Raju Srivastava ने हार्ट अटैक से 3 दिन पहले मिली फैमिली डॉक्टर की सलाह की थी नज़रअंदाज़, आप न करें ऐसी गलतियां

 
Raju Srivastava

देश के जाने-माने स्टैंडअप कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव का 21 सितंबर (बुधवार) को निधन हो गया था। उन्हें 10 अगस्त को हार्ट अटैक आया था। उनके फैमिली डॉक्टर विवेक गुप्ता ने हार्ट अटैक से तीन दिन पहले उन्हें हार्ट हेल्थ से जुड़ी सलाह दी थीं जिसे राजू नज़रअंदाज कर गए थे। आप भी जानें दिल के मरीजों को किन बातों को नज़रअंदाज नहीं करना चाहिए।

 

नई दिल्ली। अपनी कॉमेडी के जरिये देश को जमकर हंसाने वाले राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastava) की अब सिर्फ यादें ही शेष रह गई हैं। 21 सितंबर (बुधवार) को राजू का दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में निधन हो गया। रोते को भी हंसा देने की कला में माहिर राजू श्रीवास्तव काफी वक्त से हार्ट पेशेंट थे और उनका ट्रीटमेंट चल रहा था। उनके असमय जाने से उनके परिवार और दोस्तों के साथ ही फैंस भी काफी गमज़दा हैं। काम को लेकर हमेशा अलर्ट रहने वाले राजू श्रीवास्तव अपनी दिल की सेहत को लेकर कई बार लापरवाही बरत लिया करते थे। यही लापरवाही उन्हें हार्ट अटैक आने की वजह भी बनी।

राजू श्रीवास्तव के लंबे समय से फैमिली डॉक्टर रहे दिल्ली के जाने-माने कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. विवेक गुप्ता भी उन्हें लगातार हार्ट हेल्थ को लेकर सलाह देते थे। हालांकि डॉ. गुप्ता की मानें तो राजू किसी की सुनते नहीं थे।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

हार्ट अटैक से 3 दिन पहले दी थी ये सलाह
राजू श्रीवास्तव को 10 अगस्त को हार्ट अटैक आया था जिसके बाद उन्हें दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। इसके तीन दिन पहले यानी 07 अगस्त को डॉ. विवेक गुप्ता ने अपने घर पार्टी रखी थी जिसमें राजू श्रीवास्तव भी पहुंचे। इस मुलाकात के दौरान भी डॉ। गुप्ता ने राजू का हालचाल पूछने के साथ ही उन्हें जिम जाने और ट्रेडमिल पर दौड़ने से मना किया था। बावजूद इसके राजू श्रीवास्तव ने उनकी बात नहीं मानी थी।

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

दिल के मरीज हैं तो न करें ये गलतियां

  • दिल संबंधी बीमारी के शिकार होने पर शरीर का खास ख्याल रखना जरूरी होता है। हार्ट पेशेंट को जिम जाने से बचना चाहिए। इसके बाद लाइट एक्सरसाइज़ जैसे वॉकिंग, नॉर्मल रनिंग आदि को डेली रूटीन में शामिल करना चाहिए।
  • आप अगर हार्ट के मरीज हैं और रोजाना जिम जाते हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि कोई भी हैवी एक्सराइज और ट्रेडमिल पर बिना डॉक्टरी सलाह के न दौड़े। अगर डॉक्टर ने ट्रेडमिल पर दौड़ने का मना किया है तो इसे बिल्कुल न करें।
  • अगर किसी हार्ट पेशेंट को हार्ट अटैक पहले आ चुका है तो उसे सिर्फ हल्की एक्सरसाइज़ पर ही फोकस करना चाहिए। ऐसी स्थिति में जिम जाना सेहत के लिए काफी नुकसानदायक हो सकता है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web