अमेरिका की फर्स्ट लेडी मेलानिया ट्रंप ने कहा, 'हिंसा किसी भी हालत में जायज नहीं'

 


वाशिंगटन। अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन के शपथ लेने से पहले अमेरिका की फर्स्ट लेडी मेलानिया ट्रंप ने अपने विदाई भाषण से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को एक तरह से कटघरे में खड़ा कर दिया है। मेलानिया ट्रंप ने अपने स्पीच में कहा कि हिंसा को किस भी हालात में जायज नहीं ठहराया जा सकता है। उनका आशय हाल ही में अमेरिका में ट्रंप समर्थकों द्वारा की गई हिंसा से था।

मेलानिया ट्रंप का वीडियो मैसेज
अमेरिकी फर्स्ट लेडी के तौर पर आखिरी बार बोलते हुए मेलानिया ट्रंप ने एक वीडियो संदेश में कहा है कि हर चीज को लेकर उत्साह हो सकता है लेकिन इस बात को याद रखिए कि हिंसा किसी चीज का जवाब नहीं है और ये रास्ता किसी को भी कभी भी नहीं अपनाना चाहिए।

अमेरिका हिंसा फैलने का कारण 
अमेरिका में राष्ट्रपित चुनाव में हारने के बाद डोनाल्ड ट्रम्प ने हजारों समर्थकों को दिए एक भाषण में चुनाव में गड़बड़ी का आरोप लगाया था। जिसके बाद ट्रंप समर्थक कैपिटल हिल में घुस गए थे और हिंसा को अंजाम दिया था जिसमें कई लोगों की जान भी चली गई थी। अमेरिकी इतिहास में इस तरह की हिंसा कभी देखने को नहीं मिली थी लेकिन उसके बाद मीडिया और जनता के निशाने पर आ गए।

अमेरिका के इतिहास में पहली बार
यूएस के इतिहास में पहली बार, फर्स्ट लेडी मेलानिया ट्रंप ने दूसरी और तीसरी मंजिल पर रहने वाले क्वार्टर के आधिकारिक वॉकथ्रू के लिए व्हाइट हाउस की अगली फर्स्ट लेडी जिल बिडेन को आमंत्रित नहीं किया। मेलानिया ने उस परंपरा को तोड़ दिया है,  जिसके तहत मिशेल ओबामा ने मेलानिया ट्रंप को तब भी आमंत्रित किया था जब डोनाल्ड ट्रंप ने बराक ओबामा की नागरिकता पर सवाल उठा दिए थे।

यह खबर भी पढ़े: प्रदेश के 6 लाख लाभार्थियों को पीएम आवास योजना की राशि जारी करेंगे प्रधानमंत्री

From around the web