शिक्षक दिवस पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, आज के युवा का जीवन शिक्षकों के हाथ में है...

देश सही दिशा में आगे बढ़ रह है। हमारी नई शिक्षा नीति की दुनिया में बहुत सराहना की जा रही है।

 
शिक्षक दिवस पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, आज के युवा का जीवन शिक्षकों के हाथ में है...

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिक्षक दिवस पर राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति बनाने में हमारे टीचर्स का बहुत बड़ा रोल रहा है। देश सही दिशा में आगे बढ़ रह है। हमारी नई शिक्षा नीति की दुनिया में बहुत सराहना की जा रही है। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन को पछाड़कर हमारा दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनना इसलिए विशेष है क्योंकि उस देश ने हम पर 250 सालों तक शासन किया है। मोदी ने कहा कि अगर कोई बच्चा स्कूल में कुछ और देखता हो और घर में कुछ, तो वह संघर्ष में फंस जाता है। उन्हें इस भ्रम से बाहर निकालने के लिए कोई इंजेक्शन नहीं है। एक शिक्षक में सकारात्मकता की ताकत होती है। वह हमेशा छात्रों को चुनौतियों का सामना करने के लिए प्रेरित करते हैं। इससे उन्हें हर चुनौती से निपटने में मदद मिलती है। जो सपने पूरे नहीं हो सकते हैं। एक सच्चा शिक्षक वह सपने देखने के लिए प्रेरित करता है।

यह खबर भी पढ़ें: बैलगाड़ी में सवार बरातियों संग पालकी से ससुराल पहुंचा दूल्हा, देखने के लिए उमड़ी लोगों की भीड़

उन्होंने आगे कहा, भारत एजुकेशन इकोसिस्टम को मजबूत बनाने के लिए सही दिशा में आगे बढ़ रहा है। देश में न केवल स्टूडेंट्स को एजुकेट करना है बल्कि उनके जीवन में बदलाव भी लाना है। हमारी नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति की दुनिया भर में सराहना हो रही है। लोग यह देखने में सक्षम हैं कि भारत अपने शिक्षा तंत्र को मजबूत करने के लिए सही दिशा में कैसे आगे बढ़ रहा है। हमें न केवल छात्रों को शिक्षित करना है बल्कि उनके जीवन को बदलना भी है। एक सफल शिक्षक वह होता है जिसके लिए हर छात्र समान होता है और कोई पसंद या नापसंद नहीं होती। आज जब देश आजादी के अमृतकाल के अपने विराट सपनों को साकार करने में जुट चुका है, तब शिक्षा के क्षेत्र में राधाकृष्णन जी के प्रयास हम सभी को प्रेरित करते हैं। उन्होंने कहा कि नीति तैयार करने में हमारे शिक्षकों ने बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। यह हमारे शिक्षकों पर निर्भर है कि वे हमारे युवाओं को तैयार करें, जो यह तय करेंगे कि 2047 तक 'अमृत काल' में भारत कैसा दिखेगा।

यह खबर भी पढ़ें: इस मंदिर में कभी नहीं की जाती है भगवान की पूजा, वजह जानकर आप भी रह जाएंगें दंग

उन्होंने शिक्षक दिवस पर राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त सभी शिक्षकों बधाई दी। उन्होंने कहा कि एक शिक्षक की भूमिका व्यक्ति को रोशनी दिखाने की होती है, फिर वो सपने बोता है। ये हमारा सौभाग्य है कि हमारे वर्तमान राष्ट्रपति भी शिक्षक हैं। उनका जीवन शिक्षक के रूप में बीता है। साथ ही पीएम ने ऐलान किया कि प्रधानमंत्री स्कूल्स फॉर राइसिंग इंडिया (पीएम-श्री) योजना के तहत देशभर में 14,500 स्कूलों का विकास और अपग्रेडेशन किया जाएगा।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web