आर्मी का कर्मचारी बताकर डायपर खरीदने के नाम पर 80 हजार रुपए ठगे, फर्जी ID भी भेजी, जानिए पूरा मामला...

अमित ने दावा किया था कि वह एक आर्मी स्कूल में काम करता है और छात्र के लिए डायपर खरीदना चाहता है।
 
आर्मी का कर्मचारी बताकर डायपर खरीदने के नाम पर 80 हजार रुपए ठगे, फर्जी ID भी भेजी, जानिए पूरा मामला...

नई दिल्ली। डिजिटल दौर में इन दिनों साइबर ठगी का शिकार लोग तेजी से हो रहे हैं। अंजान लिंक पर क्लिक करते ही बैंक खाते से पैसे गायब। मेरठ साइबर सेल के पास रोजाना ऐसे मामले आ रहे हैं। जिसमें लोग ऑनलाइन ठगी की शिकायत लेकर आ रहे हैं। बता दें कि ठग अपना एक प्राइवेट लिंक बनाते हैं, वह लिंक किसी के पास भेजा जाएगा तो जो भी उस लिंक को खोलेगा तो उसका यूजर नेम और पासवर्ड के साथ साथ आईपी एड्रेस भी वहां पहुंच जाएगा जिसने वो लिंक बनाया हुआ है।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

आपको बता दे, बेंगलुरु के बसावेश्वरनगर में साइबर ठगी का एक मामला सामने आया है। यहां ठगों ने एक बिजनेसमैन से डायपर खरीदने के नाम पर 80 हजार रुपए ठग लिए। 47 साल का बीआर महेश डायपर डिस्ट्रीब्यूटर है। उन्होंने पुलिस को बताया कि 2 जनवरी को अमित कुमार नाम के एक व्यक्ति ने उन्हें फोन किया था। अमित ने दावा किया था कि वह एक आर्मी स्कूल में काम करता है और छात्र के लिए डायपर खरीदना चाहता है। उसने महेश का विश्वास हासिल करने के लिए फर्जी ID और आधार कार्ड भेजे।

यह खबर भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश में घूमने की कुछ बेहतरीन जगहें, जो आपकी यात्रा को बना देंगी यादगार और मजेदार

महेश ने कहा कि बदमाश ने महेश से कहा कि वह खरीद के लिए एडवांस पेमेंट करेगा और बाद में डायपर की संख्या और अन्य डिटेल भेजेगा। कुछ ही मिनटों में महेश को संदिग्ध से एक क्यूआर कोड मिला। उसने सोचा कि अगर वह कोड स्कैन करेगा तो उसे पेमेंट मिल जाएगा। उसने ऐसा ही किया। बाद में महेश को पता चला कि उसके बैंक खाते से 80,430 रुपए काट लिए गए। यह रकम पूजा कुलदीप पाटिल के अकाउंट में ट्रांसफर की गई।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web