प्रधानमंत्री ने मप्र के लिए दिया नया स्लोगन, सीएम बोले MP शांति का टापू, जानिए और क्या कहा...

PM मोदी ने कहा- विकसित भारत के निर्माण में मप्र की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है। 
 
प्रधानमंत्री ने मप्र के लिए दिया नया स्लोगन, सीएम बोले MP शांति का टापू, जानिए और क्या कहा....

इंदौर। इंदौर में बुधवार को 2 दिनी ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट में पहले दिन कई बड़े करार हुए। बड़ी कंपनियों ने हजारों करोड़ के प्रस्ताव दिए हैं। इन पर अंतिम मुहर के लिए निगोसिएशन का दौर चला। अडानी ग्रुप, रिलायंस, आईटीसी सहित कई बड़ी कंपनियों ने मध्य प्रदेश में निवेश का ऐलान किया है। पुराने प्रोजेक्ट के विस्तार की भी घोषणा की गई हैं। अडानी ग्रुप ने 60 हजार करोड़ के निवेश की जानकारी दी। इससे पहले सुबह करीब 11 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअली समिट का उद्घाटन किया। PM मोदी ने कहा- विकसित भारत के निर्माण में मप्र की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है। मप्र आस्था और अध्यात्म से लेकर पर्यटन, स्किल डेवलपमेंट और एजुकेशन में अजब भी है, गजब भी है और सजग भी है।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

PM मोदी ने कहा, ये समिट तब हो रही है जब भारत की आजादी का अमृत काल शुरू हो चुका है। हम सभी मिलकर विकसित भारत के निर्माण के लिए जुटे हुए हैं। जब हम विकसित भारत की बात करते हैं तो ये हमारा सिर्फ एस्पीरेशन नहीं बल्कि हर भारतीय का संकल्प है। भारत विश्व के कई देशों से बहुत अच्छी स्थिति में है। भारत इस साल जी-20 ग्रुप में भी बढ़ती हुई इकॉनोमी वाला देश है। एक ताजा सर्वे में बताया गया कि विश्व के ज्यादातर इनवेस्टर्स भारत को पसंद कर रहे हैं। भारत इज ऑफ लिविंग एंड ईज ऑफ बिजनेस पर काम कर रहा है।साथ 

यह खबर भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश में घूमने की कुछ बेहतरीन जगहें, जो आपकी यात्रा को बना देंगी यादगार और मजेदार

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा, एमपी शांति का टापू है। ये ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट सचमुच ग्लोबल है। 10 देशों ने भाग लिया है। दुनिया के 33 देशों के प्रतिनिधि हैं। 84 देशों के डेलीगेट आए हैं। सीएम बोले, लंदन वालों ने कहा, इंदौर की सड़कें तो लंदन से अच्छी हैं। मप्र हिंदुस्तान की स्वच्छ राजधानी है। भारत की जीएसटी में हमारा योगदान है। ये 4.6 परसेंट है। हमारा एक्सपोर्ट 60 हजार करोड़ से ज्यादा का हुआ है। भावी इनवेस्टमेंट के लिए ये प्लेटफार्म में सबको मिलाने का। मप्र को 550 बिलियन डॉलर की इकॉनोमी बनाएंगे। सुविधाओं के लिहाज से देखें तो नंबर वन हैं। 2 लाख हेक्टेयर जमीन का लैंड बैंक है हमारे पास। इनवेस्टर्स नक्शे पर उंगली रखकर कह दें, ये जमीन हमें चाहिए हम दे देंगे। हम उनको 24 घंटे में आवंटित करके दे देंगे। शिवराज ने आगे कहा, मप्र शांति का टापू है। एक जमाना था जब यहां अशांति थी। जब भाजपा ने सरकार बनाई तो मैंने कह दिया प्रदेश में या तो डाकू रहेंगे या शिवराज रहेगा। सभी डाकुओं का सफाया कर दिया। उसके बाद डाकू पनप नहीं पाए। इंदौर का सराफा हमने 24 घंटे के लिए खोल दिया है। लोग रात के 2 बजे भी जाते हैं वहां।

यह खबर भी पढ़ें: अनोखी शादी: प्रेमी ने प्रेमिका के शव से रचाई शादी, पहले भरी मांग फिर पहनाई जयमाला, जानिए पूरा मामला...

तो वहीं, फोर्ड मोटर्स ग्रुप के चेयरमैन अभय फिरोदिया ने कहा, मेरा और मेरे उद्योग का मप्र से 35 वर्ष से संबंध है। जब हम यहां आए तो भारत सरकार ने जबरन भेजा था। पहले 15 वर्ष कठिन थे। न पानी था, न बिजली। सरकार की ओर से सुनवाई नहीं होती थी। अब मप्र बदल गया है। मप्र का जो उत्कर्ष हुआ उसके कई कारण हैं। पहला मुद्दा लोग हैं। मप्र के संस्कार और समाज मेरी दृष्टि से भारतीय मूल्यों से समृद्ध है। यहां आप कौन हैं, इससे फर्क नहीं पड़ता। मप्र के लोगों का डेडिकेशन, कमिटमेंट सब उच्च कोटी की लगती है। मप्र के विकास में यहां की जनता का सबसे बड़ा योगदान है। इंदौर शहर को मैंने टूटा फूटा गंदा देखा है। आज भारत का सबसे स्वच्छ शहर है। इसमें लोगों का इन्वॉल्वमेंट जबरदस्त है। किसी भी उद्योगपति को सोचना होगा ऐसा वातावरण कहां मिलेगा। 

यह खबर भी पढ़ें: OMG: 83 साल की महिला को 28 साल के युवक से हुआ प्यार, शादी के लिए विदेश से पहुंची पाकिस्तान

फिरोदिया ने आगे कहा, दूसरी बात प्लेस है। मप्र सेंट्रल में है। जैसे भारत बढ़ेगा, मप्र भी बढ़ेगा। इंफ्रास्ट्रक्चर भी जरूरी है। ये मप्र में सुधरा है। पॉलिसीज सरकार किस तरह से इसे देखती है। ये भी देखना जरूरी है कि एम्प्लायमेंट स्टेबल है क्या, यहां की ब्यूरोक्रेसी ने भी उद्योग की तरफ आस्था से देखा और मदद करती है। तीसरी बात, मध्यप्रदेश को MP कहते हैं। मेरे मन में एक बात है कि मध्यप्रदेश को मॉडल प्रदेश कहा जाए। इसका नाम बदला जाए। यहां जो हुआ है वो मॉडल ही है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web