loading...
loading...
loading...
सरकारों ने आज तक के इतिहास को तोड़-मरोड़ कर पेश किया: डॉ. सतीष चंद्र जुलाई माह तक ही वैध होंगे मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के स्वास्थ्य कार्ड रोज नाश्ते में शामिल करे स्वीट कॉर्न पनीर बॉल फर्जी चिकित्सकों के खिलाफ स्वास्थ्य विभाग सतर्क स्वास्थ्य और पर्यावरण की सुरक्षा के लिए मिनी दौड़ का आयोजन अफगानिस्तान में डैम के पास हुआ आतंकी हमला, 10 पुलिसकर्मी शहीद IND vs WI: अजिंक्य रहाणे सेंचुरी जमाकर आउट, कोहली-पंड्या क्रीज पर FB से हुए नाराज बिग बी, ट्विटर पर की शिकायत श्रीनगर में स्कूल के भीतर छुपे दो आतंकवादियों की मुठभेड़ में मौत, दो जवान जख्मी IND vs WI: रहाणे शतक के करीब, कोहली क्रीज पर, score 192/1 मीरा कुमार ने निर्वाचक मंडल की लिखी चिट्ठी, कहा - इतिहास रचने का है मौका लग्जरी गाड़ी से हो रही थी शराब की तस्करी, पुलिस ने की पकड़ने में सफलता हासिल मध्य प्रदेश पुलिस ने किया इंसानियत को शर्मसार कर देने वाला ऐसा काम 'ये हैं मोहब्बतें...' के ऐक्टर्स दिव्यांका त्रिपाठी और विवेक दहिया बने नच बलिए सीजन 8 के विनर भोपाल दुनिया के लिए स्मार्ट सिटी का होगा मापदंड: शिवराज सिंह IND vs WI: धवन-रहाणे ने जड़े अर्धशतक, धवन हुए आउट इंतजार खत्म हुआ, चांद का हुआ दीदार, कल मनाई जाएगी ईद आनंदपाल के आम इंसान से एक गैंगस्टर बनने की ये है पूरी कहानी...... IND vs WI: धवन-रहाणे ने दी भारत को मजबूत शुरुआत, बारिश के कारण मैच 43 ओवर का पुलिस की प्रेस कांफ्रेंस में बदमाश ने दी ऐसी धमकी, सुनकर पुलिस हुई हैरान
तालिबान ने वीडियो किया जारी, दिखाई दिए ये दो बंधक
sanjeevnitoday.com | Thursday, January 12, 2017 | 02:53:50 PM
1 of 1

काबुल। तालिबान के कब्जे में कैद लोगों के वीडियो में एक अमरीकी केविन किंग और एक ऑस्ट्रेलियाई नागरिक टिमोथी वीक्स दिखाई दिए है। इन लोगों का अपहरण 5 महीने पहले काबुल से किया गया था।

 

पुलिस की वर्दी पहने हुए बंदूकधारियों ने 7 अगस्त को अफगान राजधानी के बीचोंबीच स्थित अमरीकन यूनिवर्सिटी ऑफ अफगानिस्तान से 2 प्रोफेसरों का अपहरण कर लिया था। अपहर्ताओं ने इन प्रोफेसरों के वाहन की खिड़की तोड़ते हुए उन्हें अपने कब्जे में लिया था। कुल13 मिनट और 35 सेकेंड का वीडियो कल तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने प्रसारित किया। यह वीडियो इस बात का प्रत्यक्ष प्रमाण देता है कि ये दोनों जीवित हैं। इस वीडियो के आने से पहले अमरीकी विशेष अभियान दलों ने अगस्त में इन दोनों नागरिकों को बचाने के लिए गोपनीय तरीके से छापेमारी की थी।

हालांकि उनका प्रयास विफल रहा था। पेंटागन ने सितंबर में कहा कि राष्ट्रपति बराक आेबामा ने अफगानिस्तान के एक अज्ञात स्थान पर छापेमारी को मंजूरी दी थी लेकिन बंधक वहां नहीं थे। वर्ष 2006 में खुली अमरीकन यूनिवर्सिटी ऑफ अफगानिस्तान से प्रतिक्रिया के लिए संपर्क नहीं किया जा सका। इन अपहरणों ने अफगानिस्तान में विदेशियों पर बढ़ते खतरों को रेखांकित कर दिया।अफगान राजधानी में संगठित आपराधिक गिरोह फैले हुए हैं। ये गिरोह फिरौती के लिए अकसर अपहरण करते हैं।

यह भी पढ़े: इस शख्स ने बनवाया अपने कुत्ते का आधार कार्ड, पुलिस ने किया गिरफ्तार!

यह भी पढ़े: हाथ नहीं है, लेकिन पियानो बजाने से लेकर हवाई जहाज तक उड़ा लेती हैं ये लड़की!

यह भी पढ़े :इस लडक़ी ने कर दिया कमाल बातों-बातों में बना दी करंट वाली ब्रा

यह भी पढ़े: अद्भुत नजारा: हवा में लटका हुआ है ये नल



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.