Pak Violates Ceasefire: शेख हसीना की भारत यात्रा से तिलमिलाया पाकिस्तान; LoC पर की गोलीबारी, BSF ने दिया करारा जवाब

 
bsf ceasefire violetion

नाम नहीं छापने की शर्त पर एक अधिकारी ने कहा कि पिछले डेढ़ साल में पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा गोलीबारी की कोई घटनाएं नहीं हुई हैं। लेकिन मंगलवार को पाकिस्तान के द्वारा इस समझौते को तोड़ा गया।

नई दिल्ली। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना भारत की यात्रा पर हैं। इस सियासी घटनाक्रम को पाकिस्तान नहीं पचा पा रहा है। पाकिस्तानी रेंजर्स ने मंगलवार सुबह जम्मू-कश्मीर के अरनिया सेक्टर में सीमा सुरक्षा बल के गश्ती दल पर गोलीबारी की। घटनाक्रम से वाकिफ लोगों ने बताया कि बीएसएफ ने भी इसका मुंहतोड़ जवाब दिया है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

बीएसएफ प्रवक्ता की ओर से जारी एक बयान में कहा गया ह, ''आज सुबह बीएसएफ जवानों ने अरनिया सेक्टर में गश्ती दल पर पाक रेंजरों की गोलीबारी का करारा जवाब दिया है।''

भारत और पाकिस्तान 24 फरवरी, 2021 को जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) और अंतर्राष्ट्रीय सीमा (आईबी) के साथ-साथ अन्य क्षेत्रों में सीमा पार से गोलीबारी से संबंधित सभी समझौतों का सख्ती से पालन करने को लेकर सहमत हुए थे।

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

नाम नहीं छापने की शर्त पर एक अधिकारी ने कहा कि पिछले डेढ़ साल में पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा गोलीबारी की कोई घटनाएं नहीं हुई हैं। लेकिन मंगलवार को पाकिस्तान के द्वारा इस समझौते को तोड़ा गया। सीमा पर यह घटना ऐसे दिन में हुई है जब बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना भारत दौरे पर हैं।

एक दूसरे अधिकारी ने कहा कि एलओसी (नियंत्रण रेखा) और आईबी (अंतरराष्ट्रीय सीमा) पर पाकिस्तान द्वारा अकारण गोलीबारी और संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं के दौरान भारतीय सेना और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) द्वारा तत्काल और प्रभावी जवाबी कार्रवाई की जाती है।

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

2021 के समझौते से पहले 2020 में संघर्ष विराम उल्लंघन की 5,133, 2019 में 3,479 और 2018 में 2,140 घटनाएं हुई थीं। हालांकि ये घटनाएं पिछले साल घटकर 700 के आसपास रह गईं। 2022 के आंकड़े अभी उपलब्ध नहीं हैं।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web