Suckermouth catfish: बिहार के बेतिया में मिली सकरमाउथ कैटफिश, देखने के लिए लोगों की उमड़ी भीड़

बताया जा रहा है कि मछुआरे ने जैसे ही नदी में जाल फेंका तो जाल में एक अजीबो-गरीब मछली फंस गया।
 
Suckermouth catfish: बिहार के बेतिया में मिली सकरमाउथ कैटफिश, देखने के लिए लोगों की उमड़ी भीड़

पटना। बिहार के बेतिया में सकरमाउथ कैटफिश मछली को लेकर काफी चर्चा है। यह दुर्लभ मछली बीते दिन नवलपुर ओपी थाना क्षेत्र अंतर्गत ढढ़वा पंचायत के दूधियावा गांव के बॉर्डर पर स्थित रोहुआ नदी में मछली पकड़ने के दौरान एक मछुआरे को मिली। बताया जा रहा है कि मछुआरे ने जैसे ही नदी में जाल फेंका तो जाल में एक अजीबो-गरीब मछली फंस गया। यह देखते ही मछुआरे चौंक गए और मछली को देखने के लिए लोगों की भीड़ लग गई। मछुआरा बिकाऊ चौधरी मछली को अपने घर ले गया। जब लोगों ने मछली के बारे में गूगल पर सर्च किया तो पता चला कि इस मछली का नाम सकरमाउथ कैटफीश है। मछुआरे ने मछली को अपने घर में सुरक्षित रखा हुआ है।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

यह खबर भी पढ़ें: विदाई के समय अपनी ही बेटी के स्तनों पर थूकता है पिता, फिर मुड़वा देता है सिर, जानें क्यों?

जनकारों का कहना है कि यह सकर माउथ कैटफिश मछली खासकर साउथ अमेरिका के अमेजन नदी और समुद्र में पाए जाते हैं। यह दुर्लभ प्रजाति की मछली है। यह मछली गहरे पानी की जगह नदी के किनारे किसी पत्थर से या किसी पेड पौधे से चिपक कर रहता है। यह पानी में तैरने के जगह किसी एक जगह स्थिर रहता है। जलीय जीव मामलों के जानकारों का कहना है कि सकरमाउथ कैटफिश का मुख्य भोजन गंदा पदार्थ, काई या मच्छर है। यदि इस मछली को किसी गंदे पानी के टैंक में रख दिया जाए तो यह काई और गंदगी को साफ कर सकता है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web