ऊर्जा मंत्री ने सिविल अस्पताल में मरीजों की सेवा कर गुजारी रात, मरीजों के पैर दबाये और चाय पिलाई

आपको बता दे हाल ही में ऊर्जा मंत्री तोमर ने उनके विधानसभा की तीन सड़कों के न बनने पर चप्पल-जूते त्यागी दिए थे।
 
ऊर्जा मंत्री ने सिविल अस्पताल में मरीजों की सेवा कर गुजारी रात, मरीजों के पैर दबाये और चाय पिलाई

भोपाल। शिवराज सरकार में ऊर्जा मंत्री और ग्वालियर में सिंधिया समर्थक विधायक प्रद्युम्न सिंह तोमर ने हाल ही में पूरी रात हजीरा सिविल अस्पताल में मरीजों की सेवा करते हुए गुजारी। यहां दस दिवसीय नेत्र शिविर लगा है। पहले दिन कई लोगों का ऑपरेशन हुआ तो मंत्री उनके बीच पहुंच गए। यहां उन्होंने बुजुर्ग महिलाओं के पैर दबाए, साथ ही कई मरीजों को अपने हाथों से दवा भी दी। इसके बाद रात भर एक स्टूल पर बैठकर उनका ख्याल रखा। आपको बता दे हाल ही में ऊर्जा मंत्री तोमर ने उनके विधानसभा की तीन सड़कों के न बनने पर चप्पल-जूते त्यागी दिए थे। अभी तक उन्होंने जूते-चप्पल नहीं पहने हैं। रात भर वह नंगे पांव ही अस्पताल में इस ठंड में बैठे रहे। इस पर भी लोग उनकी सराहना करते हुए नजर आए।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

सिविल अस्पताल में ऊर्जा मंत्री तोमर के सहयोग से 10 दिवसीय नेत्र परीक्षण व मोतियाबिंद ऑपरेशन शिविर लगाया गया है। सोमवार को शिविर के पहले दिन 30 बुजुर्ग महिला-पुरुषों का ऑपरेशन किया गया। यह पता चलते ही ऊर्जा मंत्री तोमर रात को करीब 11 बजे सिविल हॉस्पिटल पहुंचे थे। यहां पहले उन्होंने मरीजों से उनका हाल चाल जाना। इस दौरान एक बुजुर्ग महिला मरीज से जब मंत्री ने उसका हाल जाना जब महिला ने कहा कि कुछ नहीं बस पैर में दर्द के कारण नींद नहीं आ रही है। बस फिर क्या था ऊर्जा मंत्री तोमर ने माई कहकर उनके चरण पकड़े और दबाने शुरू कर दिए। करीब 15 मिनट तक वह बुजुर्ग महिला के पैर दबाते रहे। महिला यही कहती रही रहने दो आप। जब महिला को आराम मिला तो वह आगे बढ़े। वहां भर्ती एक ओमप्रकाश नाम के मरीज की दवा का समय हो गया था तो उसे दवा दी। प्रत्येक मरीज के पास पहुंचे और उनकी खैरियत पूछी।

यह खबर भी पढ़ें: विदाई के समय अपनी ही बेटी के स्तनों पर थूकता है पिता, फिर मुड़वा देता है सिर, जानें क्यों?

इसके बाद ऊर्जा मंत्री तोमर ने सुबह अपने हाथों से अस्पताल में सभी मरीजों को अपने हाथों से चाय बांटी और बिस्किट खिलाए। वह लगातार हर मरीज के पास पहुंचकर उनको चाय पिलाते हुए नजर आए। यह देखकर लोग उनको आशीर्वाद देते हुए नजर आए। इतना ही नहीं मरीजों की देखरेख करते समय वह रात भर एक स्टूल पर बैठे रहे। लोग यही देख रहे थे कि प्रद्युम्न सिंह तोमर प्रदेश में ऊर्जा मंत्री हैं। सिंधिया समर्थक होने से सरकार में वजन भी है। इसके बाद भी इतने सरल स्वभाव से यहां बैठकर मरीजों की देख करते हैं।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web