आपातकालीन नंबर 112 के साथ काम करते रहेंगे 100 और 108- मुख्य सचिव

शर्मा शासन सचिवालय में आपातकालीन प्रतिक्रिया सहायता प्रणाली के क्रियान्वयन के लिए गठित स्टेट अपेक्स कमेटी की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रही थीं।

 
आपातकालीन नंबर 112 के साथ काम करते रहेंगे 100 और 108- मुख्य सचिव

जयपुर। मुख्य सचिव उषा शर्मा ने कहा कि प्रदेश में संचालित आपातकालीन नंबर 100 एवं 108 को राष्ट्रीय आपातकालीन प्रतिक्रिया प्रणाली 112 के साथ एकीकृत किया जाएगा, लेकिन यह नंबर भी काम करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि लोगों को 100 व 108 नंबर अच्छी तरह से याद हैं, अतः इन नंबर को आपात स्थिति के लिए काम में लिया जाता रहेगा। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की आपात स्थिति के लिए 112 भी डायल किया जा सकेगा। 

शर्मा आज गुरुवार को शासन सचिवालय में आपातकालीन प्रतिक्रिया सहायता प्रणाली के क्रियान्वयन के लिए गठित स्टेट अपेक्स कमेटी की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रही थीं।

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि प्रदेश में संचालित विभिन्न आपातकालीन नंबर 100,101,102,108,1090 (महिला हेल्पलाइन), 1098 (चाइल्ड हेल्पलाइन) को 112 के साथ एकीकृत किया जाए। 

टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर लोकेशन आधारित सेवाएं करें प्रदान
इस अवसर पर मुख्य सचिव ने कहा कि प्रदेश में संचालित चारों टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर बीएसएनल, एयरटेल, जिओ, वोडाफोन-आइडिया आपातकालीन नंबर पर कॉल करने की स्थिति में कॉल करने वाले की लोकेशन प्रदान करने की सेवाएं प्रदान करें ताकि आपात स्थिति में सहायता त्वरित गति से सटीक स्थान पर पहुंच सके। उन्होंने इस संबंध में अधिकारियों को निर्देशित किया। 

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

500 पुलिस मोबाइल यूनिट का शीघ्र होगा गठन
शर्मा ने कहा कि बजट घोषणा 2022-23 के अनुरूप प्रदेश में 108 एंबुलेंस की तर्ज पर शीघ्र ही 500 पुलिस मोबाइल यूनिट का गठन किया जाए। उन्होंने कहा कि ये मोबाइल यूनिट, फर्स्ट इमरजेंसी रिस्पांस सिस्टम के रूप कार्य करेंगी और व्यक्ति के पास पहुंच कर सहायता उपलब्ध कराएंगी। उन्होंने कहा कि इन मोबाइल यूनिट की विशेष ब्रांडिंग भी की जानी चाहिए ताकि इनकी विशिष्ट पहचान बन सके और अंतरराष्ट्रीय स्तर की सहायता प्रणाली उपलब्ध करवाई जा सके।

बैठक में अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह अभय कुमार, प्रमुख शासन सचिव वित्त अखिल अरोड़ा, शासन सचिव महिला एवं बाल विकास विभाग दिनेश यादव, शासन सचिव आपदा प्रबंधन आशुतोष पेडणेकर, अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस तकनीकी सेवाएं सुनील दत्त उपस्थित थे।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web