हेमा मालिनी धर्मेंद्र से शादी के बाद भी अलग रहने पर बोलीं, कोई औरत यह नहीं चाहती...

 
hema malini

हेमा मालिनी धर्मेंद्र की दूसरी पत्नी हैं। शादी के बाद उनकी जिंदगी सामान्य नहीं रही। धर्मेंद्र ने पहली पत्नी को तलाक नहीं दिया था। हेमा ने अलग रहकर बेटियों को पाला। अब उन्होंने इस बारे में बात की है।

 

मुंबई। हेमा मालिनी से धर्मेंद्र की दूसरी शादी के किस्से अक्सर सुर्खियों में रहते हैं। यह बात भी ज्यादातर लोग जानते हैं कि हेमा धर्मेंद्र से अलग घर में रहती हैं। पहले से शादीशुदा धर्मेंद्र के साथ शादी का फैसला आसान नहीं था। धर्मेंद्र के 4 बच्चे भी थे। उन्होंने पहली पत्नी को तलाक नहीं दिया बल्कि हेमा के लिए अपना धर्म बदला था। एक इंटरव्यू के दौरान हेमा से अलग रहने के बारे में सवाल किया गया। इस पर उन्होंने धर्मेंद्र की तारीफ की।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

धर्मेंद्र से अलग बेटियों को पाला
हेमा मालिनी ने अकेले रहकर अपनी दोनों बेटियों को पाला है। धर्मेंद्र अपने दोनों घरों को बराबर समय देते रहे। लहरे रेट्रो के इंटरव्यू में हेमा मालिनी से पूछा गया कि वह एक तरह से फेमिनिस्ट आइकॉन हो गई हैं। क्योंकि उन्होंने धर्मेंद्र से अलग अकेले घर में रहने का फैसला लिया और दो बेटियों को खुद पाला।

यह खबर भी पढ़ें: महिला टीचर को छात्रा से हुआ प्यार, जेंडर चेंज करवाकर रचाई शादी

हर औरत चाहती है...
इस पर हेमा ने जवाब दिया कि वह भले ही अलग रहती थीं लेकिन धर्मेंद्र जरूरत के वक्त हमेशा मौजूद रहे। हेमा ने कहा, कोई ऐसा नहीं चाहता, लेकिन हो जाता है। अपने आप जो होता है आपको स्वीकार करना पड़ता है। नहीं तो कोई भी नहीं चाहता कि वह ऐसी जिंदगी जिए। हर औरत चाहती है कि उसका एक पति हो, बच्चे हो जैसा सामान्य परिवारों में होते हैं। लेकिन कहीं न कहीं मैंने अलग किया... मुझे इसका दुख नहीं है। मैं खुद में खुश हूं। मेरे दो बच्चे हैं। मैंने उन्हें अच्छी तरह पाला है।

यह खबर भी पढ़ें: 'मेरे बॉयफ्रेंड ने बच्चे को जन्म दिया, उसे नहीं पता था वह प्रेग्नेंट है'

धर्मेंद्र को थी यह चिंता
हेमा ने बताया कि धर्मेंद्र को बच्चों की शादी की चिंता थी। हेमा बताती हैं, वह बोलते थे, शादी होना चाहिए बच्चों का जल्दी। मैंने कहा होगा। जब सही समय होगा, सही इंसान मिलेगा तो होगा। ईश्वर और गुरु मां के आशार्वाद से सब हो गया।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web