IPL 2020/ क्या दिल्ली कैपिटल्स पर भारी पड़ेगी मुंबई इंडियंस, जानिए क्या कहते है आंकड़े

 
IPL 2020/ क्या दिल्ली कैपिटल्स पर भारी पड़ेगी मुंबई इंडियंस, जानिए क्या कहते है आंकड़े


डेस्क। इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन के फाइनल मुकाबले में आज मुंबई इंडियंस और दिल्ली कैपिटल्स की टक्कर देखने को मिलेगी। पांचवीं बार खिताब जीतने की कोशिशों में लगी मुंबई इंडियंस की टीम को फाइनल मुकाबले से पहले बड़ी राहत मिली है। मुंबई इंडियंस के स्टार तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट पूरी तरह से फिट हैं और वह फाइनल मुकाबले में मैदान पर उतरेंगे। कप्तान रोहित शर्मा ने इस बात की घोषणा की। 

टीम इकॉनमी रेट स्ट्राइक रेट औसत
दिल्ली कैपिटल्स 8.13 21.9 29.69
मुंबई इंडियंस 7.75 20 25.83

मौजूदा आईपीएल सीजन में तेज गेंदबाजों को स्पिनरों से ज्यादा मदद मिल रही है। मुंबई इंडियंस के पेसर्स दिल्ली कैपिटल्स के पेसर्स से इकॉनमी रेट, स्ट्राइक रेट और औसत में आगे हैं, दिल्ली कैपिटल्स के लिए कगीसो रबाडा ने शानदार गेंदबाजी की है। ग्लोफैन्स की क्रिक डेटा मैट्रिक्स टीम ने मंगलवार को दुबई में खेले जाने वाले आईपीएल 2020 के फाइनल को लेकर विश्लेषण किया है, रिसर्च में पाया गया है कि आंकड़ों के लिहाज से मुंबई इंडियंस का दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ पलड़ा भारी है। मुंबई इंडियंस की तरफ ऐसा कोई बल्लेबाज नहीं है, जो मौजूदा सीजन में दिल्ली कैपिटल्स के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन के आंकड़ों को चुनौती दे रहा हो, जबकि मुंबई इंडियंस का मिडिल ऑर्डर दिल्ली के मुकाबले काफी मजबूत नजर आ रहा है।

दमदार टॉप ऑर्डर-
मुंबई इंडियंस बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही विभाग में इस सीजन पूरी तरह से बैलेंस नजर आ रही है। मुंबई के टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों ने आईपीएल 2020 में लाजवाब प्रदर्शन किया है। क्विंटन डिकॉक और सूर्यकुमार यादव के बल्ले से लगातार रन निकले है। सूर्यकुमार ने मुंबई को आईपीएल 2020 में कई मैचों में मुश्किल हालातों से निकालकर जीत दिलाई है। डिकॉक ने अबतक खेले 15 मैचों में 483 रन बनाए हैं, जबकि सूर्यकुमार इतने ही मैचों में 461 रन बना चुके हैं। और अगर ऐसे में पिछले मैचों में खामोश रहा कप्तान रोहित शर्मा का बल्ला चला पड़ा, तो दिल्ली के गेंदबाजों की फाइनल में खैर नहीं है।

सूर्यकुमार यादव और ईशान किशन की फॉर्म-
सूर्यकुमार यादव और ईशान किशन ने मुंबई इंडियंस के लिए आईपीएल 2020 में कई यादगार पारियां खेली हैं। दोनों ही बल्लेबाज इस सीजन 400 से ऊपर रन बना चुके हैं और खास बात यह है कि दबाव की स्थिती में रनगति को कैसे संभालना है यह दोनों ही बल्लेबाज बखूबी जानते हैं। मैच को चलाने और आखिरी के ओवरों में बड़े शॉट्स लगाने की काबिलियत के चलते यह दोनों ही बल्लेबाज फाइनल मैच में अहम रोल अदा कर सकते हैं।

हार्दिक पांड्या और पोलार्ड का तूफान-
मुंबई के टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों ने जहां टीम को इस सीजन अच्छी शुरुआत दी है, तो आखिरी के ओवरों में हार्दिक पांड्या और पोलार्ड ने तूफानी अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए टीम को बड़े टोटल तक पहुंचाया है। पहले क्वॉलिफायर मैच में भी वो हार्दिक की थे, जिन्होंने दिल्ली से डेथ ओेवरों में मैच छीन लिया था। हार्दिक ने उस मैच में 14 गेंदों में 27 रन की आतिशी पारी खेली थी और इस सीजन उनका स्ट्राइक रेट 182.89 का रहा है, जो बताने के लिए काफी है कि वो फाइनल मैच में कितनी बड़ी भूमिका अदा करने वाले हैं।

बुमराह की धारदार गेंदबाजी-
मुंबई के बल्लेबाज अगर स्कोर बोर्ड पर रन लगाते हैं, तो टीम के गेंदबाज सामने वाली टीमों के बल्लेबाजों के चेस मुश्किल करने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं। जसप्रीत बुमराह मुंबई की तरफ वो गेंदबाज हैं, जो फाइनल में अकेले दम पर दिल्ली की बल्लेबाजी को तहस-नहस कर सकते हैं। पहले क्वॉलिफायर में बुमराह ने दिल्ली के खिलाफ चार ओवर में सिर्फ 14 रन देकर 4 विकेट अपने नाम भी की थी, जबकि पिछले 3 मैचों में वो 10 विकेट अपने नाम कर चुके हैं।

हालांकि शिखर धवन ने इस सीजन में अभी तक 600 से ज्यादा रन बनाए हैं, इधर, मुंबई इंडियंस के किसी भी बल्लेबाज ने 500 का आंकड़ा नहीं छुआ है, लेकिन उनके टॉप तीन बल्लेबाज मिलाकर दिल्ली कैपिटल्स के टॉप तीन पर भारी पड़ रहे हैं। 

यह खबर भी पढ़े: Bihar Elections Result/ क्या अपने पिता रामविलास पासवान का इतिहास दोहराएंगे चिराग, 2005 में हुआ था कुछ ऐसा

यह खबर भी पढ़े: अमेरिकी मीडिया का दावा, चुनावों में हार के बाद ट्रंप को निजी जीवन में भी लग सकता है बड़ा झटका

 

From around the web