गुलाबजल से निखारे अपना सौंदर्य सिर दर्द से छुटकारा दिलाएंगे ये घरेलू नुस्खे ममता बनर्जी ने बुद्धदेव भट्टाचार्य से मुलाकात की बेंगलूरू: दो मंजिली इमारत ध्वस्त होने से सात की मौत सम्पत्ति विवाद में पिता की गोली मारकर हत्या राजस्थान: विभिन्न अपराधों में लिप्त छह सौ चौदह लोग गिरफ्तार कश्मीर में पूर्व सरपंच की हत्या, मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर Asia Cup: भारतीय महिला हॉकी टीम घोषित, रानी बनी कप्तान जीटीबी स्कूल में यौन शोषण के प्रति छात्राओं को किया जागरूक शिक्षा नहीं, भीख मांगने का दिया जाता है प्रशिक्षण दीवाली बोनस को लेकर चर्चा में रहने वाले ढोलकिया एक फिर चर्चा में, वजह जानकर रह जायेंगे हैरान- B' Day Special: हेमा मालिनी ने मनाया 68वां जन्मदिन, जानिए इनसे जुडी... वीडियो : आरुषि-हेमराज मर्डर केस में तलवार दंपति डासना जेल से बाहर आए केंद्रीय गृह मंत्री ने जोधपुर में आईबी के पश्‍चिमी जोन क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्र का किया उद्घाटन अनुपम खेर ने संभाला FTII के चेयरमैन पद का कार्यभार जेल जाने से पहले हनीप्रीत मिली अपने परिवार से, माँ- बाप से लिपटकर जताया अपना दुःख ऑस्ट्रेलिया के इस खिलाड़ी ने 35 ओवर के घरेलू मैच में जड़ा तिहरा शतक, 40 छक्के ठोके 2 हजार 45 एएनएम पदों पर दीपावली से पूर्व जारी होंगे पदस्थापन आदेश रेप के आरोपी जैन मुनि को कोर्ट ने भेजा जेल, मुनि बोले- लड़की के साथ सब सहमति से हुआ अगर आपने धनतेरस पर ये चीज खरीद रहे है तो हो सकता है बड़ा नुकसान
तालिबान ने वीडियो किया जारी, दिखाई दिए ये दो बंधक
sanjeevnitoday.com | Thursday, January 12, 2017 | 02:53:50 PM
1 of 1

काबुल। तालिबान के कब्जे में कैद लोगों के वीडियो में एक अमरीकी केविन किंग और एक ऑस्ट्रेलियाई नागरिक टिमोथी वीक्स दिखाई दिए है। इन लोगों का अपहरण 5 महीने पहले काबुल से किया गया था।

 

पुलिस की वर्दी पहने हुए बंदूकधारियों ने 7 अगस्त को अफगान राजधानी के बीचोंबीच स्थित अमरीकन यूनिवर्सिटी ऑफ अफगानिस्तान से 2 प्रोफेसरों का अपहरण कर लिया था। अपहर्ताओं ने इन प्रोफेसरों के वाहन की खिड़की तोड़ते हुए उन्हें अपने कब्जे में लिया था। कुल13 मिनट और 35 सेकेंड का वीडियो कल तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने प्रसारित किया। यह वीडियो इस बात का प्रत्यक्ष प्रमाण देता है कि ये दोनों जीवित हैं। इस वीडियो के आने से पहले अमरीकी विशेष अभियान दलों ने अगस्त में इन दोनों नागरिकों को बचाने के लिए गोपनीय तरीके से छापेमारी की थी।

हालांकि उनका प्रयास विफल रहा था। पेंटागन ने सितंबर में कहा कि राष्ट्रपति बराक आेबामा ने अफगानिस्तान के एक अज्ञात स्थान पर छापेमारी को मंजूरी दी थी लेकिन बंधक वहां नहीं थे। वर्ष 2006 में खुली अमरीकन यूनिवर्सिटी ऑफ अफगानिस्तान से प्रतिक्रिया के लिए संपर्क नहीं किया जा सका। इन अपहरणों ने अफगानिस्तान में विदेशियों पर बढ़ते खतरों को रेखांकित कर दिया।अफगान राजधानी में संगठित आपराधिक गिरोह फैले हुए हैं। ये गिरोह फिरौती के लिए अकसर अपहरण करते हैं।

यह भी पढ़े: इस शख्स ने बनवाया अपने कुत्ते का आधार कार्ड, पुलिस ने किया गिरफ्तार!

यह भी पढ़े: हाथ नहीं है, लेकिन पियानो बजाने से लेकर हवाई जहाज तक उड़ा लेती हैं ये लड़की!

यह भी पढ़े :इस लडक़ी ने कर दिया कमाल बातों-बातों में बना दी करंट वाली ब्रा

यह भी पढ़े: अद्भुत नजारा: हवा में लटका हुआ है ये नल



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.