मां के अपमान को नहीं बर्दाश्त कर सका था बेटा, पिता को ही उतारा मौत के घाट

 


कानपुर। पिता का साया न होने पर कहा जाता है कि बेटा कहीं गलत रास्ता न पकड़ ले, लेकिन कानपुर में कलयुगी बेटे ने पिता की हत्या कर दी। घटना के पीछे कारण मां का अपमान रहा जिसको बेटा बर्दाश्त नहीं कर सका। पुलिस ने रविवार को घटना का खुलासा करते हुए बताया कि बीते सप्ताह जाजमऊ में मिले शव में हत्यारोपी बेटा ही निकला। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए हत्यारोपी बेटे को जेल भेज दिया। 

चकेरी थाना क्षेत्र के जाजमऊ पुलिस चौकी के पास बीते सोमवार को खून से सना एक अधेड़ का शव मिला। राहगीरों ने 112 नम्बर डायल कर घटना की जानकारी पुलिस को दी थी। जानकारी मिलते ही चकेरी थाने का फोर्स मौके पर पहुंचा था और शिनाख्त ना होने की वजह से शव को पोस्टमार्टम हाउस की मोर्चरी में रखवा दिया गया था। अगले दिन मृतक की पत्नी फामीदा खातून ने शव की शिनाख्त अपने पति लियाकत अली (50) के रुप में की थी। वहीं जब अधेड़ का पोस्टमार्टम हुआ तो पोस्टमार्टम रिपोर्ट में चाकुओं से गोदकर हत्या किए जाने का खुलासा हुआ। 

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद डीआईजी डॉ. प्रीतिंदर सिंह ने सर्विसलांस और चकेरी पुलिस को घटना को खुलासा के लिये लगाया गया था। सर्विसलांस टीम ने जब मृतक के मोबाइल की कॉल डिटेल निकाली तो पता चला कि घटना से पहले उसने अपने बेटे शहादत हुसैन को आखिरी बार कॉल किया था। पुलिस बेटे से पूछतांछ के लिए जब घर पहुंची तो वह फरार हो गया और महोबा में जाकर रहने लगा। शनिवार को वह कानपुर आया तो सर्विसलांस की मदद से पुलिस टीम ने आरोपी युवक को बेगमपुरवा मोहल्ला थाना बाबूपुरवा से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस टीम ने जब शहादत हुसैन से गहनता से पूछतांछ की तो आरोपी ने घटना कबूल करते हुए बताया कि उसके पिता का आचरण ठीक नहीं था। घर में मां फातिमा खातून के होते हुए भी उनका कई महिलाओं से प्रेम सम्बंध रखते थे। पिता नेपाल में रहकर सिलाई का काम करते थे। वहां भी उनका एक महिला से प्रेम सम्बंध थे।

घटना का खुलासा करते हुए एसपी पूर्वी शिवाजी ने बताया कि हत्यारोपी युवक ने बताया कि घटना वाले दिन पिता ने उसे फोन कर बुलाया था। जब वह पिता के पास पहुंचा तो दोनों के बीच विवाद होने लगा। विवाद के दौरान पिता ने थप्पड़ मारते हुए चाकू से उस पर हमला कर दिया था। जिसके बाद वह पिता से चाकू छीनकर उनकी चाकू से गोदकर कर हत्या कर वहां से फरार हो गया था। जिसके बाद सर्विसलांस टीम की मदद से आरोपी युवक को गिरफ्तार किया गया हैं और उसे जेल भेजा जा रहा हैं।

यह खबर भी पढ़े: अभिनेत्री कौशानी मुखर्जी ने तृणमूल कांग्रेस का थामा दामन, "जय श्रीराम" के नारे पर जताई आपत्ति

From around the web