गुलाम नबी आज़ाद के बाद जम्मू-कश्मीर कांग्रेस में लगी इस्तीफों की झड़ी, अब तक 100 से ज्यादा इस्तीफे

सोनिया गांधी को लिखे इस्तीफे में बताया है कि कैसे पार्टी को लीडरशिप का संकट झेलना पड़ रहा है। 

 
गुलाम नबी आज़ाद के बाद जम्मू-कश्मीर कांग्रेस में लगी इस्तीफों की झड़ी, अब तक 100 से ज्यादा इस्तीफे

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पूर्व उप मुख्यमंत्री ताराचंद सहित केंद्र शासित प्रदेश के 65 वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने गुलाम नबी आजाद के समर्थन में मंगलवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद अब बुधवार को भी 42 नेताओं ने पार्टी छोड़ दी है। इन सभी नेताओं का कहना है कि वह आजाद की नई बनने वाली पार्टी में शामिल होंगे। इस तरह गुलाम नबी आजाद के समर्थन में अब तक पार्टी के 100 से ज्यादा नेता इस्तीफा दे चुके हैं। इन सभी नेताओं ने सोनिया गांधी को साझा इस्तीफा लिखा है।

यह खबर भी पढ़ें: अनोखी परम्परा: यहां सिर्फ जिंदा ही नहीं बल्कि मर चुके लोगों की भी की जाती है शादी

आजाद के समर्थन में यह फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि हमने सोनिया गांधी को लिखे इस्तीफे में बताया है कि कैसे पार्टी को लीडरशिप का संकट झेलना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि हाईकमान जिस तरह से काम कर रहा है, उससे पार्टी तबाह हो गई है। ताराचंद ने कहा कि कभी कांग्रेस जम्मू-कश्मीर और देश में मजबूत विपक्ष थी, लेकिन अब वह हर गुजरते दिन के साथ गिरती जा रही है।

बलवान सिंह ने कहा, ‘‘हमने गुलाम नबी आजाद के समर्थन में अपना संयुक्त इस्तीफा पत्र सोनिया गांधी को भेज दिया है।” गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद ने कांग्रेस में करीब पांच दशक से चल रही पारी को शुक्रवार को समाप्त करने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि पार्टी ‘‘वृहद पैमाने पर नष्ट” हो चुकी है।

यह खबर भी पढ़ें: इस गांव में लोग एक-दुसरे को सीटी बजाकर बुलाते हैं, जो लोग सीटी नहीं बजा पाते...

गुलाम नबी आजाद 4 सितंबर को जम्मू में एक रैली को संबोधित करने वाले हैं। कांग्रेस छोड़ने के बाद यह उनका पहला सार्वजनिक कार्यक्रम होगा। माना जा रहा है कि इस रैली के दौरान वह अपनी पार्टी का ऐलान कर सकते हैं। अहम बात यह है कि 4 सितंबर को ही दिल्ली में राहुल गांधी 'महंगाई पर हल्ला बोल' रैली को संबोधित करने वाले हैं। आजाद के कार्यक्रम के चलते कांग्रेस का यह विरोध प्रदर्शन प्रभावित होगा। गुलाम नबी आजाद ने इस्तीफे के बाद कहा था कि यह तो अभी शुरुआत है। इसका मतलब यह निकाला जा रहा है कि आने वाले दिनों में उनकी ओर से कांग्रेस पर हमलों में इजाफा हो सकता है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web