सेमीकंडक्टर प्लांट को लेकर विपक्ष ने शिंदे सरकार को सवालों के कटघरे में लिया, जानिए क्या कहा...

अगर यह प्लांट महाराष्ट्र नहीं आया तो राज्य की आर्थिक स्थिति के लिए महंगा पड़ेगा। 

 
सेमीकंडक्टर प्लांट को लेकर विपक्ष ने शिंदे सरकार को सवालों के कटघरे में लिया, जानिए क्या कहा...

मुंबई। महाराष्ट्र में सियासत फिर गरमा गई है। मुद्दा 1.54 लाख करोड़ रुपए की लागत से लगने वाले सेमीकंडक्टर प्लांट का है। यह प्लांट महाराष्ट्र के बदले गुजरात में लग रहा है। इससे विपक्ष शिंदे सरकार से सवाल कर रहा है कि महाराष्ट्र से डील लगभग पक्की हो गई थी, तो यह प्लांट गुजरात कैसे चला गया? एनसीपी नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजीत पवार ने नाराजगी जताते हुए कहा कि यह प्लांट राजनीतिक दबाव में महाराष्ट्र से छीना गया है, जिसे वापस लाना होगा। अगर यह प्लांट महाराष्ट्र नहीं आया तो राज्य की आर्थिक स्थिति के लिए महंगा पड़ेगा। 

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

महाराष्ट्र ने फॉक्सकॉन और वेदांता को पुणे के तलेगांव में प्रोजेक्ट लाने के लिए 39 हजार करोड़ की छूट देने का ऑफर दिया था, जबकि गुजरात ने सिर्फ 29 हजार करोड़ रुपए। गुजरात सेमीकंडक्टर की पॉलिसी बनाने वाला इकलौता राज्य है। बजटीय प्रावधान भी किए। भारतीय उद्योग समूह वेदांता और ताइवान की इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी फॉक्सकॉन 1.54 लाख करोड़ रुपए के निवेश के साथ गुजरात में देश का पहला सेमीकंडक्टर प्लांट लगाएगी। जिसपर शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने कहा कि अघाड़ी सरकार ने इस परियोजना को बहुत मजबूती से आगे बढ़ाया था। मौजूदा सरकार ने निवेशकों का विश्वास खो दिया है, इसलिए वे यहां नहीं आ रहे हैं।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web