डीजीपी ने अधिकारियों को दिए निर्देश, प्रदर्शन की आड़ में कोई बड़ी घटना न होने पाए

 
डीजीपी ने अधिकारियों को दिए निर्देश, प्रदर्शन की आड़ में कोई बड़ी घटना न होने पाए


लखनऊ। राज्य की खुफिया विभाग ने प्रदेश में आठ दिसम्बर को होने वाले देशव्यापी किसान आंदोलन में हिंसा होने की आंशका व्यक्त की है। इसके बाद पुलिस महानिदेशक हितेश चन्द्र अवस्थी ने पश्चिमी यूपी के पुलिस अधिकारियों को सतर्क रहने के निर्देश देते हो कहा है कि किसान आंदोलन की आड़ में हिंसा की बड़ी घटना न होने पाए। 

नये कृषि विधयेक को लेकर आंदोलरत किसानों ने दिल्ली-यूपी मार्ग पर जाम कर दिया है। पश्चिम प्रदेश के जिला गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, मथुरा, मेरठ आदि से किसान पिछले कुछ दिनों से आंदोलन में हिस्सा लेने के लिए दिल्ली की ओर कूच कर रहे हैं। उनको रोकने के लिए भारी पुलिस बल को लगाया गया है। वहीं, आठ दिसम्बर देशव्यापी आंदोलन को लेकर खुफिया विभाग ने हिंसा की आशंका को लेकर पुलिस अधिकारियों को सतर्कता बरते जाने की सलाह दी है।

इसके बाद डीजीपी ने एनसीआर क्षेत्र और पश्चिमी यूपी के जिलों में पुलिस बल के साथ पीएसी को तैनात करने के निर्देश दिए हैं। जोन व रेंज स्तर के पुलिस अधिकारियों के अलावा पुलिस कप्तानों को सतर्क रहने के अलावा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रखने को कहा है।

अपर पुलिस महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि रेलवे स्टेशन और बस अड्डे पर भी चौकसी बरतने के निर्देश दिए हैं। किसी भी हालत में प्रदेश की कानून व्यवस्था को बिगड़ने न दिया जाये।

यह खबर भी पढ़े: ओवैसी का दावा: कहां है भाजपा स्टॉर्म? हैदराबाद में जहां-जहां गए शाह-योगी, वहां हारी पार्टी

यह खबर भी पढ़े: Bigg Boss 14: राहुल, रुबीना, जैस्मिन और निक्की में से ये कंटेस्टेंट हुआ घर से बेघर, नाम जानकर आपको भी लगेगा झटका

From around the web