प्रदेश में हर साल होंगे ‘राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक’ खेल : मुख्यमंत्री

- मुख्यमंत्री ने किया ब्लॉक स्तरीय राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेलों का शुभारंभ
- जयपुर, चूरू एवं सीकर जिलों में किया ‘राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक’ खेल गतिविधियों का अवलोकन
- सीकर एवं चूरू में विभिन्न विकास कार्यों का किया शिलान्यास एवं लोकार्पण
 
प्रदेश में हर साल होंगे ‘राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक’ खेल : मुख्यमंत्री

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश सरकार संवेदनशील, पारदर्शी तथा जवाबदेह प्रशासन देने के साथ-साथ राज्य के चहुंमुखी विकास तथा आमजन के कल्याण के लिए पूरी प्रतिबद्धता से जुटी है। उन्होंने कहा कि राज्य में विकास कार्यों के लिए संसाधनों की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। राज्य में सरकार संसाधनों के कुशल प्रबंधन से शिक्षा, चिकित्सा, सड़क, बिजली, पानी, कृषि, रोजगार सहित सभी क्षेत्रों में बेहतरीन कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री ने सोमवार को चूरू जिले के राजगढ़ में ब्लॉक स्तरीय राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेलों का शुभारम्भ किया। उन्होंने सीकर जिले के खोटिया, चूरू जिले के राजगढ़ तथा जयपुर जिले के चौमूं में राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेलों की ब्लॉक स्तरीय प्रतिस्पद्र्धाओं का अवलोकन किया एवं खिलाड़ियों से मिलकर उनका उत्साहवद्र्धन किया।

a

मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि राज्य में नई खेल संस्कृति विकसित करने तथा ग्रामीण खेल प्रतिभाओं को प्रोत्साहन देने की सोच के साथ यह खेल आरंभ किए गए हैं। जल्द ही शहरी ओलंपिक खेलों का आयोजन भी होगा। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी ने खेल, आईटी और पंचायतीराज सशक्तीकरण जैसे क्षेत्रों में शानदार कार्य किया। उनके नाम से शुरू किए गए ग्रामीण ओलंपिक खेलों में हर आयु वर्ग के लोगों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। प्रदेश में हर साल इन खेलों का आयोजन किया जाएगा। राजस्थान में किया जा रहा यह प्रयोग अपने आप में ऎतिहासिक है।

यह खबर भी पढ़ें: महिलाएं अपने पतियों को उनके नाम से क्यों नहीं पुकारती? जानिए वजह

मुख्यमंत्री सोमवार को सीकर तथा चूरू जिलों में विभिन्न विकास कार्याें का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया। उन्होंने सीकर में लगभग 25 करोड़ रूपए के सड़क विकास कार्याें का लोकार्पण किया। साथ ही, उन्होंने 20.52 करोड़ रूपए की लागत से बरसाती पानी की निकासी के लिए ड्रेनेज कार्य तथा 19 करोड़ रूपए की लागत के सिटी नेचर पार्क का भी शिलान्यास किया। उन्होंने 7.50 लाख रूपए की लागत से बने महात्मा गांधी पुस्तकालय एवं वाचनालय का भी उद्घाटन किया। उन्होंने सीकर में उपस्वास्थ्य केन्द्र खोटिया को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में क्रमोन्नत करने, शहीद बाघसिंह उच्च माध्यमिक विद्यालय खोटिया में विज्ञान संकाय आगामी सत्र से प्रारंभ करने तथा एन.एच.-65 से रामगढ़-शेखावाटी-बिसाऊ बाइपास सड़क का सर्वे कर डी.पी.आर. बनाने की घोषणा की। वहीं चूरू जिले में लगभग 23 करोड़ की लागत के कुल 8 विकास कार्यों का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया। इसमें राजगढ़ में अंतर्राष्ट्रीय खेल स्टेडियम, राजकीय कन्या महाविद्यालय एवं कबड्डी अकादमी भवन, सिद्धमुख में राजकीय महाविद्यालय भवन तथा नवक्रमोन्नत तहसील कार्यालय, हमीरवास बड़ा में उप तहसील कार्यालय भवन, गागड़वास ग्राम पंचायत के भवन निर्माण का शिलान्यास तथा सुजानगढ़ में उपखंड अधिकारी कार्यालय के भवन निर्माण कार्य का लोकार्पण शामिल थे। उन्होंने आने वाले बजट में जयपुर के चौमूं को नगर पालिका से नगर परिषद में क्रमोन्नत करने तथा बीसलपुर बांध का पानी चौमूं पहुंचाने का प्रावधान करने का आश्वासन दिया।

