अयोध्या को देश की सांस्कृतिक राजधानी बनाना है : गोविंद देव गिरी

 


हैदराबाद। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष और गीता परिवार के संस्थापक गोविंद देव गिरी महाराज ने कहा कि श्रीराम मंदिर निर्माण के साथ अयोध्या को देश की सांस्कृतिक राजधानी बनाया जायेगा।

गोविंद देव श्रीराम मंदिर निर्माण के अभियान के तहत हैदराबाद प्रवास पर हैं। वे आज विश्व हिंदू परिषद द्वारा आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। गोविंद देव ने एक सवाल के जवाब में कहा कि अब तक करीब 100 करोड़ रुपये जमा हो चुका है और अभी अभियान से संग्रहित निधियों को नहीं जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि श्री राम जन्मभूमि निर्माण के समर्पण अभियान पूरी पारदर्शिता के साथ चलाया जा रहा है। इसमें किसी प्रकार का संदेह नहीं किया जा सकता। 

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि श्री राम जन्म भूमि ट्रस्ट पर राम मंदिर निर्माण के लिए देशभर से निधियां संग्रहित करने के दौरान भारतीय जनता पार्टी प्रचार करने का आरोप कुछ विपक्षी दल लगा रहे हैं। यह आरोप निराधार हैं। श्रीराम मंदिर के नाम पर निधियां संग्रह करने के लिए किसी राजनीतिक दल का प्रचार करने का कोई प्रयास नहीं हो रहा है।  उन्होंने कहा कि यह श्रीराम का कार्य है, इसमें हर कोई भागीदारी निभा सकता है। 
गोविंद गिरी ने मंदिर निर्माण के पूरे खर्च के बारे में बताया कि परकोटे के भीतर के निर्माण पर करीब 300 से 400 करोड़ रुपये खर्च होने की अनुमान लगाया गया हैं, वहीं पूरी 108 एकड़ भूमि पर होने वाले कार्यों पर लगभग 1100 करोड़ से अधिक खर्च आने की संभावना है। गोविंद देव गिरी ने कहा है कि अभी निर्माण का सही आकलन नहीं किया गया है और ऐतिहासिक मंदिर को पूरा बनने में तीन से साढ़े तीन साल लगेगा। 

गोविंद देव गिरी ने बताया कि निधि संग्रहित करने के लिए तेलंगाना राज्य के लिए कोई लक्ष्य निर्धारित नहीं किया गया है। क्योंकि भाग्यनगर में भाग्यलक्ष्मी माता विराजमान हैं और यहां से जितनी अधिक सेवा दी जा सकेगी, उसे लेने के लिए ट्रस्ट तैयार है। देव गिरी ने कहा कि उनका लक्ष्य केवल श्रीराम के मंदिर का निर्माण करना नहीं है, बल्कि अयोध्या को देश की सांस्कृतिक राजधानी बनाना भी है। अयोध्या में निर्माण होने जा रहा मंदिर किसी संकीर्ण मानसिकता का नहीं बल्कि मानवता का मंदिर होगा क्योंकि विश्व धर्म का दूसरा नाम हिंदुत्व है। उन्होंने कहा कि समाज के अंतिम व्यक्ति से भी श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए सेवा ली जाएगी। समाज के हर वर्ग का दस, सौ और हजार रुपये के कूपन के माध्यम से निधि एकत्र कर उन्हें मंदिर निर्माण से जोड़ा जाएगा।

तेलंगाना में 20 जनवरी से शुरू होगा निधि संग्रह अभियान 
विश्व हिंदू परिषद ने एक बयान में कहा कि श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए समर्पण अभियान तेलंगाना में आगामी 20 जनवरी से 10 फरवरी तक राज्य के तीन को परिवारों से संपर्क किया जाएगा। इस अभियान में करीब 55 हजार कार्यकर्ता भागीदारी करेंगे। उन्होंने कहा कि निजी समर्पण अभियान का लक्ष्य समस्त हिंदू समाज को एकजुट करना है। तेलंगाना विश्व हिंदू परिषद के महासचिव भंडारी रमेश ने कहा कि अभियान पूरी पारदर्शिता से चलाया जा रहा है। सारा कार्य बैंक के माध्यम से होगा।

यह खबर भी पढ़े: क्या हफ्ते भर पहले ही राष्ट्रपति पद खो देंगे डोनाल्ड ट्रंप? महाभियोग प्रस्ताव पर कल होगी वोटिंग

From around the web