हैं कि राहुल गांधी अध्यक्ष बनें। हम सब लोग उनके पीछे इसलिए पड़े हैं कि राहुल गांधी अध्यक्ष बनेंगे तो पार्टी एकुजट रहेगी। गहलोत कन्याकुमारी में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा की शुरुआत से पहले मीडिया से बातचीत कर रहे थे।

गहलोत ने कहा- लोकसभा चुनाव में कामयाब नहीं हुए तो नैतिकता के आधार पद इस्तीफा दे दिया। वर्किंग कमेटी में राहुल गांधी ने कहा था कि अध्यक्ष नहीं बनूंगा, लेकिन कांग्रेस कहेगी वह काम करूंगा। हम चाहते हैं, वे अध्यक्ष बने,हम चुनौतियों का मुकाबला करेंगे।

यह खबर भी पढ़ें: भूल से महिला के खाते में पहुंचे 70 लाख डॉलर और फिर...

कांग्रेस बिखर रही थी, इसलिए सोनिया गांधी को लाए थे
गहलोत ने कहा- पिछले तीस साल से गांधी परिवार का कोई व्यक्ति पीएम, सीएम और मंत्री नहीं बना हो उस पर बीजेपी के लोग बेवजह आरोप लगाते हैं। सोनिया गांधी के पास पीएम बनने का चांस था, लेकिन उन्होंने मनमोहन सिंह को बनाया और खुद इनकार कर दिया। सोनिया गांधी की तो राजनीत में रुचि ही नहीं थी, कांग्रेस के नेताओं के आग्रह पर वे राजनीति में आईं थीं। मैं इस बात का गवाह हूं, हमें सोनिया गांधी को यह तक कहना पड़ा था कि आपने कांग्रेस की बागडोर नहीं संभाली तो इतिहास माफ नहीं करेगा। कांग्रेस बिखर रही थी, कांग्रेस को एकजुट करने हम सोनिया गांधी को लेकर आए थे।

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

राहुल गांधी प्यार मोहब्बत में यकीन करने वाला प्यारा इंसान : गहलोत
गहलोत ने कहा- राहुल गांधी प्यार मोहब्बत में यकीन करनेवाला गांधीवादी इंसान है। मैं राहुल गांधी के साथ रहा हूं, वह बहुत प्यारा इंसान है। इसीलिए राहुल गांधी भावुकता में संसद में पीएम मेदी से गले मिलने चले गए। मोदी अगर खड़े होकर गले लग जाते तो उनका बड़प्पन ही दिखता। करोड़ों खर्च करके राहुल गांधी की इमेज खराब करने सोशल मीडिया पर पांच हजार लोगों की टीम लगा रखी है। बीजेपी वाले जनसंघ के जमाने से ही कांग्रेस के नंबर वन नेता की इमेज खराब करने का अभियान चलाते रहे हैं।

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

गहलोत बोले-गृह-युद्ध की तरफ जा सकता है देश
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार और बीजेपी पर निशाना साधते हुए बढ़ते धार्मिक तनाव से आगे गृह युद्ध जैसे हालात पैदा हाेने की चेतावनी दी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा- बीजेपी और केंद्र सरकार के इरादे नेक नहीं हैं। देश में धर्म के और जाति के नाम पर आपसी नफरत पैदा हो चुकी है। ध्रुवीकरण इतना हो चुका है कि लोगों के बीच नफरत पैदा हो गई है। अगर इसको संभाला नहीं गया तो देश गृह युद्ध की तरफ जा सकता है।

माइनोरिटी के लोग आज डरे हुए
गहलोत ने कहा- आज मोहल्लों में जहां बहुसंख्यक लोग रहते हैं वहां माइनोरिटी के लोग डरे हुए रहते हैं, माइनोरिटी के लोगों के मन में चिंता रहती है कि हमारा क्या होगा। चाहे वे हिंदू हो या मुसलामान दोनों डरे रहते हैं। देश में इस तरह की घटनाएं होने लगी हैं वे सबके सामने हैं। लॉ एंड ऑर्डर बिगड़ रहा है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

गहलोत ने कहा- राहुल गांधी बार बार कहते हैं जहां डर होती हैं वहां हिंसा होती हैं। नफरत के कारण राहुल गांधी ने अपने पिता और दादी को खोया। ऐसा नौजवान जिसमें देश प्रेम भावना कूट कूट कर भरी है, वह कह रहा है कि मैं अपने प्यारे देश को नफरत की भेंट नहीं चढ़ने दूंगा। प्रधानमंत्री के पास अब भी समय है, वे राहुल गांधी की यात्रा के मैसेज को समझें। यह वक्त है हम किस प्रकार से हालात बदलें। वर्तमान पीढ़ी को देश का इतिहास सही तरीके से नहीं बताया तो वह कभी माफ नहीं करेगी।

देश का सामाजिक ताना बाना कमजोर हुआ, भगवान मोदी-शाह को सद‌्बुद्धि दें
गहलोत ने कहा- देश का सामाजिक ताना बाना कमजोर हो रहा है। इसके लिए ही राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा निकाली जा रही है। केंद्र सरकार हर मोर्चे पर फेल साबित हुई है। जीएसटी को तमाशा बना रखा है। महंगाई की मार कमर तोड़ चुकी है, देश में हाहाकार मचा है। भगवान करे हालत ऐसे नहीं बने, भगवान पीएम मोदी और अमित शाह को सद‌्बुद्धि दें।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web