‘’बाल संरक्षण संकल्प यात्रा का पांचवा चरण शुरू’’ अति. जिला कलक्टर ने दिखाई हरी झण्डी, जहाजपुर की 17 ग्राम पंचायतों में संचालित होगी यात्रा

यात्रा के बालमित्र ग्राम भ्रमण कार्यक्रम के दौरान घर-घर दस्तक देकर योजनाओं के पात्र व्यक्तियों का पता लगाएंगे।

 
‘’बाल संरक्षण संकल्प यात्रा का पांचवा चरण शुरू’’ अति. जिला कलक्टर ने दिखाई हरी झण्डी, जहाजपुर की 17 ग्राम पंचायतों में संचालित होगी यात्रा

भीलवाडा। भीलवाडा जिला कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय कार्यशाला के साथ बाल संरक्षण संकल्प यात्रा का पांचवा चरण सोमवार को अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) उत्तम सिंह शेखावत ने बाल संरक्षण संकल्प यात्रा रथो को जिला कलेक्ट्रेट परिसर से हरी झण्ड़ी दिखाकर जहाजपुर पंचायत समिति क्षेत्र की 17 ग्राम पंचायतों के लिए रवाना किया।

कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित आमुखीकरण कार्यशाला में माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश का संदेश और संकल्प गीत का प्रोजेक्टर पर प्रदर्शन किया गया। अतिरिक्त जिला कलक्टर ने जिला स्तरीय अधिकारियों को यात्रा को सहयोग देने के लिए निर्देशित करते हुए वंचित पात्र व्यक्तियों को पहचान कर लाभ दिलाने पर जोर दिया।

यह खबर भी पढ़ें: इस मंदिर में कभी नहीं की जाती है भगवान की पूजा, वजह जानकर आप भी रह जाएंगें दंग

बाल अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक धर्मराज प्रतिहार ने अपने संबोधन में बच्चों से जुडे मुद्दों और उनके अधिकारों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यात्रा 7 संकल्पों पर आधारित है, गांव ढाणी में जाकर बच्चों को स्कूलों से जोड़ने, बाल श्रम, बाल हिंसा, बाल तस्करी एवं बाल विवाह जैसे मुद्दों पर जागरूकता का संदेश देगी।

संयोजक विपिन तिवारी ने बताया कि जिला प्रशासन, बाल अधिकारिता विभाग, यूनिसेफ और पीसीसीआरसीएस के संयुक्त तत्वावधान में चलाए जा रहे बाल संरक्षण संकल्प यात्रा को 24 जून को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य स्तरीय समारोह के साथ यात्रा के रथों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। 7 जिलों के 140 ग्राम पंचायतों में यात्रा संचालित होगी। हर जिले में 17 दिनों के बाद में समापन पर जिला स्तरीय मेला आयोजित होगा, जिसमें यात्रा के दौरान पात्र व्यक्तियों को सरकार की योजनाओं से जोड़ा जाएगा। वहीं स्कूलों में बच्चों के साथ बाल अधिकारों को लेकर कई नवाचार किए जाएंगे। स्कूलों में नामांकन बढ़ाने पर फोकस रहेगा। यात्रा के बालमित्र ग्राम भ्रमण कार्यक्रम के दौरान घर-घर दस्तक देकर योजनाओं के पात्र व्यक्तियों का पता लगाएंगे और उनका आवेदन ऑनलाईन कराने में सहयोग प्रदान करेंगे। इस दौरान चौपाल का भी आयोजन किया जाएगा। बाल अधिकारों पर आधारित फिल्म लघु डाली और लाडली जैसी शिक्षाप्रद फिल्में दिखाई जाएंगी, गांव ढाणियों में कई प्रकार के नवाचार किये जाएंगे।

यह खबर भी पढ़ें: बैलगाड़ी में सवार बरातियों संग पालकी से ससुराल पहुंचा दूल्हा, देखने के लिए उमड़ी लोगों की भीड़

इस अवसर पर सहायक निदेशक महिला अधिकारिता विभाग नगेन्द्र सिंह तोलम्बिया, बाल संरक्षण अधिकारी अनुराधा तोलम्बिया , बाल कल्याण समिति सदस्य डॉ. राजेश छापरवाल, सीमा त्रिवेदी, फारूख पठान, सुनिता सांखला, किशोर न्याय बोर्ड सदस्य, उपश्रम आयुक्त, उपनिदेशक महिला एवं बाल विकास विभाग, पीसीसीआरसीएस के सी.ई.ओ अजय कुमार तिवारी सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।
 
’यहां होगें आयोजन’
5 सितम्बर को भीलवाडा शहर भ्रमण, 6 को सरसिया, 7 को रावतखेडा, 8 को ऊंचा, 9 को अमरवासी, 10 गाडोली, 11 लुहारीकलां, 12 गांगीथला, 13 को कुराडिया, 14 को विहाडा, 15 को पंडेर, 16 को जमोली, 17 को गुढ्ढा, 18 को उलेला, 19 को पीपलुण्द, 20 को धोड एवं 21 को जहाजपुर भ्रमण एवं बाल संरक्षण मेले का आयोजन।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web