कातिल पत्नी की बेरहम कहानी: पत्नी के प्रेमी को पुलिस पहले ही भेज चुकी है जेल, बांदा में मिला था पति का शव

 


कानपुर। घाटमपुर में प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या करने वाली कातिल पत्नी की बेरहम कहानी का क्राइम ब्रांच ने पर्दाफाश कर दिया। क्राइम ब्रांच की टीम ने बांदा में शव फेकने वाले दूसरे अभियुक्त के साथ पत्नी को गिरफ्तार कर लिया। थाना पुलिस पत्नी के प्रेमी को पहले ही हत्या के आरोप में जेल भेज चुकी है। घाटमपुर कस्बे में रहने वाले रवि मोहन की हत्या पांच अक्टूबर को हो गयी थी और उसका शव बांदा जनपद के बबेरु क्षेत्र में मिला था। इधर पत्नी रेनू ने पुलिस को सूचना दी थी कि मेरे पति का किसी ने अपहरण कर लिया है। उसने अपने शातिर अंदाज में घटना को छिपाने के लिए अपने हाथ में चीरा लगाकर सुसाइड का नाटक करके दिखाया था कि मैं पति के वियोग में सुसाइड करने जा रही हूं। हालांकि थाना पुलिस ने फतेहपुर जनपद के खखरेरु थाना निवासी पत्नी रेनू के प्रेमी महेन्द्र कुमार उर्फ मोनू को रवि मोहन की हत्या करने के आरोप में घटना के दो माह बाद जेल भेज दिया था। घटना का पूरी तरह से खुलासा करने के लिए मामले को क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया। 

रविवार को एसपी क्राइम सुरेन्द्र प्रताप सिंह ने घटना का पर्दाफाश करते हुए बताया कि जांच में सामने आया कि रेनू और मोनू का प्यार लॉक डाउन में शुरु हुआ था। उस समय मोनू अपना काम छोड़कर घर में रहने आया था वह उसका भतीजा लगता था, लेकिन इस शातिर महिला ने पहले उससे नाजायज तालुकात बनाएं फिर उसके साथ मिलकर पति को ठिकाने लगा दिया। बताया कि पांच अक्टूबर को रवी की बहस मोनू से हो गयी तो मोनू ने रवी के सिर पर डंडा मारकर घायल कर दिया। इसके बाद प्रेमी के साथ पत्नी ने पति की हत्या कर दी। मोनू ने अपने रिश्तेदार चित्रकूट निवासी चन्द्रप्रकाश उर्फ भोले जो बांदा कोतवाली के जरौली में रहता था के साथ वैन में शव को लादकर बांदा के बबेरु क्षेत्र में फेंक आये थे। पुलिस ने रेनू और भोले को जेल भेजते हुए घटना का खुलासा कर दिया।

यह खबर भी पढ़े: दो दिन के दौरे पर लखनऊ पहुंचे जदयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी

From around the web