aa

खेल एवं खिलाड़ियों के हित में सरकार कर रही कार्य
मुख्यमंत्री ने अपने उद्बोधन में कहा कि राज्य सरकार खेल एवं खिलाड़ियों के हित में प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक अपने आप में एक अभिनव पहल है। लगभग 30 लाख खिलाड़ियों ने ग्रामीण ओलंपिक खेलों में पंजीकरण करवाया है तथा 2 लाख से अधिक टीमें बनाई गईं। राज्य सरकार की नीतियों से प्रदेश में एक नई खेल संस्कृति विकसित हो रही है। खिलाड़ियों को प्रोत्साहन देने के लिए पदक विजेताओं को सरकारी नौकरियों में 2 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया गया है। पदक विजेता खिलाड़ियों को विभिन्न विभागों में आउट-ऑफ-टर्न नियुक्तियां दी गई हैं। ओलम्पिक खेलों में पदक जीतने वाले खिलाड़ियों की सम्मान राशि बढ़ाकर 3 करोड़ रूपए तक कर दी गई है। खिलाड़ियों का दैनिक भत्ता बढ़ाया गया है। प्रदेश के विभिन्न जिलों में उत्कृष्ट खेल इन्फ्रास्ट्रक्चर के निर्माण हेतु बजट, जमीन आवंटन, अभ्यास हेतु आवश्यक उपकरणों एवं सुविधाओं की उपलब्धता सरकार सुनिश्चित कर रही है। मेजर ध्यानचंद स्टेडियम योजना के तहत राज्य के प्रत्येक ब्लॉक में चरणबद्ध रूप से खेल स्टेडियम बनाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि खेल से जुड़ने पर व्यक्ति की इच्छाशक्ति प्रबल होती है तथा उसकी तत्काल निर्णय लेने की क्षमता और दूरदर्शिता का विकास होता है।

यह खबर भी पढ़ें: पुरुष और महिला को ये काम कभी नहीं करना चाहिए, वरना जाना पड़ेगा नरक

स्वास्थ्य में राजस्थान बन रहा मॉडल स्टेट
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने आमजन को महंगे इलाज से मुक्ति दिलाने के लिए चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना लागू की है। इसके माध्यम से आमजन 10 लाख रूपए तक का निःशुल्क इलाज ले रहेे हैं। किडनी, हार्ट, लीवर ट्रांसप्लांट जैसे महंगे इलाज में 10 लाख की सीमा समाप्त कर दी गई है। साथ ही, 5 लाख रूपए तक का दुर्घटना बीमा भी दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राजस्थान के गांव-ढाणी स्तर तक चिकित्सा सुविधाओं को मजबूत बनाने के लिए पीएचसी एवं सीएचसी स्तर तक आधारभूत सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनकल्याण के लिए संचालित की जा रही इन योजनाओं का ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार हो ताकि जानकारी के अभाव में कोई इनके लाभ से वंचित न रहे। राज्य सरकार द्वारा आईपीडी, ओपीडी में सभी प्रकार के उपचार निःशुल्क कर दिए गए हैं। प्रदेशवासियों की सिटी स्केन, एम.आर.आई. स्केन जैसी महंगी जांचें भी निःशुल्क की जा रही हैं। इन ऎतिहासिक निर्णयों से राज्य स्वास्थ्य के क्षेत्र में एक मॉडल स्टेट के रूप में उभरा है। जल्द ही राज्य सरकार ‘राइट टू हेल्थ’ बिल भी लेकर आ रही है।

c

प्रदेश सरकार कृषक कल्याण हेतु समर्पित
मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के लिए अलग से बजट प्रस्तुत करने वाला राजस्थान देश का पहला राज्य है। किसानों के लिए बजट दोगुना कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश मेें किसान मित्र ऊर्जा योजना के माध्यम से लाखों किसानों का बिजली बिल शून्य हो गया है। कृषक साथी योजना की राशि 2 हजार करोड़ से बढ़ाकर 5 हजार करोड़ रूपए की गई है ताकि इसका लाभ अधिक से अधिक किसानों को मिल सके। इसी प्रकार 50 यूनिट बिजली निःशुल्क किए जाने के फैसले से करीब 45 लाख उपभोक्ताओं का बिजली बिल शून्य हो गया है। उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियों से आज राज्य ने बिजली उत्पादन के क्षेत्र में अभूतपूर्व प्रगति की है।

