लेफ्टिनेंट बनी सेना में गलवां हीरो की पत्नी, जहां मिली पति को शहादत, वहीं मिली पहली तैनाती

 
Lieutenant  rekha

Army: लेफ्टिनेंट रेखा सिंह के पति नायक दीपक सिंह बिहार रेजीमेंट की 16वीं बटालियन में तैनात थे और साल 2020 में पूर्वी लद्दाख की गलवां घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई झड़प में बलिदान हो गए थे।

 

नई दिल्ली। गलवां में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच साल 2020 में हुई हिंसक झड़प में बिहार रेजीमेंट के नायक दीपक सिंह बलिदान हो गए थे। अब खबर आई है कि नायक दीपक सिंह की पत्नी रेखा सिंह, सेना में शामिल हो गई हैं और वह बतौर लेफ्टिनेंट सेना में कमीशन हुई हैं। खास बात ये है कि रेखा सिंह को पहली तैनाती पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर दी गई है।  

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

एक साल की ट्रेनिंग के बाद अफसर बनीं रेखा
रेखा सिंह ने चेन्नई स्थित ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी से एक साल की ट्रेनिंग पूरी की है, जिसके बाद उन्हें बतौर लेफ्टिनेंट सेना में शामिल किया गया है। बता दें कि लेफ्टिनेंट रेखा सिंह के पति नायक दीपक सिंह बिहार रेजीमेंट की 16वीं बटालियन में तैनात थे और साल 2020 में पूर्वी लद्दाख की गलवां घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई झड़प में बलिदान हो गए थे। नायक दीपक सिंह को मरणोपरांत 2021 में वीर चक्र से सम्मानित किया गया था। 

यह खबर भी पढ़ें: 'मेरे बॉयफ्रेंड ने बच्चे को जन्म दिया, उसे नहीं पता था वह प्रेग्नेंट है'

शादी के आठ महीने बाद ही शहीद हो गए थे दीपक सिंह
भारतीय सेना ने ट्वीट करके लिखा महिला कैडेट रेखा सिंह, दिवंगत नायक दीपक सिंह की पत्नी, भारतीय सेना में कमीशन हुई हैं। उन्होंने चेन्नई की ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी से अपनी ट्रेनिंग पूरी कर ली है। दीपक सिंह साल 2012 में सेना में शामिल हुए थे और बिहार रेजीमेंट में बतौर नर्सिंग स्टाफ तैनात थे। जनवरी 2020 में उनकी पोस्टिंग लद्दाख में हुई थी लेकिन करीब पांच महीने बाद ही चीनी सैनिकों के साथ मुठभेड़ में नायक दीपक सिंह शहीद हो गए थे। शहीद होने से आठ महीने पहले ही उनकी शादी रेखा सिंह से हुई थी। अब रेखा सिंह ने सेना में शामिल होकर नई मिसाल पेश की है। 

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web