हनीट्रैप में फंसाकर मेडिकल छात्र का किया था अपहरण, डॉक्टर समेत तीन गिरफ्तार

 


नोएडा/लखनऊ। यूपी एसटीएफ ने शुक्रवार को जनपद गोंडा में एक मेडिकल छात्र का कॉलेज के छात्रावास से अपहरण कर 70 लाख रुपये की फिरौती मांगने वाले तीन बदमाशों धर दबोचा। फिरौती की रकम के लिए बदमाशों ने छात्र के परिजनों को 22 जनवरी तक का समय दिया था। 

एसटीएफ के अपर पुलिस अधीक्षक राजकुमार मिश्रा ने शुक्रवार सुबह ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर स्थित ऑफिस पर प्रेस वार्ता कर बताया कि जनपद गोंडा के कोतवाली नगर क्षेत्र के हारीपुर स्थित एससीपीएम पैरामेडिकल कॉलेज में बहराइच जिले का रहने वाला छात्र गौरव हलदर बीएएमएस की पढ़ाई कर रहा है। 

बीते सोमवार को छात्र का छात्रावास से अपहरण कर लिया गया था। उसी दिन अपहरणकर्ताओं ने छात्र के पिता निखिल को फोन कर 70 लाख की फिरौती मांगी थी। पैसा देने का अंतिम समय 22 जनवरी रखा था। वहीं, इस मामले की जांच के लिए एसटीएफ टीम को लगाया गया और देर रात को ही नोएडा से डॉक्टर अभिषेक नितेश और मोहित को गिरफ्तार किया गया है। इनके कब्जे से छात्र को सकुशल बरामद कर लिया गया है। 

बदमाशों ने छात्र को दिल्ली एनसीआर के कई अलग-अलग ठिकानों पर छिपा कर रखा था। छात्र को महिला ने हनी ट्रैप में फंसाकर मिलने के लिए बुलाया और उसका अपहरण कर लिया गया है। डॉक्टर ने महिला के साथ मिलकर मेडिकल छात्र के अपहरण की साजिश रची थी।  पहले डॉक्टर अभिषेक और उसके साथियों ने नशे का इंजेक्शन देकर गोंडा से दिल्ली ले आये थे। 

एएसपी ने बताया कि जांच में पता चला था कि जिस दिन छात्र का अपहरण हुआ था उस वह कॉलेज से अपने साथियों को यह बताकर निकला था कि वह थोड़ी देर में वापस आ जायेगा। छात्र के छात्रावास से बाहर निकलने की एंट्री रजिस्टर में नहीं मिली है। इससे अपहरण के की आशंका करीबी होने पर जताई गई थी जो बिल्कुल सही निकली है। 

यह खबर भी पढ़े: अब 5 फरवरी को होगी लालू के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले की सुनवाई, कोर्ट ने एसओपी पर गृह विभाग से मांगा जवाब

 

From around the web