आईएसएल-7 : पूर्व चैम्पियन चेन्नइयन के खिलाफ वापसी करना चाहेगी एटीकेएमबी

 


गोवा। मौजूदा चैम्पियन एटीके मोहन बागान हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के सातवें सीजन में पिछले दो मैचों से पांच अंक गंवा चुकी है। कोलकाता जाएंटस की टीम को मुंबई सिटी एफसी से हार का सामना करना पड़ा है जबकि एफसी गोवा के खिलाफ उन्हें ड्रॉ खेलना पड़ा था। एटीकेएमबी अब अपने अगले मुकाबले की तैयारी कर रही है, जहां गुरुवार रात उसे फातोर्दा के जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम में चेन्नइयन एफसी से भिड़ना है। 

परिणाम अपने खिलाफ आने के बावजूद एटीकेएमबी के कोच एंटोनियो हबास का दावा है कि उनके ऊपर कोई दबाव नहीं है।

हबास ने कहा, ‘‘कोई दबाव नहीं है। प्रतियोगिता में कभी आपका अच्छा समय होता है तो कभी बुरा। हमने अपने पिछले दो मैच टॉप दो टीमों के खिलाफ खेले हैं। गोवा और मुंबई सिटी में खिताब जीतने की क्षमता है। हम तालिका में टॉप पर हैं, लेकिन हमें सुधार करने की जरूरत है।’’ 

हबास की टीम ने इस सीजन में दूसरा सबसे कम 81 मौके बनाए हैं और टीम ने केवल 35 शॉट ही टारगेट पर लिया है। इसके अलावा मौजूदा चैम्पियन ने अब तक केवल 11 गोल हीं किए है, जोकि संयुक्त रूप से सबसे कम है।

कोच ने अपने डिफेंडरों का बचाव करते हुए कहा, ‘‘ हमें डिफेंस और अटैक में सही संतुलन बनाने की जरूरत है। मैं इस चीज को प्राथमिकता नहीं दूंगा कि हम गोल करें और 25 गोल खाएं। यह मेरे लिए सही नहीं है।’’

एटीके मोहन बागान मुख्य खिलाड़ी रॉय कृष्णा ने सीजन के अपने पहले छह मैचों में पांच गोल किए थे, लेकिन पिछले पांच मैचों में उन्होंने केवल एक ही गोल किया है। हबास ने इस पर कहा, ‘‘ ऐसी स्थिति होगी। मुझे इसमें कोई समस्या नहीं लगता है। यह फुटबॉल है। हमें अपना काम जारी रखना होगा। हर मैच में तीन अंक हासिल करना हमारा लक्ष्य है। उसके बाद हम प्लेआॅफ के बारे में सोच सकते हैं।’’ दोनों टीमें पिछली बार एक दूसरे से भिड़ी थी तो उन्हें गोलरहित ड्रॉ खेलकर अंक बांटना पड़ा था। 

चेन्नइयन की टीम अभी भी प्लेआफ में नजरें लगाए हुई है। चेन्नइयन ने इस सीजन में सबसे ज्यादा क्लीन शीट बरकरार रखा है। हालांकि टीम अभी भी अपने खिलाड़ियों के चोट से परेशान है। राफेल क्रिवेलारो भी उनमें से एक है।

चेन्नइयन के कोच कसाबा लाजलो ने कहा, ‘‘मैं अपनी टीम को जानता हूं और मैं टीम की वास्तविक स्थिति को जानता हूं। हमने अपने कप्तान राफेल क्रिवेलारो को खोया है। राफेल टीम के एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी थे और उन्हें पिछले सीजन में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक चुना गया था। हम चोटों से लड़ रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हम किसी तरह से किस्मत से लड़ रहे हैं। लेकिन हम शिकायत नहीं कर रहे हैं। मैं हर चीज को सकारात्मक रूप से लेता हूं। आपको टीम से सर्वश्रेष्ठ लेना होगा।’’

यह खबर भी पढ़े: कोरोना महामारी के बीच स्कूल फीस में मिली बड़ी राहत, शिक्षण शुल्क में 25 फीसदी और अन्य शुल्क में 100 फीसदी कटौती

यह खबर भी पढ़े: अमेरिका में उथल फुथल! राजगद्दी पर बैठते ही जो बाइडेन ने पलट दिए ट्रंप के ये सारे फैसले

From around the web