Kunal Kamra ने दिया विश्व हिंदू परिषद को चैलेंज, कहा- 'सच में भारत की संतान हो तो कहो...'

 
Kunal Kamra

Kunal Kamra: लोकप्रिय स्टैंडअप कॉमेडियन कुणाल कामरा ने अपने गुरुग्राम के शो रद्द होने पर प्रतिक्रिया दी है। दरअसल, विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के विरोध के चलते गुरुग्राम में कुणाल कामरा का 17 और 18 सितंबर को होने वाला शो रद्द हो गया है।

नई दिल्ली। Kunal Kamra: लोकप्रिय स्टैंडअप कॉमेडियन कुणाल कामरा ने अपने गुरुग्राम के शो रद्द होने पर प्रतिक्रिया दी है। दरअसल, विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के विरोध के चलते गुरुग्राम में कुणाल कामरा का 17 और 18 सितंबर को होने वाला शो रद्द हो गया था। अब इसे लेकर कुणाल ट्विटर के माध्यम से वीएचपी को एक खुला पत्र लिखा है। पत्र में कुणाल कामरा ने लिखा है कि उन्होंने कभी भी हिंदू देवी-देवताओं का मजाक नहीं बनाया। कुणाल ने लिखा, 'आपने मेरा शो क्लब मालिक को धमकी देकर कैंसिल करा दिया। मैं क्लब मालिक को क्या दोष दूं उसको बेचारे को तो बिजनेस करना है, वह गुंडों से कैसे उलझेगा और पुलिस के पास भी नहीं जाएगा क्योंकि अब पूरा सिस्टम आपका है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

'भारत की संतान हो तो गोड़से मुर्दाबाद लिखो'
अपने खुले पत्र में कुणाल कामरा ने लिखा, 'मैं अपने और भगवान के बीच के रिश्ते का वैसे तो कोई टेस्ट जरूरी नहीं समझता, लेकिन फिर एक टेस्ट तुम्हारा लेता हूं। मैं जोर से और गर्व से जय श्री सीता राम और जय राधा कृष्ण कहता हूं। अब अगर तुम सच में भारत की संतान हो तो गोड़से मुर्दाबाद लिख कर भेजो। नहीं तो मैं समझूंगा कि तुम लोग हिंदू विरोधी और आतंक समर्थक हो। कहीं तुम गोड़से को भगवान तो नहीं मानते? अगर मानते हो तो आगे भी मेरे शो रद्द करते रहना।


यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

'मैं अपनी मेहनत की रोटी खाऊंगा'
कुणाल कामरा ने अपने लेटर में आगे लिख, 'मैं कुछ भी करूंगा, लेकिन अपनी मेहनत की रोटी खाऊंगा क्योंकि मुझे तुमसे बड़ा हिंदू होने के नाते लगता है कि किसी को डरा धमका कर टुकड़े खाना पाप है।' कुणाल कामरा का ये खुला लेटर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस पर लोगों के तरह-तरह के मैसेज भी आ रहे हैं।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web