8 चीते तो आ गए लेकिन 8 सालों में 16 करोड़ रोजगार क्यों नहीं आए? Rahul Gandhi ने पूछा सवाल

 
rahul gandhi

भारत में करीब 74 साल बाद चीते आ गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कूनो नेशनल पार्क में नामीबिया से आए चीतों को छोड़ा। वहीं चीतों की वापसी के लिए कांग्रेस पीएम मोदी के साथ ही मनमोहन सिंह, जयराम रमेश और रिटायर्ड आईएएस रंजीत सिंह को भी श्रेय दे रही है। देश में 1947-48 के दौरान आखिरी बार चीतों को देखा गया था। 1952 में सरकार ने चीतों को आधिकारिक तौर पर विलुप्त घोषित कर दिया था।

नई दिल्ली। चीतों के भारत में आने को लेकर अब उस पर राजनीति शुरू हो गई है। भारत जोड़ो यात्रा पर निकले कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट कर बीजेपी पर हमला बोला। उन्होंने लिखा- 8 चीते तो आ गए, अब ये बताइए, 8 सालों में 16 करोड़ रोजगार क्यों नहीं आए? युवाओं की है ललकार, ले कर रहेंगे रोजगार। #राष्ट्रीय_बेरोजगार_दिवस। मालूम हो कि कांग्रेस शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन ‘राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस’ के रूप में मन रही है।

यह खबर भी पढ़ें: बेटी से मां को दिलाई फांसी, 13 साल तक खुद को अनाथ मानती रही 19 साल की बेटी, जाने क्या था मामला

वहीं सपा अध्यक्ष और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट कर चुटकी ली। उन्होंने लिखा- सबको इंतजार था दहाड़ का...पर ये तो निकला बिल्ली मौसी के परिवार का।

तीन दिन पहले AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने भी चीतों के भारत में आने पर पीएम मोदी पर तंज कसा था। ओवैसी ने चुटकी लेते हुए कहा था कि देश में जब हम बेरोजगारी की बात करते हैं, मोदी चीता को भी पीछे छोड़ देते हैं। जब चीन को लेकर सवाल पूछते हैं, वे चीता से तेज भागते हैं। ऐसे मामलों में वे काफी तेज हैं। बोलने के मामले में भी वे काफी तेज हैं। हम तो कह रहे हैं कि वे थोड़ा धीमा हो जाएं।

rahul gandhi job tweet

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

कूनो नेशनल पार्क में पीएम मोदी ने छोड़े 8 चीते
पीएम नरेंद्र मोदी ने आज अपने जन्मदिन के मौके पर कूनो नेशनल पार्क में चीतों को छोड़ा। नामीबिया से इन चीतों को लेकर पहले विशेष मालवाहक विमान से ग्वालियर लाया गया, इसके बाद इन्हें चिनूक हेलीकॉप्टर से कूनो नेशनल पार्क ले जाया गया। अधिकारियों ने कहा कि इन आठ चीतों में पांच मादा और तीन नर हैं।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

चीतों को देखने के लिए थोड़ा धैर्य दिखाना होगा
चीतों को कूनो नेशनल पार्क में छोड़ने के बाद प्रधानमंत्री ने कहा -"कूनो पार्क में छोड़े गए चीतों को देखने के लिए देशवासियों को कुछ महीने का धैर्य दिखाना होगा, इंतजार करना होगा।" उन्होंने यह भी कहा कि पार्क को ये चीते अपना घर बना पाएं, इसके लिए हमें इन चीतों को भी कुछ महीने का समय देना होगा।

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय गाइडलाइन्स पर चलते हुए भारत इन चीतों को बसाने की पूरी कोशिश कर रहा है।हमें अपने प्रयासों को विफल नहीं होने देना है। कूनो नेशनल पार्क में जब चीता फिर से दौड़ेंगे, तो यहां का पारिस्थिति तंत्र फिर से बेहतर होगा और जैव विविधता बढ़ेगी।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web