यह खबर भी पढ़ें: अनोखी परम्परा: यहां सिर्फ जिंदा ही नहीं बल्कि मर चुके लोगों की भी की जाती है शादी

शिक्षा के क्षेत्र में राजस्थान अग्रणी
गहलोत ने कहा कि प्रदेश सरकार की नीतियों से शिक्षा के क्षेत्र में राजस्थान आज एक अग्रणी राज्य बनकर उभर रहा है। महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों के द्वारा वंचित तबके के विद्यार्थी अंग्रेजी भाषा में उत्कृष्ट शिक्षा निःशुल्क प्राप्त कर रहे हैं। राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना के माध्यम से राज्य सरकार ने 200 विद्यार्थियों के विदेश में निःशुल्क शिक्षा प्राप्त करने का प्रावधान किया है। आज प्रदेश के अनेक विद्यार्थी लाभान्वित होकर विदेश में पढ़ाई कर रहे हैं। गरीब छात्र-छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की निःशुल्क तैयारी के लिए मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना लाई गई है। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में भी राजस्थान लगातार प्रगति कर रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में प्रदेश में 210 महाविद्यालय खोले गए हैं, जिनमें 90 कन्या महाविद्यालय शामिल हैं।

d

शहरी रोजगार गारंटी योजना से मिलेगा शहरी बेरोजगारों को संबल
मुख्यमंत्री ने कहा कि शहरों में बेरोजगारी के संकट को दूर करने के लिए सरकार इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गांरटी योजना लेकर आई है। उन्होंने कहा कि इस योजना से शहरों में रह रहे बेरोजगारों को लाभ होगा।

मुख्यमंत्री ने किया गौशाला का अवलोकन
मुख्यमंत्री ने सीकर के खोटिया गांव में कपिला गौसेवा गौशाला का दौरा किया तथा वहां लम्पी स्किन डिजीज से जूझ रहे गौवंश की स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने व्यवस्थाओं का अवलोकन करते हुए डिजीज से ग्रसित गौवंश के बचाव के लिए उचित प्रबंध करने के दिशा-निर्देश दिए।

यह खबर भी पढ़ें: इस गांव में लोग एक-दुसरे को सीटी बजाकर बुलाते हैं, जो लोग सीटी नहीं बजा पाते...

राजस्थान राज्य क्रीड़ा परिषद की अध्यक्ष डॉ. कृष्णा पूनिया ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य के विकास हेतु बजट की कोई कमी नहीं आने दी है। राज्य में शिक्षा, खेल और स्वास्थ्य के क्षेत्र में लगातार विकास हो रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में खेलों के विकास और खिलाड़ियों के कल्याण के लिए उल्लेखनीय कदम उठाए गए हैं।

पूर्व शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेलों से प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में खेलों के लिए एक सकारात्मक माहौल तैयार हो रहा है। सभी आयु वर्गों के लोग उत्साह के साथ इसमें भाग ले रहे हैं।

e

चूरू जिले के प्रभारी मंत्री बृजेंद्र सिंह ओला ने कहा कि राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेल प्रदेश में खेलों की दिशा में क्रांतिकारी साबित होंगे। पूरे प्रदेश में इन खेलों का शानदार आयोजन हो रहा है। तारानगर विधायक नरेंद्र बुडानिया ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रत्येक वर्ग के कल्याण के लिए अभूतपूर्व काम किया है।

इस दौरान आयोजित कार्यक्रमों में वंशावली संरक्षण एवं संवर्धन अकादमी के अध्यक्ष रामसिंह राव, पूर्व राजस्थान राज्य महिला आयोग अध्यक्षा रेहाना रियाज, राजस्थान वक्फ बोर्ड अध्यक्ष डॉ खानूखान बुधवाली, आर्थिक पिछड़ा वर्ग बोर्ड अध्यक्ष अनिल शर्मा, नोहर विधायक अमित चाचान, शाहपुरा विधायक आलोक बेनीवाल, जमवारामगढ़ विधायक गोपाल मीणा, सुजानगढ़ विधायक मनोज मेघवाल, शिल्प व माटी कला बोर्ड के उपाध्यक्ष डूंगरराम गेदर, पूर्व विधायक चौमूं भगवान सहाय सैनी, पूर्व विधायक विराटनगर रामचन्द्र सराधना सहित विभिन्न जनप्रतिनिधि, अधिकारी, खिलाड़ी एवं बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित रहे।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web