वीरपाल हत्याकांड का खुलासा, दो हत्यारोपी गिरफ्तार

 


फिरोजाबाद। थाना फरिहा क्षेत्र अन्तर्गत पन्द्रह दिन पूर्व हुई युवक की हत्या गांव के ही एक युवक ने अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर गला दबाकर की थी। हत्या के पीछे कारण हत्यारोपी का मृतक की बहन से बातचीत करना व मोबाइल के कारण मृतक द्वारा हत्यारोपी से गाली गलौज करने की बात सामने आयी है। पुलिस ने बुधवार को दोनों हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर गुरूवार को घटना का खुलासा किया है।

एसपी ग्रामीण राजेश कुमार ने बताया कि 5 जनवरी को थाना फरिहा क्षेत्र अन्तर्गत सेंगर नहर की पटरी पर वीरपाल उर्फ बिल्लू का शव पड़ा मिला था। पुलिस ने इस मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। हत्या के सम्बंध में जब ग्रामीणों से पूछताछ की गई तो यह बात सामने आयी कि गांव के ही दो युवक शिवा व अनिल यादव गायब थे। सर्विलांस की मदद से पुलिस ने बुधवार को इन दोनों को हिरासत में ले लिया। जव इनसे गहनता से पूछताछ की गई तो इन्होंने अपने एक अन्य साथी राॅकी के साथ मिलकर वीरपाल की हत्या किया जाना स्वीकार किया। जिसके बाद पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया।
  
उन्होंने बताया कि जब इन दोनों से हत्या का कारण पूछा गया तो हत्यारोपी शिवा ने बताया कि उसका मृतक वीरपाल की बहिन से बात चीत करने का सिलसिला था जो वीरपाल की जानकारी में आ गया था। कुछ दिन पूर्व मोबाइल के कारण वीरपाल व उसके भाई द्वारा हमारे घर आकर गाली गलौज की गई थी। जिस कारण मुझे बहुत ग्लानि हुई थी। तव मैंने अपने दोस्त अनिल व राॅकी के साथ बैठकर वीरपाल की हत्या की योजना बनाई। वीरपाल जब अपने खेत पर गया तो में भी अपने साथी अनिल व राॅकी के साथ उसके पीछे गया और फिर वीरपाल जव खेत के किनारे बैठा हुआ था तभी पीछे से हमने उसके गले में मोटर साईकिल के क्लिच वायर डालकर गला दबा दिया जिससे उसकी दम निकल गई फिर शव को उठाकर सेंगर नहर के किनारे डाल दिया। उसने बताया कि हत्या के बाद वह सीधे अपने स्कूल चला गया ताकि वह स्कूल के सीसीटीवी में उपस्थित रहे जिससे इस हत्या से बचा जा सके।
  
एसपी ग्रामीण ने बताया कि हत्यारोपी अनिल पुत्र सरमन यादव व शिव कुमार उर्फ शिवा पुत्र रविन्द्र यादव निवासीगण लखौआ फरिहा को जेल भेजा है। जवकि उसका साथी राॅकी पुत्र वीकेश यादव निवासी ग्राम इटौली फरिहा फरार है। जिसकी तलाश की जा रही है।

यह खबर भी पढ़े: वर्ष 2020 में CRPF ने जम्मू-कश्मीर में कई अभियान चलाकर करीब 215 आतंकियों को किया ढेर

From around the web