किसान हमारे अन्नदाता, वे खुश तभी देश खुशहाल बनेगा- जिला कलक्टर

26 किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत पॉलिसी वितरण

 
किसान हमारे अन्नदाता, वे खुश तभी देश खुशहाल बनेगा- जिला कलक्टर

चित्तौड़गढ़। जिला कलक्टर अरविंद कुमार पोसवाल ने गुरुवार को सेमलिया ग्राम पंचायत भवन में आयोजित प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना पॉलिसी वितरण शिविर (खरीफ 2022-23) में किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आप हमारे अन्नदाता हैं। यदि किसान खुश रहेगा, तभी देश खुशहाल बनेगा। जिला कलक्टर पोसवाल ने फसल बीमा पॉलिसी प्राप्त करने वाले 26 किसानों को बधाई देते हुए कहा कि आज हर किसान को जागरूक होने की आवश्यकता है। आप खुद जागरूक बनें और दूसरों को भी सरकार की योजनाओं, कृषि की नई तकनीकों और नवाचारों की जानकारी दें। रात को चौपाल पर बैठकर भी इस बारे में चर्चा करें।

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

किसानों से कृषि के क्षेत्र में नवाचारों को अपनाने की अपील करते हुए जिला कलक्टर ने कहा कि खाद-पानी उतना ही दें, जितनी फसल को आवश्यकता है। जरूरत से ज्यादा खाद-पानी से फसल और भूमि को नुकसान होता है। साल में दो बार फसल होती है और दो बार फसल का बीमा होता है। यदि किसी भी किसान की फसल बीमा पॉलिसी नहीं आती है, फसल में कोई बीमारी आती है या कृषि से संबंधित और कोई समस्या हो, तो कृषि विभाग से संपर्क करें। इस अवसर पर सूचना एवं जनसंपर्क विभाग, चित्तौड़गढ़ की ओर से राज्य सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं की जानकारी देने के साथ ही सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं पर आधारित बुकलेट का वितरण किया गया। इस दौरान चित्तौड़गढ़ पंचायत समिति प्रधान देवेंद्र कंवर, स्थानीय जनप्रतिनिधि, उपनिदेशक कृषि (विस्तार) शिवराज जांगिड़ सहित बड़ी संख्या में किसान  उपस्थित थे।

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

किसान सम्मान निधि के लिए केवाईसी जरूरी
जिला कलक्टर ने कहा कि किसान सम्मान निधि के लिए केवायसी जरूर करवाएं। इसके लिए किसानों को उनके आधार नंबर को खातों से लिंक करवाना होगा। इसके बाद ही योजना के तहत मिलने वाली किश्तें किसानों के खातों में जा पाएगी। केंद्रीय सहकारी बैंक के एमडी नानालाल चावला ने बताया कि जिले में 2 लाख 28 हजार 103 किसानों में से 1 लाख 16 हजार 703 किसानों ने ई-केवायसी अपडेट करवा लिया है। अभी भी 1 लाख 11 हजार 400 किसानों का ई-केवाईसी अपडेट नहीं हुआ है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web