ब्रिटिश फिल्म इंस्टीट्यूट नेशनल आर्काइव के रॉबिन बेकर ने की संजय लीला भंसाली की गंगूबाई काठियावाड़ी की तारीफ

इसके साथ ही उन्होंने बाफ्टा और अकादमी पुरस्कारों से भी फिल्म देखने का अनुरोध किया। 
 
ब्रिटिश फिल्म इंस्टीट्यूट नेशनल आर्काइव के रॉबिन बेकर ने की संजय लीला भंसाली की गंगूबाई काठियावाड़ी की तारीफ

मुंबई। संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित गंगूबाई काठियावाड़ी ने रिलीज होने पर सभी उम्मीदों को धराशायी कर दिया और तब से यह न केवल 2022 की सबसे पसंदीदा फिल्मों में से एक बन गई बल्कि इसने देश और विदेश, हर जगह दर्शकों पर अपना जादू बिखेरा। आलम ये है कि आज भी इस फिल्म को दुनिया भर के सभी सम्मानित लोगों से तारीफ मिल रही है।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

इस बार, ब्रिटिश फिल्म इंस्टीट्यूट नेशनल आर्काइव के हेड क्यूरेटर, रॉबिन बेकर ने सोशल मीडिया का सहारा लेते हुए गंगूबाई काठियावाड़ी की तारीफ की हैं। इसके साथ ही उन्होंने बाफ्टा और अकादमी पुरस्कारों से भी फिल्म देखने का अनुरोध किया। उन्होंने लिखा, “अगर मैं बाफ्टा या अकादमी का सदस्य होता (मैं नहीं हूं), तो इस साल मैं आलिया भट्ट को गंगूबाई काठियावाड़ी (संजय लीला भंसाली, भारत, 2022) में उनके प्रदर्शन के लिए बेस्ट एक्ट्रेस के रूप में वोट दूंगा। वह एक प्रॉस्टि्यूट से अंडरवर्ल्ड वेश्यालय की एक ऐसी कैंपेनर में बदल गई जिन्होंने सेक्स वर्क्स के अधिकारों के लिए आवाज उठाई, और उनके प्रदर्शन की खूबसूरती यह है कि वह अपने कैरेक्टर के ग्रो करने के साथ आगे बढ़ती है।

यह खबर भी पढ़ें: VIDEO: 'दादी के गर्भ से जन्मी पोती' अपने ही बेटे के बच्चे की मां बनी 56 साल की महिला, जानें क्या पूरा मामला

ये फिल्म बड़ी, तेजतर्रार, सेंटीमेंटल और बेहद आनंददायक है, लेकिन वहीं आलिया भट्ट सेनसेशनल हैं। फिल्म के क्लासिक हिंदी सिनेमा रिफरेंस इस फिल्म में एक्स्ट्रा चार्म जोड़ते है- गंगूबाई के देव आनंद के प्रति प्रेम से लेकर 50 और 60 के दशक में चल रहे सिनेमा के सीन्स से लेकर बॉम्बे के रेड लाइट डिस्ट्रिक्ट के आसपास की सड़कों पर लगे कई फिल्मी पोस्टर तक।

ऐसे में अगर आपने इसे नहीं देखा है (विशेष रूप से बाफ्टा और अकादमी पुरस्कार-वोटिंग फ्रेंड्स), तो प्लीज जल्द से जल्द नेटफ्लिक्स पर जाएं। "

वैसे जब संजय लीला भंसाली की फिल्म की बात आती है, तो निर्देशक अपने कलाकारों से बेहतरीन प्रदर्शन करवाने के लिए जाने जाते हैं। इसका एक रियल उदाहरण फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी में दिखा, जहां उन्होंने आलिया भट्ट से उनका बेस्ट करवाने में सफलता हासिल की, जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता था। अब गंगूबाई काठियावाड़ी की बढ़ती पापुलैरिटी से यह साबित हो गया है कि साहस से भरी असल कहानियों से बनी कला को कोई भी बड़ी या छोटी ताकत चुनौती नहीं दे सकती है।

यह खबर भी पढ़ें: विदाई के बाद कार में बैठते ही अनकंट्रोल हुई दुल्हन, शुरू हो गई दूल्हे के साथ, किया ऐसा काम...Video

इसके अलावा, संजय लीला भंसाली की गंगूबाई काठियावाड़ी महामारी के बाद रिलीज हुई पहली वास्तविक हिंदी ब्लॉकबस्टर थी। इस फिल्म के साथ, निर्देशक ने दुनिया भर के लोगों से सरहाना हासिल की, साथ ही साथ बॉक्स ऑफिस अच्छी कमाई करने में कामयाब रहे। फिल्म एक बड़ी कमर्शियल सक्सेस बन गई और महामारी के बाद हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के लिए पहली वास्तविक हिट बन गई, जिसने  देश में 153.69 करोड़ की और ग्लोबल लेवर पर 209.77 करोड़ की कमाई की।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web