PM Modi ने महाराष्ट्र को दी 38800 करोड़ की सौगात, बोले- दुनिया को भारत के बड़े-बड़े संकल्पों पर भरोसा

इस मौके पर PM मोदी ने कहा कि, आजादी के बाद पहली बार नए भारत के पास बड़े सपने हैं और उन्हें साकार करने का साहस है। 

 
PM Modi ने महाराष्ट्र को दी 38800 करोड़ की सौगात, बोले- दुनिया को भारत के बड़े-बड़े संकल्पों पर भरोसा

मुंबई। PM नरेंद्र मोदी गुरुवार को मुंबई पहुंचे। यहां उन्होंने 38,800 करोड़ रुपए से अधिक की परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया। PM मोदी ने मुंबई मेट्रो लाइन 2A और 7 का उद्घाटन किया। इसमें अंधेरी से दहिसर तक फैला 35 किलोमीटर लंबा एलिवेटेड कॉरिडोर भी शामिल है। इस मौके पर PM मोदी ने कहा कि, आजादी के बाद पहली बार नए भारत के पास बड़े सपने हैं और उन्हें साकार करने का साहस है। पिछली शताब्दी का एक लंबा समय गरीबी पर चर्चा करने, दुनिया से मदद मांगने और किसी तरह जीने में बीता। स्वतंत्र भारत के इतिहास में पहली बार दुनिया ने भारत के संकल्पों पर भरोसा किया।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

भारत को लेकर दुनिया में इतनी सकारात्मकता इसलिए है क्योंकि आज सभी को लगता है कि भारत अपने सामर्थ्य का बहुत ही उत्तम तरीके से सदुपयोग कर रहा है। आज भारत अभूतपूर्व आत्मविश्वास से भरा हुआ है। हमने वो जमाना देखा है जब गरीबों के कल्याण का पैसा भ्रष्टाचार में चला जाता था। टैक्स पेयर्स से प्राप्त टैक्स को लेकर कोई संवेदनशीलता नहीं थी। इसका नुकसान करोड़ों नागरिकों को उठाना पड़ा। पिछले 8 सालों में हमने इस एप्रोच को बदल दिया है। आज भारत भविष्य की सोच और आधुनिक दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए अपने भौतिक और सामाजिक बुनियादी ढांचे पर खर्च कर रहा है।

यह खबर भी पढ़ें: विधवा बहू की ससुर ने फिर से कराई शादी, बेटी की तरह कन्यादान भी किया; गिफ्ट में दी कार

PM मोदी ने कहा, हमारे देश में दशकों तक करोड़ों छोटे किसान भी हर सुख-सुविधा से वंचित रहे, सरकारी नीतियों में उनका ध्यान तक नहीं रखा गया। आज वही छोटे किसान देश की कृषि नीति की सबसे बड़ी प्राथमिकता हैं। पहले की सरकार ने जिन जिलों को पिछड़ा घोषित किया, उन जिलों में हमने विकास की आकांक्षा को प्रोत्साहित किया। देश अगले 25 वर्षों के नए संकल्पों को सिद्ध करने के लिए आगे बढ़ रहा है। ये 25 साल देश के प्रत्येक व्यक्ति के लिए अमृतकाल है, प्रत्येक राज्य के लिए अमृतकाल है। PM ने आगे कहा कि जब जल जीवन मिशन शुरू हुआ था, तब 18 करोड़ ग्रामीण परिवारों में से केवल 3 करोड़ ग्रामीण परिवारों के पास नल के पानी का कनेक्शन था। आज देश के करीब 11 करोड़ ग्रामीण परिवारों को नल से पानी मिल रहा है। सूरत-चेन्नई इकोनॉमी कॉरिडोर का जो हिस्सा कर्नाटक में पड़ता है, उस पर भी आज काम शुरू हो गया है। इससे यादगिरि, रायचूर और कलबुर्गी जैसे इलाकों में लोगों को रोजगार मिलेगा।

यह खबर भी पढ़ें: OMG: 83 साल की महिला को 28 साल के युवक से हुआ प्यार, शादी के लिए विदेश से पहुंची पाकिस्तान

दहिसर ई और डीएन नगर (पीली लाइन) को जोड़ने वाली मेट्रो लाइन 2A लगभग 18.6 किलोमीटर लंबी है, जबकि अंधेरी ई - दहिसर ई (लाल लाइन) को जोड़ने वाली मेट्रो लाइन 7 लगभग 16.5 किलोमीटर लंबी है। इन लाइनों की आधारशिला भी प्रधानमंत्री ने 2015 में रखी थी। दोनों लाइनों की परियोजना करीब 12,600 करोड़ रुपए की है। प्रधानमंत्री ने मुंबई में 7 सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट, रोड कॉन्क्रीटिंग प्रोजेक्ट और छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस के पुनर्विकास की आधारशिला रखी। प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राजमार्ग,150सी के 65.5 किलोमीटर खंड की आधारशिला भी रखी। छह लेन की यह ग्रीनफील्ड सड़क परियोजना सूरत चेन्नई एक्सप्रेसवे का हिस्सा है। इसे बनाने में करीब 2,000 करोड़ रुपए की लागत आ रही है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web