शहरी विकास कार्यों का शिलान्यास: 9 सितम्बर से शुरू होगी इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना, प्रदेशभर में 1.5 लाख लोगों का योजना में पंजीकरण

- प्रदेशभर में 1.5 लाख लोगों का शहरी रोजगार गारंटी योजना में पंजीकरण
- जोधपुर में 354 करोड़ रूपये से होंगे विभिन्न सौन्दर्यीकरण व जीर्णोद्धार कार्य
 
शहरी विकास कार्यों का शिलान्यास: 9 सितम्बर से शुरू होगी इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना, प्रदेशभर में 1.5 लाख लोगों का योजना में पंजीकरण

जयपुर। प्रदेश में प्रत्येक व्यक्ति तक रोजगार के अवसर पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना की शुरूआत 9 सितम्बर 2022 से करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश के हर व्यक्ति को रोजगार मिले, हर परिवार खुशहाल हो इसी दिशा में निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। गहलोत मंगलवार को जोधपुर के उम्मेद राजकीय स्टेडियम में आयोजित शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने लोगों से राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ लेने का आग्रह किया।

गहलोत ने जोधपुर शहर में नवीन सीवर लाईन एवं सीवर सुदृ़ढ़ीकरण के लिए 340.03 करोड़ रूपये की तथा बाईजी का तालाब के संरक्षण व सौन्दर्यीकरण के लिए 14 करोड़ रूपये की विभिन्न परियोजना का शिलान्यास किया। उन्होंने जोधपुर के विकास के सफर पर विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि जोधपुर में एम्स, आई.आई.टी., एन.एल.यू. जैसे प्रतिष्ठित संस्थान उपलब्ध हैं। विकास के कार्य वैश्विक मापदण्डों के अनुरूप हो रहे हैं।

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना
मुख्यमंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना की तर्ज पर राज्य में ‘इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना‘ लागू करने की अभिनव पहल की गई है। अब तक इस योजना में लगभग 1.5 लाख लोगों द्वारा पंजीकरण कराया जा चुका है। केंद्र सरकार और अन्य राज्यों को भी ऎसी योजना शुरू करनी चाहिए, ताकि शहरी लोगों को भी रोजगार मिल सके।

यह खबर भी पढ़ें: अनोखी परम्परा: यहां सिर्फ जिंदा ही नहीं बल्कि मर चुके लोगों की भी की जाती है शादी

गहलोत ने जोधपुर में अंतरराष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर, आरटीओ आरओबी, मेहरानगढ़ किले की सड़क का काम, मेडिकल व पर्यटन हब बनाने के प्रयासों, एमडीएम अस्पताल में कैंसर इंस्टिट्यूट निर्माण, अस्पतालों के क्रमोन्नयन, रोडवेज बस स्टैण्ड, अनाज मण्डी में किसान कॉम्प्लेक्स, आयुर्वेद विश्वविद्यालय में पंचकर्म कॉम्प्लेक्स, 600 करोड़ रूपये की लागत से फिनटेक यूनिवर्सिटी, सूरसागर में कन्या महाविद्यालय तथा विश्वविद्यालय में पेट्रोकेमिकल्स के प्रशिक्षण की सुविधा सहित कई महत्वपूर्ण कार्यों का जिक्र किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में राजस्थान अग्रणी राज्य है। राजस्थान में पिछले 70 साल में 250 कॉलेज खुले, जबकि अकेले तीन साल में 210 कॉलेज खोले गए हैं। जिनमें से 94 कॉलेज लड़कियों के हैं। उन्होंने हर परिवार को मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीकरण कराने की अपील की। उन्होंने कहा कि किडनी ट्रांसप्लांट जैसे गंभीर मामलों में अतिरिक्त राशि की व्यवस्था भी राज्य सरकार कर रही है। इसके अलावा हर परिवार को प्रौद्योगिकी से जोड़ने के लिए प्रदेश की 1.33 करोड़ महिलाओं को तीन साल की इंटरनेट सेवाओं के साथ निःशुल्क स्मार्ट फोन भी दिये जाएंगे।

हर क्षेत्र में ऎतिहासिक विकास
जिला प्रभारी मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने जोधपुर शहर एवं जिले को दी जा रही सौगातों के लिए मुख्यमंत्री का आभार जताया। उन्होंने प्रदेश में हो रहे बुनियादी सेवाओं, संसाधनों और लोक सुविधाओं के विस्तार, युवाओं के भविष्य के लिए किए जा रहे प्रयासों, खोले जा रहे नवीन संस्थानों आदि की जानकारी दी और कहा कि प्रदेश में युवाओं को रोजगार के व्यापक अवसर मिल रहे हैं।

यह खबर भी पढ़ें: इस गांव में लोग एक-दुसरे को सीटी बजाकर बुलाते हैं, जो लोग सीटी नहीं बजा पाते...

राजस्थान पशुधन विकास बोर्ड के अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह सोलंकी ने जोधपुर की बहुप्रतीक्षित सीवरेज योजना को मूर्त रूप देने में मुख्यमंत्री की ओर से की गई पहल की सराहना की और कहा कि सरकार की योजनाएं जनता को राहत प्रदान कर रही हैं। विधायक मनीषा पंवार ने आमजन से मुख्यमंत्री द्वारा लागू योजनाओं का समुचित लाभ लेने का आह्वान किया। महापौर कुन्ती देवड़ा परिहार ने कहा कि शहरी विकास की दिशा में नए आयाम स्थापित होने के साथ ही जन सुविधाओं के व्यापक विस्तार के लिए लगातार प्रयास जारी हैं।

मुख्यमंत्री ने किया प्रदर्शनी का अवलोकन
मुख्यमंत्री ने उम्मेद राजकीय स्टेडियम में आयोजित शिलान्यास समारोह के अवसर पर लगाई गई जिलास्तरीय विकास प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। इसमें जिले में संचालित लोक कल्याणकारी योजनाओं व कार्यक्रमों को भी प्रदर्शित किया गया। गहलोत ने बाईजी का तालाब सौन्दर्यीकरण तथा सीवरेज तंत्र सुदृढ़ीकरण परियोजनाओं का भी जायज़ा लिया। उन्होंने उपस्थित आमजन की समस्याओं को सुन उनके त्वरित समाधान का आश्वासन दिया।

इस अवसर पर लोहावट विधायक किशनाराम विश्नोई, राजस्थान बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्षा संगीता बेनीवाल, रीको निदेशक सुनील परिहार, राजस्थान मेला प्राधिकरण के अध्यक्ष रमेश बोराणा, राजस्थान संगीत नाटक अकादमी की अध्यक्षा बिनाका मालू, पूर्व सांसद बद्रीराम जाखड़ तथा जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता सहित विभिन्न जन प्रतिनिधि, उच्चाधिकारी एवं आम जन उपस्थित रहे।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web