स्वामित्व योजना भारत व प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल, कार्यो को समय से पूर्ण करें : दीपक त्रिवेद्वी

 


झांसी। बुधवार को राजस्व परिषद के अध्यक्ष दीपक त्रिवेद्वी ने वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से पंचायतीराज मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा राजस्व विभाग उ.प्र. की देखरेख में संचालित नवीनतम ड्रोन प्रोद्यौगिकी के उपयोग से ग्रामीण आबादी वाले क्षेत्रों का सर्वेक्षण एवं अभिलेखीकरण की समीक्षा की। कहा कि स्वामित्व योजना भारत व प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल है। इसके तहत किये जाने वाले कार्यो को संवेदनशील होकर किया जाये ताकि कार्य त्रुटिरहित हो और समय से पूर्ण किया जा सके।

अध्यक्ष राजस्व परिषद ने कहा कि जहां-जहां मैप-1 प्राप्त हो गये हैं, वहां सभी कार्यवाही पूर्ण करते हुये उक्त मैप भारत सरकार को वापस भेजा जाना है, सभी जिलाधिकारी इसे सुनिश्चित कर लें। उन्होंने कहा कि सभी जिलों को लक्ष्य आवंटित किया जा चुका है, सभी जिले लक्ष्यपूर्ति हेतु कार्य गम्भीरता से पूर्ण करें ताकि 25 दिसम्बर को जिलों में घरौनियां वितरण का कार्य किया जा सके। उन्होंने कहा कि ऐसे जिलें जहां अभी तक ड्रोन टीम नहीं पहुंची है वहां नोटीफाइड गांवों की चूना मार्किंग कर लें साथ ही फार्म-5 भर कर तैयार कर लें ताकि ड्रोन उपलब्ध होते ही सर्वे कार्य प्रारम्भ किया जा सके।

उन्होने वीसी के माध्यम से बताया कि स्वामित्व योजना की पीएमओ के माध्यम से लगातार माॅनीटरिंग की जा रही है। 10 दिसम्बर तक प्रदेश को 61 ड्रोन प्राप्त हो रहे हैं, जिनके माध्यम से सर्वे में तेजी आयेगी। उन्होंने कहा कि एक टीम एक दिन में 5 गांवों को कवर करती है। ज्यादा से ज्यादा गांवों में चूना मार्किंग करा लें और फार्म-5 भर लें ताकि कार्य गति से पूर्ण हो सके और काम भी सहज होगा।

वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने जनपद में स्वामित्व योजना के अन्तर्गत किये गये कार्यो की जानकारी देते हुये कहा कि 267 गांव का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। जिसके सापेक्ष अभी तक 11 मैप-1 पायलट प्रोजेक्ट के तहत तथा 66 मैप-1 18 नवम्बर को प्राप्त हुये है, जिनका सर्वे कार्य जल्द पूर्ण करा लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि यदि जनपद में गांवों के सापेक्ष जल्द मैप-1प्राप्त हो तो त्वरित गति से कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा और जनपद में अधिक से अधिक संख्या में घरौनी वितरण की जा सकेगी। इस मौके पर अपर आयुक्त आरपी मिश्रा, अपर जिलाधिकारी बी प्रसाद, राजस्व निरीक्षक धनेन्द्र तिवारी सहित अन्य उपस्थित रहे।

यह खबर भी पढ़े: पद के लालची नहीं थे अहमद पटेल : राज ठाकरे

From around the web