Money Laundering Case: मनी लॉन्ड्रिंग केस में कोर्ट ने ED से पूछा, अगर सबूत हैं तो जैकलीन को अरेस्ट क्यों नहीं किया, जानिए पूरा मामला...

सुनवाई के वक्त पटियाला हाउस कोर्ट में जैकलीन के साथ पिंकी ईरानी भी मौजूद थीं।
 
Money Laundering Case: मनी लॉन्ड्रिंग केस में कोर्ट ने ED से पूछा, अगर सबूत हैं तो जैकलीन को अरेस्ट क्यों नहीं किया, जानिए पूरा मामला...

नई दिल्ली। बॉलीवुड एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडीज की 200 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग केस में नियमित जमानत याचिका पर आज यानी 11 नवंबर को फैसला आएगा। इस केस में गुरुवार को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान ED ने कहा कि जैकलीन के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं, इसलिए उन्हें नियमित जमानत न दी जाए। इस पर कोर्ट ने ED से पूछा कि अगर सबूत हैं तो आपने जैकलीन को अब तक अरेस्ट क्यों नहीं किया? सुनवाई के वक्त पटियाला हाउस कोर्ट में जैकलीन के साथ पिंकी ईरानी भी मौजूद थीं। पिंकी पर सुकेश से पैसा लेकर जैकलीन तक पहुंचाने का आरोप है। तो वही ED की तरफ से वकील ने कहा कि जैकलीन एक विदेशी नागरिक हैं। उनका परिवार श्रीलंका में रहता है। जैकलीन ने दिसंबर 2021 में भागने की भी कोशिश की थी।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

जैकलीन ने कोर्ट रूम में अपने बचाव में कहा, 'इस मामले में जांच एजेंसी को मैंने पूरा सहयोग किया है। मैंने खुद इस मामले में सरेंडर किया, लेकिन ED ने मुझे सिर्फ परेशान किया है। मैं अपने काम के सिलसिले में विदेश जाती रहती हूं, लेकिन मुझे विदेश जाने से रोक दिया गया। मुझे अपने परिवार वालों से भी नहीं मिलने दिया जा रहा है। जैकलीन ने आगे कहा, 'मैंने इन सब बातों के लिए जांच एजेंसी को ईमेल किया था, लेकिन उसका भी जवाब नहीं दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि मैं देश छोड़कर भागने वाली हूं। फिर उन्होंने मुझे LOC (लुक आउट सर्कुलर) जारी कर रोक दिया। ED के सारे आरोप बेबुनियाद हैं।'

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

तो वही मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ED का मानना है कि जैकलीन को शुरू से ही पता था कि इस केस का मुख्य आरोपी सुकेश चंद्रशेखर ठग है और वह जबरन वसूली करता है। इनकी कई प्राइवेट फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं, जिसके बाद ED ने जैकलीन से पूछताछ की और दोनों की फोटोज को सबूत के रूप में रखा। साथ ही पटियाला हाउस कोर्ट ने 22 अक्टूबर को जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए जैकलीन को अंतरिम जमानत दी थी। तब भी ED ने जमानत के फैसले का विरोध किया था। एजेंसी ने आरोप लगाया था कि जैकलीन ने कभी भी जांच में सहयोग नहीं किया, सबूत सामने आने पर ही सब खुलासे हुए। ED का ये भी कहना था कि उन्होंने भारत से भागने के लिए काफी कोशिश की थी, लेकिन LOC जारी होने के कारण ऐसा नहीं कर सकीं।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web